खुराक को लेकर लोगों के बीच प्रोटीन से जुड़े आम मिथक

Subscribe to Boldsky

यह बात सच है कि अपनी प्रतिदिन की खुराक में प्रोटीन युक्‍त फूड को अवश्‍य शामिल करना चाहिए। प्रोटीन के सेवन से शरीर की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है, उनका विकास होता है और उनकी रिकवरी भी हो जाती है।

प्रोटीन से आपको लम्‍बे समय तक ऊर्जा मिलती है। कई लोग मानते हैं कि प्रोटीन के सेवन मात्र से वो अपनी बॉडी को शेप में ला सकते हैं और मसल्‍स बना सकते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है।

शाकाहारी हैं तो प्रोटीन के लिये खाएं ये 12 आहार

मसल्‍स बनाने के लिए आपको कसरत आदि भी करने की आवश्‍यकता होती है। उम्र बढ़ने पर आपको रेसिस्‍टेंट एक्‍सरसाइज भी करनी पड़ती है। प्रोटीन में अमीनो एसिड होता है जिसकी वजह से वो मसल्‍स को मजबूत बनाता है और रिपेयर भी करता है।

protein-myths-that-are-messing-with-your-diet

लेकिन प्रोटीन के हर स्‍त्रोत में अमीनो एसिड नहीं होता है ऐसे में उनके सेवन करने से आपकी मसल्‍स नहीं बनेगी। एनीमल और प्‍लांट प्रोटीन में बड़ा अंतर होता है।

अंडा या चिकन आखिर किसमें होता है ज्‍यादा प्रोटीन

एनीमल प्रोटीन में अमीनो एसिड होता है लेकिन प्‍लांट प्रोटीन में नहीं होता है। इसका मतलब आपको मसल्‍स बनानी हैं तो मीट, डेयरी, अंडे आदि का सेवन करें न कि दालों का।

food

परन्‍तु कई लोग मानते हैं कि ज्‍यादा मात्रा में एनीमल प्रोटीन लेने से वो ज्‍यादा स्‍ट्रांग हो जाएंगे तो ऐसा भी नहीं है। एनीमल प्रोटीन को पचाने में भी शरीर को काफी ऊर्जा खर्च करनी पड़ती है। ऐसे में शरीर पर प्रेशर ज्‍यादा पड़ता है।

protein bar

कई लोगों का ऐसा कहना है कि प्रोटीन शेक को पीने के बाद ज्‍यादा वर्कआउट करना चाहिए। ऐसा जरूरी नहीं है। प्रोटीन शेक के बाद आप जितना वर्कआउट करते हैं उतना ही करें।

बहुत सारे लोग कहते हैं कि प्रोटीन का सेवन आपको मोटा नहीं करता है। यह गलत है, प्रोटीन का सेवन शरीर में फैट बढ़ा सकता है अगर एक हद से ज्‍यादा इसे खाया जाएं।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

English summary

protein-myths-that-are-messing-with-your-diet

Take a look at the protein myths that you should not follow. These are some of the common protein myths that are generally followed.
Please Wait while comments are loading...