बालों को डाई करना कितना सुरक्षित है

Subscribe to Boldsky

बालों का सफेद होना उम्र बढ़ने का पहला संकेत है और यह हम सब के लिए एक बुरे सपने की तरह ही है। कुछ लोगों के लिए बालों के सफेद होने से उनकी असली उम्र का कोई नाता नहीं होता।

कुछ भी हो आप प्राकृतिक रूप से काले बालों को ही सराहेंगे और पसंद करेंगे। इसके लिए बालों का रंगना ही सबसे सही तरीका है।

पर बालों को हर वक़्त रंगना कितना सुरक्षित है? शोध से पता चलता है कि बालों को ज़्यादा रंगने से कैंसर जैसी खतरनाक बिमारी भी हो सकती है।

इन सबके बाद एक सवाल मन में उठता है कि आखिर बालों को रंगना कितना सही है। डाई का स्वास्थ्य पर प्रभाव इसके किस्म और इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप इसे कितना इस्तमाल कर रहे हैं।

कई तरह के डाई होते हैं जैसे टेम्पररी, परमानेंट और सेमी-परमानेंट डाई। इसकी क्रियाशीलता इस बात पर निर्भर करती है कि यह बालों में कितना प्रवेश करता है। बाजार में कई ऐसे उत्पाद मौजूद हैं जिनमें खतरनाक केमिकल होते हैं और जिनसे आपकी सुंदरता पर बुरा असर पड़ता है।

हालांकि, कई घरेलु उपचार भी हैं जिससे आप बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के अच्छा असर देख सकते हैं। यहाँ पर हम बात करेंगे कुछ ऐसे प्रभावों की जो लगातार नीचे स्तर का डाई इस्तमाल करने पर आपके बालों पर पड़ सकते हैं।

बालों का रंग उड़ जाना

क्या बालों को रंगने से आपके बालों का रंग उड़ सकता है? जवाब है 'हाँ'। लगातार कई समय से डाई का इस्तमाल करने से बालों का रंग उड़ सकता है और इसका रंग फीका पड़ सकता है। ब्लीचिंग एजेंट के इस्तमाल से बाल भूरे या पीली पड़ सकते हैं।

कील मुहांसों का आना

डाई के ज़्यादा इस्तमाल से कई बार अचानक कील मुंहासे आ सकते हैं। डाई में रेसोर्सिनोल होता है जो एंडोक्राइन सिस्टम को सुचारू रूप से चलने नहीं देता जिससे हार्मोनल गड़बड़ी हो जाती है। इसे कील मुहांसों से लेकर कैंसर जैसी खतरनाक बिमारी भी हो सकती है। अब सोचिये, क्या बालों को डाई करना सुरक्षित है?

खुजलाहट

डैंड्रफ से खुजली होना लाजमी है। पर एलर्जी और सर में खुजलाहट की दूसरी वजह डाई भी हो सकता है। इससे जलन, लाली, पपड़ीदार चमड़ी और चमड़े में खुजली भी हो सकती है।

त्वचा पर पिगमेंटेशन

जो लोग अक्सर डाई करते हैं वह माथे की त्वचा और सर की खाल पर पिगमेंटेशन की शिकायत करते हैं। इसका मुख्य कारण डाई में मौजूद केमिकल होते हैं। इसलिए घटिया डाई का इस्तमाल न करें जो आपके रूप को बिगाड़ सकता है।

बालों का टूटना

इतना समझिए कि अपने बालों पर केमिकल का इस्तमाल करने से आपके बाल टूटने लगेंगे। यह इसलिए होता है क्यूंकि केमिकल की वजह से बालों की नमी कम हो जाती है। अगर आप यह सोच रहे हैं कि बालों को डाई करना सुरक्षित है या नहीं तो यह ज़रूर जान लें।

रूखे बाल

अगर आपको लगता है कि आप अपने बालों को संभाल नहीं पा रहे हैं तो इसकी वजह हो सकती है बालों का अधिक रूखा होना। यह बालों को स्थिर बना देता है और बाल ज़्यादा टूटते भी हैं। यह सबसे बड़ा कारण है कि ब्यूटी एक्सपर्ट डाई के ज़्यादा इस्तमाल की सलाह नहीं देते।

Please Wait while comments are loading...