मस्‍से/गांठ के लिए घरेलू उपचार

Posted By: Super
Subscribe to Boldsky

आजकल छोटे से लेकर जवान लोगों के बीच शरीर पर मस्‍से/ गांठ का निकलना एक समस्‍या बन गया है। यह शरीर में ह्यूमन पापिल्‍लोमा वायरस से बनता है जो कि नुकसानदायक नहीं होते है लेकिन ये सारे शरीर में फैल जाते है और शरीर के किसी भी अंग में निकलकर सुंदरता बिगाड़ सकते है। त्‍वचा, मुंह, गुप्‍तांग, रेक्‍टल एरिया कहीं भी ये निकल सकते है।

इन्‍हे स्‍कीन ट्यूमर के नाम से भी जाना जाता है। ये कई प्रकार के होते है जैसे- स्‍कीन ट्यूमर, फ्लैट ट्यूमर और गुपतांग ट्यूमर आदि। ये त्‍वचा पर खुरदुरे रूप में निकलते है। कई बार त्‍वचा पर असमान वृद्धि के कारण भी ये निकल आते है। इनका घरेलू उपचार संभव है जोकि निम्‍म प्रकार है :

कैसे हटाएं खूबसूरत चेहरे से बदसूरत तिल

 1) अलसी के बीज

1) अलसी के बीज

अलसी के बीजों का लेप तैयार कर लें। इसमें अलसी का तेल और शहद भी मिलाएं और फिर इसे वॉर्ट पर लगा लें और पट्टी बांध लें। हर दिन ऐसा करने से लाभ मिलेगा।

2) लहसुन

2) लहसुन

लहसुन की कलियों को छीलकर उन्‍हे कूट लें और प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। ऐसा दिन में कई बार करें, इससे मस्‍सों से राहत मिलेगी।

3) अनानास

3) अनानास

ताजा कटा हुआ अनानास लें और उसे प्रभावित जगह पर लगाएं। दिन में इसे कई बार लगाने से राहत मिलती है।

4) अंजीर

4) अंजीर

अंजीर के ताजे जूस को लें और इसे लगाएं। यह वॉर्ट को ट्रीट करने का बेहतरीन तरीका है।

5) प्‍याज

5) प्‍याज

प्‍याज के पीस को रात भर सिरके में भीगा रहने दें। सुबह उठकर इसे उस जगह पर लगा लें और पट्टी बांध लें।

6) कपूर का तेल

6) कपूर का तेल

कपूर का तेल इसमें काफी लाभप्रद होता है। इसे प्रभावित जगह पर लगाने से आराम मिलता है।

7) चाक या आलू

7) चाक या आलू

चाक के टुकड़ें को या फिर कच्‍चे आलू के टुकड़े को पीस कर इसमें लगाएं तो आराम मिलेगा। इससे वॉर्ट हटने की उम्‍मीद ज्‍यादा रहती है।

8) कैस्‍टर ऑयल

8) कैस्‍टर ऑयल

कैस्‍टर ऑयल से दिन में दो से तीन बार मसाज करने से भी मस्‍से या गांठ में आराम मिलती है और बिना दाग-धब्‍बे के वह दूर हो जाते है।

9) टी ट्री ऑयल

9) टी ट्री ऑयल

प्रभावित हिस्‍से में टी ट्री ऑयल लगाने से भी आराम‍ मिलता है। इससे वॉर्ट्स दूर हो जाते है।

10) एप्‍पल साइडर सिरका

10) एप्‍पल साइडर सिरका

सबसे पहले प्रभावित हिस्‍से को गर्म पानी से धोएं। 15 से 20 मिनट तक ऐसे ही रहने दें। इसके बाद, इस पर साइडर सिरका को रूई की बॉल से लगाएं और सूखने के लिए छोड़ दें। बाद में उस हिस्‍से को साफ पानी से धो लें।

11) केला

11) केला

एक केला लें। उसे छीलकर उसका गुदा निकल लें और संक्रमित जगह पर लगा दें। 12 से 24 घंटे क लगातार लगाते रहें, आराम मिलेगा।

Story first published: Wednesday, May 7, 2014, 10:01 [IST]
Please Wait while comments are loading...