शारीरिक दर्द से जुडी कुछ मिथक व सच्ची बातें

Posted By: Super Admin
Subscribe to Boldsky

आज हर कोई शारीरिक पीडाओं की शिकायत करता नज़र आता है। किसी के कमर में दर्द हो तो किसी के घुटनों में। हम सभी इन पीडाओं से छुटकारा पाना चाहते हैं तथा स्वस्थ बनने के लिए हम देसी से लेकर विदेशी इलाज भी कराते हैं।

BLUESTONE DIAMOND JEWELLERY! Now with 25% Discount+ Extra 5% Discount+ No Making Charges Hurry Limited Period Offer

इन शारीरिक तकलीफों से जुडी कुछ मिथक बातें आप तक सलाह के रूप में पहुंचती है और दर्द से निजात पाने के लिए आप इन्हें आज़मा भी लेते हैं। चलिए जानते हैं ऐसी ही कुछ मिथक बातों के बारे में और उनके पीछे छुपा सच।

pain 1

जोड़ों का दर्द बदलते मौसम से साथ बढ़ता व घटता रहता है। सर्दियों के मौसम में बहती शीत हवाएं बुजुर्गों के जोड़ों के दर्द को बढ़ती है जबकि वही दर्द गर्मियों में ना के बराबर महसूस होता है। मौसम के साथ-साथ हवा का बैरोमीटर प्रेशर भी बदलता रहता है। यही बदलाव हमारे जोड़ों के दर्द का कारण बनता है।

back pain

अक्सर पीठ दर्द के मरीज़ों को डॉक्टर लंबे समय तक आराम करने की सलाह देते हैं। माना जाता है कि ऐसा करने पर पीठ दर्द बढ सकता है। बजाय इसके, आप अपने रोजमर्रा के काम आराम से करें और हो सके तो थोडा सा व्यायाम व योगा भी करें।

यदि आप घुटनों व कूल्हों के दर्द से परेशान हो तो अपने वजन को घटाने की कोशिश करें। क्योंकि हमारे शरीर का पूरा भार हमारे घुटनों व पैरों पर पड़ता है। वजन कम होने पर पैरों पर पड़ने वाला भार भी घट जाएगा। इस तरह आपको घुटनों के दर्द से छुटकारा मिल सकता है।

Headache

आप दर्द से कराह रहे हैं और बीमारी की वजह पता करने के लिए ड़ॉक्टर द्वारा कहे गए सारे टेस्ट कराते हैं लेकिन रिपोर्ट में सब नोर्मल है। इसका मतलब ये हुआ कि आप बेवजह एक दर्द को महसूस कर रहे हैं। जी नहीं। दरसल कुछ बीमारियों के पीछे मानसिक कारण छुपे होते हैं।

चिंता, परेशानी या मन में दबा गुस्सा कई पीडाओं को जन्न दे सकता है। अतः दर्द के कारण को जानने के लिए आपको अपनी भावनाओं को समझने की ज़रूरत है।

Painkiller

यदि आपको हर दूसरे तीसरे दिन शरीर के किसी एक हिस्से में लगातार दर्द रहता है और आप इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए पेनकिल्लर का सहारा लेते हैं तो ऐसा करना सही नहीं होगा।

पेनकिल्लर आपको कुछ देर के लिए दर्द से छुटकारा दिला सकते हैं लेकिन ये बीमारी का इलाज़ नहीं है। ऐसी स्थिति में आपको ड़ॉक्टर से संपर्क करने की ज़रूरत है।

Story first published: Tuesday, August 2, 2016, 9:36 [IST]
English summary

The Myths And Truth About Pain

There are many myths and facts about your chronic pain. So read to know the important facts about chronic pain.
Please Wait while comments are loading...