फिट और स्‍वस्‍थ रहना है तो जरुर खाएं तिल और शहद

Subscribe to Boldsky

शहद को सुपर फ़ूड और औषधीय कारक माना जाता है जो स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं को दूर करने में सहायक होता है। यह सुनहरा तरल पदार्थ कई विटामिन और मिनरल (खनिज पदार्थ) का खजाना भी है।

Paytm Christmas Offers: Get 80% off on Fashion, clothing and Watches Hurry!

शहद गले के संक्रमण के उपचार में सहायक है, यह वज़न कम करने में भी सहायक है तथा इसके अलावा डायबिटीज (मधुमेह) के रोगी भी इसका उपयोग करते हैं क्योंकि मिठास के लिए उपयोग में लाई जाने वाली चीनी या अन्य पदार्थों की तुलना में यह अधिक सुरक्षित है।

जब शहद और तिल को आपस में मिलाया जाता है तो इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभ बहुत बढ़ जाते है। तिल स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद होते हैं क्योंकि वे शरीर में कोलेस्ट्राल को नियंत्रित और कम करते हैं।

ये ब्लडप्रेशर को नियंत्रित करने और कम करने में सहायक हैं। परन्तु जब शहद और तिल को एक साथ मिलाया जाता है तो वे स्वास्थ्य संबंधी 10 समस्याओं को कम करने, रोकने या उनसे छुटकारा पाने में सहायक होते हैं।

READ: तिल के बेमिसाल फायदे

ये दोनों पदार्थ शरीर को कई प्रकार के पोषक तत्व प्रदान करते हैं। इन्हें आपस में मिलाने पर ये बहुत अधिक ऊर्जा प्रदान करते हैं जिससे आप दैनिक गतिविधियों को बिना थके कर सकते हैं।

विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि आपको अपने प्रतिदिन के आहार में शहद और तिल को अवश्य शामिल करना चाहिए। यह आपको फिट और स्वस्थ रखते हैं। आइए तिल और शहद से होने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानें। आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे!

प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए उत्तम

शहद और तिल का मिश्रण प्रतिरक्षा तंत्र के लिए लाभदायक होता है। शहद में उपस्थित गुण प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होते हैं। तिल के बीज शरीर में हानिकारक बैक्टीरिया और वायरस की वृद्धि को रोकते हैं

मीठा खाने वालों के लिये

ऐसे लोग जिन्हें मीठा खाना पसंद होता है, उनके लिए शहद एक अच्छा विकल्प है। ऐसे पदार्थ खाएं जिनमें शहद प्रचुर मात्रा में हो क्योंकि यह न सिर्फ वज़न को नियंत्रित करता है बल्कि यह मुंह के स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है।

दर्द को दूर करने में सहायक

तिल और शहद को साथ में खाने से पेट दर्द से आराम मिलता है। मासिक धर्म के दौरान होने वाले पेट दर्द को कम करने में यह बहुत प्रभावकारी होता है। तिल में आयरन (लौह तत्व) प्रचुर मात्रा में होता है जो माहवारी को नियमित करने में सहायक है।

पेट की बीमारियों के उपचार में सहायक

शहद और तिल को साथ में खाने से पेट से संबंधित बीमारियों का उपचार किया जा सकता है। शहद में एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं जो पेट की परत की रक्षा करते हैं तथा तिल पेट के अल्सर को दूर करने में सहायक होता है।

हड्डियों को मज़बूत बनाने में सहायक

इन दोनों ही घटकों में समान मात्रा में कैल्शियम होता है जो हड्डियों को मज़बूत बनाता है। इसे नियमित तौर पर खाने से आपकी हड्डियां उम्र के साथ कमज़ोर नहीं होती।

ब्रेन के लिए लाभदायक

कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो ब्रेन के लिए लाभकारी होते हैं। शहद भी उनमें से एक है। शहद और तिल ब्रेन को उर्जा प्रदान करते हैं तथा प्रेरक पेशी के विकास में भी सुधार लाते हैं। बच्चों को रोज़ एक चम्मच शहद का सेवन करना चाहिए।

आपको उर्जा प्रदान करते हैं

तिल और शहद में ऊर्जा प्रचुर मात्रा में होती है। अत: जब इन दो घटकों को आपस में मिलाया जाता है तो शरीर को प्रचुर मात्रा में उर्जा प्राप्त होती है जो आपको दैनिक गतिविधियों को करने में सहायक होते हैं।

 

कोलेस्ट्राल को कम करने में सहायक

तिल से होने वाला एक सबसे बड़ा स्वास्थ्य लाभ यह है कि यह शरीर में कोलेस्ट्राल को कम करते हैं। इन बीजों को सलाद या डिज़र्ट पर छिड़का जा सकता है या इसे कच्चा भी खाया जा सकता है।

 

मधुमेह के रोगियों के लिए

टाइप 2 के डायबिटीज को रोकने के लिए आपको अपने आहार में तिल अवश्य शामिल करना चाहिए, विशेष रूप से यदि आपके परिवार में कोई इससे ग्रसित है तो। दूसरी ओर डायबिटीज़ के रोगी शक्कर के स्थान पर शहद का उपयोग कर सकते हैं।

किडनी के लिए उत्तम आहार

शहद और तिल किडनी की देखभाल में सहायक होते हैं। इन दो घटकों के नियमित सेवन से किडनी में पथरी होने से रोका जा सकता है।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

Story first published: Wednesday, December 16, 2015, 10:05 [IST]
English summary

जानें तिल और शहद खाना क्‍यूं है स्‍वास्‍थ्‍य के लिये लाभकारी

Both of these healthy ingredients provide the body with ample of nutrients. Together they also contribute high levels of energy which enable one to perform day to day activities without feeling tired.
Please Wait while comments are loading...