शंख के उपचार से पाइये इन रोगों से मुक्‍ती

Subscribe to Boldsky

भारत में बौद्ध और हिंदू धर्म में शंख का महत्‍वपूर्ण स्‍थान है। कहा जाता है कि हर घर में शंख का होना शुभ होता है, इसके होने से नकारात्‍मक ऊर्जा नहीं आती और बुरी शक्तियां भी दूर रहती हैं। आयुर्वेद में शंख को काफी लाभदायक माना जाता है।

Paytm Coupons: Fashion Sale Up to 80% Off Hurry

क्‍या आप जानते हैं कि शंक के प्रयोग या इसके बने पावडर के सेवन से कई प्रकार की बीमारियां दूर होती हैं? शंख को पीसकर बनाए गए पाउडर को भारतीय आयुर्वेदिक दवाईयों में मिलाया जाता है, जिससे कई रोगों का इलाज किया जाता है।

READ MORE: च्यवनप्राश: लाभ, दुष्प्रभाव और कैसे करें इसका इस्तेमाल

टिप्‍स : शंख में जल भर कर 2-3 घंटे तक रखें। फिर यह जल कुछ विशेष रोगो के लिये लाभकारी होता है। किन्तु शंख जितना उत्तम श्रेणी का होगा, उतना ही प्रभावकारी सिद्ध होगा। सामान्य प्रकार के शंख इस कार्य में अल्प प्रभाव वाले ठहरते हैं।

1. त्‍वचा रोग से मुक्‍ती दिलाए

रात में शंख में पानी भरकर रख दें और सुबह उठकर इस पानी से अपनी त्‍वचा की मसाज करें। इस पानी से मसाज करने पर कई प्रकार की त्‍वचा सम्‍बंधी बीमारियां जैसे, एलर्जी, रैश के साथ चेहरे पर पड़े सफेद दाग भी ठीक हो जाते हैं।

2. बाल बनें मुलायम

शंख में रात को भरकर रखे जाने वाले पानी में गुलाब जल मिला लें। इससे अपने बालों को धुलें। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में बालों का रंग प्राकृतिक हो जाएगा। इसी पानी से आईब्रो, मूंछें और दाड़ी को भी धुल सकते हैं। इससे बालों में मुलायमपन आ जाता है।

3. पेट दर्द, अपच दूर करे

अगर आपको अक्‍सर पेट सम्‍बंधी समस्‍या रहती है तो भी शंख में रखे 2 चम्‍मच पानी का सेवन कर सकते हैं। पेट दर्द, अपच, आंतों में कोई समस्‍या आदि होने पर आराम मिलेगा।

4. आंखों की रौशनी बढ़ाए

रात भर शंख में रखा हुआ पानी और साधारण पानी, बराबर मात्रा में मिला लें। इसे अपनी आंखों को धुलें। आपकी आंखों की रोशनी तेज हो जाएगी।

5. चेहरे की झुर्रियां मिटाए

नहने के बाद शंक को अपने चेहरे और गले पर रगड़ें। इससे चेहरे पर प्राकृतिक ग्‍लो आएगा।

6. आंखों के डार्क सर्कल

आंखों के नीचे काले घेरे हो गए हों, तो शंख को रात को सोने से पहले अपनी आंखों के आस पास 5 मिनट रगडे़ं।

7. आंखों की समस्‍या दूर करे

शंक में रखे हुए पानी को अपनी हथेलियों पर लें, उसमें अपनी आंखों को डुबाएं और पुतलियों को दांए-बाएं करें। कुछ सेकंड ऐसा करने से ड्राई आई, आंखों में पस और कई अन्‍य समस्‍याएं ठीक हो जाएंगी।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

Story first published: Wednesday, June 17, 2015, 12:23 [IST]
English summary

Ayurvedic Usage of Shankha (Conch / Sea Shell)

Sankh (Conch or Sea Shell) has great importance in Ayurveda. A powder made from the shell material is used in Indian Ayurvedic medicine, primarily as a cure for stomach ailments and for increasing beauty and strength.
Please Wait while comments are loading...