जानें, रामदाना यानी राजगिरा के स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक गुणों के बारे में

Subscribe to Boldsky

अक्‍सर उपवास के दौरान लोग राजगिरा, चौलाई, रामदाने के आटे से तैयार पूड़ी-पराठा या अन्‍य चीज़ें बना कर सेवन करते हैं। राजगिरा अनाज नहीं है इसलिये लोग इसे उपवास के दिनों में खाते हैं। यह स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक गुणों से भरा हुआ है और शरीर को ताकत देता है।

READ: जानिये व्रत में खाये जाने वाले साबुदाने की कहानी

अंग्रेजी भाषा में राजगिरा को ऐमरंथ ग्रेन कहते हैं। इसे आटे या फिर दाने के रूप में पकाया जाता है। यह रंग और वजन में हल्‍का होता है तथा आप इससे खीर, हलवा, कढ़ी, चिक्‍की, बर्फी या पूड़ी आदि बना सकते हैं। यह स्‍वाद में काफी अच्‍छा होता है।

READ: शरीर को ठंडा रखना है तो जरुर खाएं ज्‍वार

राजगिरा प्रोटीनयुक्‍त, विटामि सी, ई, आयरन, मैगनिश्‍यम, फॉसफोरस, पोटैशियम और एंटीऑक्‍सीडेंट से भरा है। इसे खाने से हड्डियों की बीमारी नहीं होती क्‍योंकि इसमें दूध के मुकाबले दोगुना कैल्‍शियम होता है। आइये जानते हैं इसके अन्‍य गुणों के बारे में...

भूख मिटाए

रिसर्च से पता चला है कि इसमें प्रोटीन होने की वजह से भूख दबाता है।

ग्‍लूटन फ्री

अगर आपको ग्‍लूटन एलर्जी होती है तो आप इस टेस्‍टी आहार को अपनी डाइट में शामिल करें।

विटामिन सी का भंडार

इस आहार में ढेर सारा विटामिन सी होता है।

गेहूं से ज्‍यादा बढ‍ियां


इसमें गेहूं के मुकाबले 5 गुना आयरन और 3 गुना फाइबर होता है।

माइग्रेन में भी दिलाता है राहत

राजगिरे का आटा मैग्नीशियम से भरा होता है इसलिये यह माइग्रेन से राहत दिलाता है। यह खून की धमनियों को सिकुड़ने से रोक‍ता है।

ब्‍लड कोलेस्‍ट्रॉल कम करे

इसमें असंतृप्त वसीय अम्ल और घुलनशील फाइबर होता है, जो कि ब्‍लड कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने में मददगार होता है। यह दिल के स्‍वास्‍थ्‍य के लिये भी अच्‍छा है।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

English summary

जानें, रामदाना यानी राजगिरा के स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक गुणों के बारे में

Rajgira also reduces one’s risk of osteoporosis, because it has twice the amount of calcium as milk. It is also full o f antioxidants, vitamin C, E, iron, magnesium, phosphorus and potassium, which are necessary for overall health.
Please Wait while comments are loading...