योग से जुड़ी 7 आम भ्रांतियां

Subscribe to Boldsky

योग आज दुनियाभर में लोगों के जीवन का हिस्सा बन चुका है। हमें बताया गया है कि योग करना शरीर और दिमाग दोनों के लिए फायदेमंद है। यह बात वास्तव में सही है।

READ: स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक जीवन के लिए रामदेव के 8 योगासन

हर उम्र के बहुत से लोग योगा क्लासेज में जाना शुरू करते हैं और कुछ लोग किताबों या ऑनलाइन ट्यूटोरियल्स के माध्यम से घर पर भी योगाभ्यास करते हैं! व्यायाम और फिजिकल फ़िटनेस का तरीका होने के अलावा, योग एक अभ्यास है जो कि आध्यात्मिकता और मानसिक एकाग्रता प्राप्त करने में मदद करता है।

READ: मोटापा कम करने वाले योग आसन

ऐसा माना जाता है कि भारत में योग की शुरुआत पूर्व वैदिक युग के दौरान हो गई थी और जो योग के आध्यात्म गुरु थे उन्होने इसे पश्चिमी देशों में पहुंचाया। योग से शरीर को होने वाले फ़ायदों पर रोजाना एक्स्पर्ट्स कई रिसर्च कर रहे हैं।

READ: सूर्य नमस्‍कार करने के 12 फायदे

खोजकर्ताओं के अनुसार योग जुकाम से लेकर अस्थमा, मानसिक असंतुलन, कैंसर जैसी अनेक बीमारियों के इलाज में कारगर है। योग के बारे में कई मिथ्या बातें हैं जो लोगों को भ्रमित करती हैं। हम आपको इस आर्टिकल में ऐसे ही 7 मिथक बता रहे हैं। आइये देखते हैं। 

मिथक 1 : योग के लिए लचीला शरीर चाहिए

नहीं, हर किसी का शरीर पूरी तरह लचीला नहीं होता है। इसलिए, यदि आपके शरीर में ज्यादा लचीलापन नहीं है तो भी आप साधारण योगाभ्यास से शुरुआत कर सकते हैं फिर धीरे-धीरे शरीर लचीला हो जाता है।

मिथक 2 : योग केवल महिलाओं के लिए है

बहुत से लोग मानते हैं कि योग करना ज्यादा भारी नहीं है इसलिए यह महिलाओं के करने का काम है पुरुषों को तो जिम में वजन उठाना चाहिए। लेकिन, योग एक व्यायाम है जो सबके लिए है। पुरुष या महिला से इसका कोई मतलब नहीं है।

मिथक 3 : योग धार्मिक लोगों के लिए है

बहुत बार, लोग आध्यात्मिकता और धर्म के कारण योग से जुडते हैं। फिर भी, योग मानसिक शांति, अनुशासन और अच्छे स्वास्थ्य के लिए किया जाता है।

 

 

मिथक 4 : योग केवल युवा लोगों के लिए है

योग एक फिटनेस का तरीका है जिसका हर उम्र के लोग अभ्यास कर सकते हैं। आपको सिर्फ अपने स्वास्थ्य के हिसाब से योग चुनना है।

 

मिथक : योग में समय ज्यादा लगता है।

रोज सुबह 10 मिनट योगाभ्यास करके ताकत और स्थिरता प्राप्त की जा सकती है।

 

मिथक 6 : योग केवल एक ही प्रकार का होता है

योग कई तरह से होता है बस आपको अपनी फिटनेस और स्वास्थ्य के योग का तरीका चुनना है। उदाहरण के लिए, विन्यास योग में साँसों से संबन्धित व्यायाम होते है, हठ योग में धीरे और साधारण व्यायाम होते हैं, पावर योग में थोड़े कठिन व्यायाम होते हैं।

 

मिथक 7 : यदि कोई विकार या शारीरिक परेशानी है तो योग नहीं करना चाहिए

योग विकारों के इलाज का तरीका है, इसलिए आप ट्रेनर की सलाह से अपने स्वास्थ्य के अनुसार योग कर सकते हैं।

 

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

Story first published: Thursday, July 14, 2016, 10:29 [IST]
English summary

7 Common Myths About Yoga Everyone Should Know!

We have been told that practicing yoga is good for both the body and mind, which is a fact indeed..
Please Wait while comments are loading...