कच्‍ची हल्‍दी: दिलाए राहत गले की खराश, सर्दी-जुखाम और अपच से

अगर आप कच्‍ची हल्‍दी को नियमित अपने आहार में शामिल करेंगे तो आपको सर्दी-जुखाम, गले की खराब और अपच जैसी बीमारियों से हमेशा के लिये छुटकारा मिल सकता है।

Subscribe to Boldsky

हल्‍दी पावडर की जगह कच्‍ची हल्‍दी का प्रयोग करना काफी फायदेमंद हो सकता है। अगर आप कच्‍ची हल्‍दी को नियमित अपने आहार में शामिल करेंगे तो आपको, गले की खराब और अपच जैसी बीमारियों से हमेशा के लिये छुटकारा मिल सकता है।

READ: सर्दी-जुखाम से राहत पाने के घरेलू नुस्खे

कच्‍ची हल्‍दी देखने में बिल्‍कुल अदरक की तरह होती है। हल्दी में सूजन को रोकने का खास गुण होता है इसलिये यह गठिया रोगियों को जोंडो के दर्द से काफी आराम पहुंचाती है। आइये जानते हैं कच्‍ची हल्‍दी का कैसे प्रयोग करना चाहिये।

milk

सर्दी-खांसी और जुखाम: रात को सोने से पहले अगर आप हल्‍दी वाला दूध पियेंगे तो, ना सिर्फ अच्‍छी नींद आएगी बल्‍कि आपकी सर्दी भी दूर भाग जाएगी। इस दूध में गुड या शक्‍कर मिक्‍स कर सकते हैं।

हल्‍दी वाला दूध पीने का जबरदस्‍त फायदा

एक चीज जो याद रखने वाली है , वह यह है कि इसको पीने के बाद पानी नहीं पीना होता है, नहीं तो यह बेअसर हो जाएगा।

stomach

अपच: अगर कच्‍ची हल्‍दी को लहसुन और घी के साथ खाया जाए, तो पेट दर्द या फिर अपच से राहत मिलती है। कच्‍ची हल्‍दी को खाने से पहले उसे उबाल लें।   आयुर्वेद की मदद से करें अपच का उपचार

turmeric

गले की खराश: कच्‍ची हल्‍दी गले की सूजन को कम करती है। इसका सेवन करने के लिये 1 छोटा चम्‍मच कच्‍ची हल्‍दी का पेस्‍ट लें और उसमें ½ छोटा चम्‍मच लहसुन का पेस्‍ट और 1 छोटा चम्‍मच गुड मिलाएं। इस मिरण को गरम करें और खाएं। इसको दिन में दो बार लेना चाहिये। READ: गले के दर्द के लिये 5 आसान आयुर्वेदिक उपचार

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

Story first published: Monday, November 7, 2016, 16:24 [IST]
English summary

Ways to use raw turmeric for indigestion, sore throat, cough and cold

Here are some common ways to use raw turmeric as a natural remedy for indigestion, sore throat and cough and cold.
Please Wait while comments are loading...