मौनसून में मलेरिया से बचने के कुछ प्राकृ‍तिक उपाय

Subscribe to Boldsky

मलेरिया एक प्रकार के परजीवी प्लाजमोडियम से फैलने वाला रोग है। जिसका वाहक मादा एनाफिलीज मच्छर होता है। जब संक्रमित मादा एनाफिलीज मच्छर किसी व्यक्ति को काटता है तो संक्रमण फैलने से उसमें मलेरिया के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। मलेरिया काफी खतरनाक बीमारी साबित हो सकती है, इसमें इंसान की जान भी जा सकती है। अच्‍छा होगा कि आप मलेरिया से बचने के उपायों पर ज्‍यादा जोर दें। आप मलेरिया से प्राकृतिक रूप से बच सकते हैं। आइये इस मौनसून में जानते हैं मलेरिया से बचने के कुछ प्राकृतिक उपाय। विश्‍व मलेरिया दिवस: मलेरिया के लक्षण

Ways To Prevent Malaria During Monsoons


मौनसून में मलेरिया से बचने के कुछ प्राकृ‍तिक उपाय

हाइड्रेटेड रहें
आप मलेरिया को तभी मात दे सकते हैं, जब आप मौनसून में खुद को अच्‍छी तरह से हाइड्रेट रखें। इन दिनों शरीर में काफी गर्मी भर जाती है, जिसे निकालना बहुत जरुरी है। इसके लिये आपको पानी के अलावा नारियल पानी, जूस आदि पीना चाहिये।

बाहर न निकलें
ऐसी जगह जहां पर कूड़ा या गंदगी पड़ी हो, वहां पर ना जाएं क्‍योंकि वह जगह मच्‍छरों के पनपने की जगह होती है। शाम के समय घर पर ही रहें।

गहरे रंग के कपड़े ना पहने
हल्‍के कपडे़ पहनने से मच्‍छर आपके पास नहीं आएंगे और आप मलेरिया से बचे रह सकते हैं। अगर आप गहरे रंग के कपडे़ पहनेंगे तो आप मच्‍छरों के चपेट में आ सकते हैं। सुबह खाली पेट पानी पीने से होते हैं ये फायदे

मच्‍छर दानी लगाएं

अपने दरवाजे और खिड़की पर जाली लगवाएं तथा घर में मच्‍छरदानी के अंदर सोएं। इससे आप मच्‍छरों के प्रकोप से बचे रह सकते हैं। चाहे दिन हो या रात, आपको मच्‍छरदानी के अदंर ही सोना चाहिये।

ठंडे तापमान में रहें
जहां तक हो सके आपको ठंडे तापमान मे ही रहना चाहिये। ठंडे तापमान में मच्‍छर कभी नहीं पनप सकते।

सिंट्रोनेला तेल आधारित क्रीम
यह बहुत जरुरी है कि आप फुल कपड़े पहने और जहां पर कपड़े नहीं पहन सकते हैं, वहां पर सिंट्रोनेला तेल वाली क्रीम लगाएं। यह आपको मच्‍छरों से बचाएगा। आप इस तेल को पानी में मिक्‍स कर के जमीन पर पोछा लगा सकते हैं।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

English summary

Ways To Prevent Malaria During Monsoons

You can prevent malaria naturally by maintaining your personal hygiene. Here are a few tips for natural malaria prevention.
Please Wait while comments are loading...