मनुस्मृति: 4 चीज़ें जो लोगों को नियमित तौर पर करनी चाहिए

Subscribe to Boldsky

हिंदू धर्म के कई धर्म शास्त्रों में से मनुस्मृति सबसे अधिक विवादास्पद और पठित प्राचीन कानूनी ग्रंथ है। यह पहला संस्कृत ग्रंथ था जिसका अनुवाद ब्रिटिश शासन काल में सन 1774 में किया गया तथा इसका उपयोग औपनिवेशिक सरकार ने हिंदू धर्म के कानून बनाने के लिए किया था।

मनुस्मृति के अनुसार व्यक्तियों द्वारा अनजाने में हुए पापों से मुक्ति पाने के लिए लोगों को ये चार यज्ञ या पूजा प्रतिदिन करनी चाहिए।

geeta

ब्रह्मयज्ञ
मनुस्मृति के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को वेद, भगवद्गीता, रामायण तथा अन्य धार्मिक पुराणों को पढ़ना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को उसके पापों से मुक्ति मिलती है।

puja

देवयज्ञ
देवताओं को प्रसन्न करने के लिए प्रतिदिन उचित विधि से पूजा करके भी पापों से मुक्ति मिल सकती है।

pitra

पितृयज्ञ
मनुस्मृति के अनुसार मृत पूर्वजों की शांति के लिए “श्राद्ध-तर्पण” अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को उसके पापों से मुक्ति मिलती है।

sai baba

मनुष्ययज्ञ
दरवाज़े पर आए हुए किसी भी व्यक्ति को खाना, कपड़े और पैसे देने से मना नहीं करना चाहिए।

Read more about: hindu, हिंदू
Story first published: Monday, June 20, 2016, 10:14 [IST]
English summary

Manusmriti: 4 Things People Should do Regularly

According to Manusmriti, to get rid of their sins committed unknowingly, people should do four ‘yagyas’ or ‘pujas’ daily.
Please Wait while comments are loading...