क्‍या आपने कभी सोंचा है इंसन को हफ्ते में कितनी बार नहाना चाहिये

Subscribe to Boldsky

शरीर से बदबू ना आए और खुद को फ्रेश फील करवाने के लिये लोग पूरे दिन में एक बार जरुर नहाते हैं। पर आप के मन में यह बात जरुर आई होगी कि इंसान को दिन में कितनी बार नहाना चाहिये, जिससे उसका स्‍वास्‍थ बना रहे और वह अच्‍छा महसूस करे।

पर क्‍या आपने कभी सोंचा है कि रोजाना नहाने के पीछे कोई ठोस बात छुपी हुई हो सकती है? वैसे तो, रोजाना नहाने या न नहाने से कोई खास फरक नहीं पड़ता है। कई लोगों को जिन्‍हें त्‍वचा संबंधित बीमारी होती है, उन्‍हें डॉक्‍टर इस बात की सलाह देते हैं कि वे रोज स्‍नान न करें।

How Often Do You Really Need to Shower?

आप बोल सकते हैं कि रोजाना न नहाने से धूल-मिट्टी और पसीना और ज्‍यादा चिपक सकता है। पर आपकी जानकारी के लिये बता दें कि, हम में से बहुत से लोग बाहर जा कर काम नहीं करते और धूल-मिट्टी से उनका दिनो-दिन तक कोई सामना नहीं होता।

READ: साबुन छोडिये और लगाइये शावर जैल

आपके शरीर की बाहरी त्‍वचा, डेड स्‍किन सेल्‍स से बनी हुई है, जो शरीर की सुरक्षा करती है। यह त्‍वचा की नमी को भी मेंटेन करने का काम करती है। अगर आप रोज गरम पानी से नहाते हैं, खासतौर पर साबुन और लूफा ले कर तो, समझिये कि आप अपनी त्‍वचा को क्षतिग्रस्‍त कर रहे होते हैं।

 Shower

आप जितना ज्‍यादा शॉवर लेते हैं आप उतना ही ज्‍यादा अपनी त्‍वचा को नुकसान पहुंचा रहे होते हैं। स्‍किन से प्राकृतिक तेल निकल जाता है, त्‍वचा रूखी हो जाती है, फट जाती है और पूरे शरीर में खुजली महसूस होने लगती है।

READ: ठंडे पानी से नहाने के 5 फ़ायदे

वे लोग जो बहुत ही भींड़-भाड़, जिम या बीमार लोगों के नजदीक रहते हैं, उन्‍हें दिन में एक या दो बार नहाने की सलाद दी जाती है। पर वे लोग जो ऐसी जगहों पर नहीं जाते, वे हफ्ते में दो या तीन दिन ही नहाएं। अगर आप रोजाना नहीं नहाते हैं तब आपकी त्‍वचा खुद को अच्‍छे से बैलेंस कर लेती है।

हमारी त्‍वचा हवा की नमी और त्‍वचा से निकलने वाले तेल से खुद को नमी प्रदान करती है। हवा जितनी रूखी होगी आपकी त्‍वचा भी उतनी ही ज्‍यादा रूखेपन का शिकार होगी। जिन लोगों को रूखेपन की समस्‍या होती है, उन्‍हें कम नहाना चाहिये। जब आप गरम पानी से नहाते हैं, त्‍वचा में नमी की कमी के कारण शरीर में रूखापन आ जाता है।

 Shower1

त्‍वचा का प्राकृतिक तेल और डेड स्‍किन सेल्‍स, खुद का एंटीबायोटिक पैदा करते हैं, जो कि घातक बैक्‍टीरिया से बचाते हैं। साथ ही यह कई प्रकार के रसायनों को त्‍वचा के अंदर घुसने से भी रोकते हैं। यह रसायन आप की त्‍वचा तथा शरीर के अन्‍य अंगो को नुकसान पहुंचा सकते हैं। जब आप नहाते हैं तब आप इन तेलों तथा डेड स्‍किन सेल्‍स को साफ कर देते हैं और उन रसायनों को शरीर में घुसने के लिये जगह बना देते हैं।

हर इंसान के स्‍किन की कैमिस्‍ट्री थोड़ी अलग होती है, कुछ लोगों को रोजाना नहाने से कोई नुकसान नहीं पहुंचता, तो कुछ लोग रूखेपन के शिकार हो जाते हैं। तो अगर आप कभी-कभार नहाने से कतराते हैं तो, इससे कोई विशेष फरक नहीं पड़ता।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

English summary

How Often Do You Really Need to Shower?

Daily showering must have some basis? But it has not been proven to be healthier or better. How Often Do You Really Need to Shower? Here is an answer for that.
Please Wait while comments are loading...