कैसे पहचाने खाद्य पदार्थ में मिलावटी समान है या नहीं?

Posted By:
Subscribe to Boldsky

आज कल दुकानदार बिना महनत के और ज्‍यादा से ज्‍यादा पैसा कमाने के चक्‍कर में ग्राहकों को मिलावटी सामान बेचने पर उतारू हो गया है। दूध, चाय, चीनी, दाल, अनाज, हल्‍दी, सेब, आटा, तेल और ऐसी ही तमाम तरह की जरुरी घरों की सामग्रियों में मिलावटी चीज़ें देखने को मिलती हैं। यानी कहने का मतलब है कि पूरे पैसे में भी हमें शुद्ध खाने का सामान प्राप्‍त नहीं हो सकता।

READ: सेहत बनाने की जगह सेहत बिगाड़ सकते हैं ये चमकने वाले फल

ये मिलावट इतनी बारीकी से की जाती है कि असली खाद्य पदार्थ तथा मिलावट वाले खाद्य पदार्थ में भेद करना काफी मुश्किल हो जाता है। ऐसे मिलावटी खाद्य पदार्थों के सेवन से हमारे शरीर पर बहुत ही बुरा असर पड़ता है।

READ: दांतों में ठंडा-गरम लगे तो अपनाए ये घरेलू उपचार

दोस्‍तों, अब समय आ चुका है कि आप सभी अपने स्‍वास्‍थ्‍य के साथ खिलावड़ करना बंद करें और सही तथा असली खाद्य पदार्थों की पहचान करना सीख लें।

1. मिर्च पावडर

1. मिर्च पावडर

खाने में लाल मिर्च पावडर प्रयोग किया जाता है जिसमें, ईंट का चूरा, नमक या फिर टैल्‍कम पावडर मिलाया जाता है। इसकी पचान करने के लिये मिर्च पावडर को पानी भरे एक गिलास में डालें और देखे कि पानी में लाल रंग किस तरह से सतह पर आ जाएगा। यह लाल रंग की ईंट का पावडर होता है।

2. खोआ, पनीर

2. खोआ, पनीर

इन्‍हें पानी में उबाल लें, जब यह ठंडा हो जाए तब इसमें कुछ बूंद आयोडीन का घोल डालें। अगर इनका रंग नीला पड़ जाए तो समझिये कि इनमें स्‍टार्च मिलाया गया है।

3. नारियल तेल

3. नारियल तेल

नारियल की छोटी बॉटल को फ्रिज में रखें। यदि नारियल का तेल जम जाता है और अलग से मिलावटी परत को छोड़ देता है, तो समझे कि इसमें अन्‍य कोई तेल भी मिलाया गया है।

4. शहद

4. शहद

इसमें आपको गुड़, खांड की चाशनी या फिर चीनी का घोल मिला हुआ दिख जाएगा। अगर आप इसमें राई का ए‍क छोटा सा टुकड़ा भिगो कर आग में जलाएं तो वह आराम से जल जाएगा। लेकिन अगर यह काम शुद्ध शहद के साथ किया जाए तो रूई में पटाखे जैसी जलने की आवाज आएगी।

5. धनिया पावडर

5. धनिया पावडर

इसमें आपको भूसी और लकड़ी का बुरादा मिल सकता है। इसकी गंदगी को पहचानने के लिये थेाडे़ सी धनिया पावडर को गरम पानी पर छिड़के। आप देखेंगे कि भूसी और बुरादा पानी की सतह पर तैरने लगेंगे।

6. दूध

6. दूध

यदि दूध में डिटर्जेंट मिला होगा तो ऐसे इसकी जांच करें। 10 एम एल दूध और उतना ही पानी मिक्‍स करें। अगर इसमे झाग पैदा हेाता है तो, समझे कि इसमें डिटर्जेंट मिला है। इसी तहर दूध में पानी की मिलावट की जांच के लिए चिकनी सतह पर दूध की बूंद गिराएं। अगर पानी मिला है तो वह बिना कोई निशान छोड़े तेजी से आगे बह जाएगा। शुद्ध दूध धीरे-धीरे बहेगा और सफेद धब्बा रह जाएगा।इसी तरह से सिंथेटिक दूध स्‍वाद में खराब लगता है, अगर इसे उंगलियों के बीच में रगड़ा जाए तो यह साबुन की तरह फिसलता है और यदि गरम किया जाए तो पीला हो जाता है।

7. जीरा

7. जीरा

इसमें, घांस के बीज जो चारकोल पावडर से रंग कर के मिलाया जाता है। इसे जांचने के लिये इन्‍हें अपनी हथेलियों पर रगड़ें। अगर वे काले हो जाएं तब समझ लें कि यह मिलावटी है।

 8. काली मिर्च

8. काली मिर्च

अगर काली मिर्च देखने में काफी चमकीली लगे तो, इसमें केरोसीन का तेल मिला हुआ है, जिससे इसमें चमक आ गई। साथ ही इसमें पपीते के बीज़ भी मिलाए जाते हैं।

9. दालचीनी

9. दालचीनी

दालचीनी की जगह अमरूद की छाल मिलाई जाती है। इसे हाथ पर रगड़कर देखें, अगर यह नकली होगी तो कोई कलर नहीं आएगा।

10. सेब

10. सेब

चमकदार सेब खाने से बचिये क्‍योंकि इस पर मोम की परत चढ़ा दी जाती है, जिससे इसमें चमक आ जाती है। सेब को किसी धारदार चाकू से हल्‍के हल्‍के खुरचिये और अगर उस पर से मोम निकले तो समझ जाइये कि यह मिावटी है।

11. आटा

11. आटा

इसमें रेत, चॉक पाउडर अदि मिलाया जाता है। असली आटे की पहचान आपको ऐसे होगी कि, अगर आटा गूंधने में पानी अधिक लगता हो ,रोटियां अच्छी तरह फूलती हों और स्वाद मीठा हो तो शुद्ध है।

12. चायपत्‍ती

12. चायपत्‍ती

इसमें कृत्रिम रंग , लौह चूर्ण तथा प्रयोग हो चुकी चाय की पतियों का पाउडर मिलाया जाता है। इससे आहार तंत्र और पाचनतंत्र प्रभावित होता है।

13. चीनी

13. चीनी

चीनी के साथ चाक मिलाई जाती है। एक गिलास पानी में चीनी घोलें। अगर उसमें चाक मिला होगा, तो वह गिलास की तली में बैठ जाएगा। सिल्वर और एल्यूमिनियम फॉइल - जलाने पर सिल्वर फाइल जल जाता है और सिल्वर रंग के ही कागजी चमकदार बाल के रूप में परिवर्तित हो जाता है, लेकिन एल्यूमिनियम फाइल को जलाने पर वह काले रंग की राख में परिवर्तित हो जाता है।

Story first published: Saturday, June 20, 2015, 14:54 [IST]
English summary

how to detect food adulteration at home

Food adulteration is a growing menace that unscrupulous traders and manufacture are doing to make quick and easy money. Only an aware and an informed consumer will be able to eliminate it by continuous routine monitoring. Let's know how to do that...
Please Wait while comments are loading...