स्तन कैंसर से जीतना है, तो करें व्यायाम

Subscribe to Boldsky

आईएएनएस। आज स्‍तन कैंसर इस कदर बढ गया है कि महिलाओं में इसका डर कम उम्र से ही बैठने लगा है। तो क्‍या आप भी स्‍तन कैंसर को मात देना चाहती हैं? अगर आपका जवाब है हां, तो बिना देर किये हुए अभी से ही दौड़ने निकल जाएं। जी हां, एक अध्ययन में पता चला है कि स्तन कैंसर के जो मरीज सप्ताह में ढाई घंटे नियमित रूप से शारीरिक व्यायाम किया करते हैं, उनकी जान का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

MUST CLICK: ब्रेस्‍ट कैंसर से लड़ने में असरदारी ये फूड

अमेरिका के डिपॉर्टमेंट ऑफ एनर्जी की लॉरेंस बर्केली नेशनल लैबोरेटरी ने इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर में सलाह दी कि स्तन कैंसर के मरीजों को अधिक व्यायाम करने की सलाह उनके जीवन का रक्षामंत्र बन सकती है।

Beat Breast cancer with exercise


हल्की दौड़ लगाना चहलकदमी करने से बेहतर साबित हो सकता है। बर्केली लैब के जीवन विज्ञान विभाग के पॉल विलियम्स द्वारा किए गए 'नेशनल रनर्स एंड वॉकर्स हेल्थ स्टडी' में स्तन कैंसर के 986 मरीजों की दिनचर्या को रिकार्ड किया गया।

अध्ययन में पता चला कि प्रतिवर्ष स्तन कैंसर के ऐसे मरीज जो व्यायाम के रूप में सिर्फ चहलकदमी करते हैं, उनमें 714 में से 31 लोगों की मौत हुई, जबकि जो लोग हल्की दौड़ लगाते हैं, उनमें 272 में से सिर्फ 13 लोगों की जानें गईं।

7 टिप्‍स ब्रेस्‍ट कैंसर से बचने के लिये

चहलकदमी करने वाले और हल्की दौड़ लगाने वाले कैंसर के मरीजों का जब अलग अलग अध्ययन किया गया, तो पता चला कि हल्की दौड़ लगाने वाले मरीजों का मृत्युदर केवल चहलकदमी करने वाले मरीजों से काफी कम है।

तुलना कर के खरीदें उत्तम स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों

Story first published: Friday, January 31, 2014, 13:01 [IST]
English summary

Beat Breast cancer with exercise

The new breast cancer study followed 272 runners and 714 walkers for an average of 9.1 years. Their breast cancer diagnosis occurred 8 years before they enrolled in the study. Forty-six women died from breast cancer during the study period.
Please Wait while comments are loading...