निमोनिया के इलाज में 8 प्रभावी आयुर्वेदिक औषधियाँ

Subscribe to Boldsky

मानसून में होने वाली बीमारियों में निमोनिया एक ऐसी बीमारी है जो कि बच्चों में सामान्यतः पाई जाती है। यदि किसी को लगातार तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ, छती में दर्द, बलगम वाली खांसी और नाड़ी तेज चल रही हो (150 बीट्स प्रति मिनट), तो उसकी देखभाल बहुत जरूरी है, यह निमोनिया हो सकता है।

Jabong Happy hour sale- Flat 50% +extra 15% off with Promo code Click to Shop!

निमोनिया एक संक्रमण है जो कि फेफड़ों को प्रभावित करता है। फिर भी, बच्चे और बड़ी उम्र के लोग इसे ज्यादा प्रभावित होते हैं क्यों कि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता युवाओं की तुलना में कम होती है। जब भी उनमें यह संक्रमण होता है उन्हें कमजोरी महसूस होती है और उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती करना जरूरी हो जाता है।

निमोनिया एक इन्फ़ैकशन है जो कि बैक्टीरिया, वायरस और कवक से फैलता है। इस बीमारी से दूर रहने के लिए स्वच्छता का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

READ: 14 घरेलू नुस्‍खे जो बचाए निमोनिया से

सावधानियों के बावजूद भी, जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है, उन्हें यह हो ही जाता है। हालांकि निमोनिया की कई तरह की दवाइयाँ उपलब्ध हैं लेकिन आयुर्वेदिक दवाइयाँ ज्यादा बेहतर हैं क्यों कि इनका कोई साइड-इफैक्ट नहीं होता है।

खास तौर पर बच्चों के लिए इनका ज्यादा सुझाव दिया जाता है। हम आपको बोल्ड स्काई के माध्यम से निमोनिया के इलाज की 8 प्रभावी औषधियाँ बता रहे हैं। आइये देखते हैं:

1. सन के बीज, तिल और शहद मिलाएँ:

एक टेबलस्पून सेम के बीज, तिल और शहद मिलाएँ, इसमें एक चुटकी नमक डालें और पानी मिलाएँ। इसका दिन में दो बार सेवन करें। इससे सूजन कम होती है।

 

 

2. ब्लैक टी और मेथी का मिश्रण:

दो टी स्पून मेथी पाउडर में एक कप ब्लैक टी मिलाएँ। यदि आवश्यक हो तो चीनी भी मिलाएँ और दिन में एक बार पियें। इससे निमोनिया दूर होगा।

3. तुलसी की पत्तियों का रस:

तुलसी की कुछ पत्तियाँ लें, इन्हें मसलकर इनका रस निकाल लें। इसमें थोड़ी काली मिर्च मिलाएँ और 6 घंटे में एक बार पियें। यह भी निमोनिया में कारगर है।

 

 

4. पुदीने की पत्तियाँ:

पुदीने की कुछ पत्तियाँ लें, इन्हें मसलकर रस निकाल लें। इसमें एक टेबल स्पून शहद मिला लें और दो-तीन घंटों के अंतराल से लें।

5. त्रिफला और अश्वगंधा:

खाने में त्रिफला और अश्वगंधा के साथ थोड़ी अदरक और इलायची मिलाने से भी निमोनिया का इलाज होता है।

6. लहसुन का पेस्ट:

लहसुन से शरीर का तापमान कम होता है और यह निमोनिया में प्रभावी है। लहसुन की कुछ पोथियां लें और मसलकर इनका पेस्ट बना लें। इसे छाती पर मसलें।

7. लौंग और काली मिर्च:

5-6 लौंग और काली मिर्च लें और 1 पानी के गिलास में 1 ग्राम सोडा लेकर इन्हें उबाल लें। इसे दिन में 1-2 बार लें। इससे निमोनिया में राहत मिलेगी।

8. हल्दी:

यह निमोनिया की आयुर्वेदिक औषधि है। हल्दी को गुनगुने पानी में मिलाएँ, इसे छाती पर लगा दें, अब गरम ईंट पर गरम किया हुआ कपड़ा लगा दें। इससे छाती में उत्तेजना होगी और निमोनिया की सूजन दूर होगी।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

Story first published: Saturday, June 11, 2016, 9:00 [IST]
English summary

8 Highly Effective Ayurvedic Remedies For Pneumonia

Though there are several medications available for pneumonia, but ayurveda is always preferred as they are effective and does not have any side-effect.
Please Wait while comments are loading...