महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण

Subscribe to Boldsky

यह बात निश्चित है कि महिलाएं पुरुषों से अलग हैं। हार्ट अटैक के लक्षणों के बारे में भी यह बात गलत नहीं है। ऐसा माना जाता है कि हार्ट अटैक केवल पुरुषों की ही समस्या है परंतु अब हम यह जानते हैं कि हार्ट अटैक किसी को भी आ सकता है। दिल का दौरा पड़ने पर क्या करें

रोज़ी ओ डोनेल को 2012 में हार्ट अटैक आया और अधिकाँश औरतों की तरह उसे भी छाती में कोई दर्द नहीं हुआ जैसा कि आमतौर पर हॉलीवुड फिल्मों में दिखाया जाता है। इसके बदले उसे हाथों और छाती में दर्द, जी मचलाना और चिपचिपी त्वचा आदि परेशानियां हुईं महिलाओं में मृत्यु का सबसे पहला कारण दिल की बीमारी है। हार्ट अटैक के लक्षणों को पहचानें और आवश्यक कदम उठायें।

1. सांस लेने में परेशानी

एक अध्ययन से पता चला है कि लगभग 42% महिलाएं जिन्हें हार्ट अटैक आया उन्हें सांस लेने में परेशानी की समस्या का सामना करना पड़ा। हालाँकि पुरुषों में भी यह लक्षण होता है परंतु महिलाओं में सीने में दर्द हुए बिना सांस लेने में परेशानी जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

2. शरीर के ऊपरी भाग में दर्द

महिलाओं में गर्दन, पीठ, दांत, जबड़ा, भुजाएं तथा कंधे की हड्डी में दर्द होना हार्ट अटैक के लक्षण हैं। इसे "रेडीएटिंग" दर्द कहा जाता है तथा यह इसलिए होता है क्योंकि दिल की कई धमनियां यहाँ समाप्त होती हैं जैसे उँगलियों के पोर जहाँ दर्द केंद्रित होता है।

3. जी मिचलाना, उलटी और पेट ख़राब होना

हार्ट अटैक के समय पुरुषों की तुलना में महिलाओं में जी मिचलाना, उलटी या अपचन जैसे लक्षण अधिक दिखाई देते हैं। यह अकसर इसलिए होता है क्योंकि दिल को रक्त पहुंचाने वाली दायीं धमनी जो दिल में गहराई तक जाती है, अवरुद्ध हो जाती है।

4. थकान और नींद की समस्या

कई महिलाएं लगभग आधी महिलाएं शिकायत करती हैं कि जब उन्हें हार्ट अटैक आया तब उन्हें अचानक थकान महसूस होने लगी जिसका कोई कारण भी नहीं था। आधी महिलाओं को नींद की समस्या का सामना भी करना पड़ा।

5. फ़्लू जैसे लक्षण

यह बात अभी स्पष्ट नहीं है परन्तु फ़्लू के लक्षण भी जीवन के लिए खतरा सिद्ध होने वाले हार्ट अटैक का लक्षण हो सकते हैं जिसमें थकान भी शामिल है।

 

 

6. पसीना आना

यदि आप रजोनिवृत्ति के दौर से नहीं गुज़र रहे हैं और फिर भी यदि आपको अचानक पसीना आने लगे तो संभल जाएँ। हो सकता है कि यह एक लक्षण हो जो आपको जल्द ही अस्पताल पहुंचा दे।

7.सीने में दर्द और दबाव

महिलाओं में हार्ट अटैक का लक्षण केवल सीने में दर्द नहीं हो सकता परन्तु निश्चित तौर पर ऐसा होता है। लक्षणों पर ध्यान देने के बजाय यदि आप को कुछ नए लक्षण महसूस हो रहे हैं और वे दूर नहीं हो रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ। डॉ. हायेस के अनुसार बाद में पछताने से अच्छा है कि सुरक्षित रहें।

8. चक्कर आना सिर घूमना

चक्कर आना या सिर घूमना हार्ट अटैक का एक अन्य लक्षण है। यह हृदय को जाने वाली एक शिरा में अवरोध होने के कारण होता है।

9.जबड़े में दर्द

यदि आपके जबड़े में दर्द है है तो इसका अर्थ है कि आपको हार्ट अटैक आया है क्योंकि इसके पास जो नसें होती हैं वे आपके हृदय से निकलती हैं। यदि दर्द बना रहे तो आपको दांतों की परेशानी है; यदि यह थोड़ी थोड़ी देर में होता है तथा जब आप थक जाते हैं और यह दर्द बढ़ जाता है तो यह दिल से संबंधित हो सकता है।

10. सीने या पीठ में असुविधा या जलन

महिलाएं अक्सर हार्टअटैक की व्याख्या कड़ेपन, भारीपन दबाव के द्वारा करती हैं। यह दर्द गंभीर या अचानक नहीं होता; यह कई सप्ताह तक आता जाता रहता है; अत: गलती से इसे अपचन या जलन समझ लिया जाता है। यदि यह दर्द खाने के तुरंत बाद नहीं होता, यदि आपको कभी अपचन की समस्या नहीं होती या यदि आप जी मिचलाने जैसी समस्या का सामना कर रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएँ।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

English summary

Heart attack symptoms in women

It's true, Women are different from men, not least of all when it comes to heart attack symptoms. Once considered almost strictly a man's problem, we now know that anyone can have a heart attack.
Please Wait while comments are loading...