आइये जाने भारत की अजीबोगरीब प्रथाएं

By: Aditi Pathak
Subscribe to Boldsky

भारत एक ऐसा देश है जिसमें विविधता में एकता है, यहां कई संस्‍कृति एक साथ देखने को मिलती है। देखा जाएं तो विविधता में एकता, भारत के संदर्भ में सिर्फ मुहावरा नहीं है बल्कि यह यहां की सच्‍चाई है। भारत की संस्‍कृति और परम्‍पराओं के बारे कुछ शब्‍दों में समझाना मुश्किल है। यहां कई राज्‍य, भाषा, संस्‍कृति, पाक कला, परम्‍परा, पहनावा और अन्‍य बोलियां है जिनमें से कई तो अनगिनत है। भारत एक ऐसा भूमि है जहां सब कुछ देखने को मिलता है। लेकिन जहां एक ओर भारत इतनी विविधताओं से भरा हुआ है, वहीं यहां के लोगों के बीच अजीबोगरीब प्रथाएं भी पनप चुकी है।

भारत के कई मेट्रो शहर चाहें जितने भी आगे बढ़ जाएं, मुम्‍बई को अमेरिका जैसा मान लिया जाएं या बंगलौर को सिलीकॉन वैली कहा जाएं लेकिन यहां के लोगों के बीच भी विचित्र परम्‍पराएं देखने को मिलती है। देश में धार्मिक परम्‍पराओं और प्रथाओं का बोलबाला है, लोग धर्म के वास्‍तविक तर्क को समझें बिना उसका पालन करते है और कई बार फालतू की प्रथाओं का पालन करने लगते है। ऐसा नहीं है कि विचित्र प्रथाएं केवल किसी एक ही धर्म पाई जाती है, लगभग हर धर्म में ऐसी अजीबोगरीब प्रथाएं देखने को मिलती ही है। आदिवासियों के बीच ऐसी प्रथाएं देखने को सबसे ज्‍यादा मिलती है। इस तरह की प्रथाओं को कम करने के लिए भारतीय सरकार ने कई प्रकार के कदम उठाएं है। हालांकि, इनमें से कई प्रथाएं आज भी समाज में मौजूद है। आइए जानते है ऐसी ही कुछ विचित्र प्रथाओं के बारे में :

Bizarre practices in India

1) अच्‍छे भाग्‍य के लिए :
अच्‍छा भाग्‍य पाने के लिए भारत के लोग बड़ा परेशान रहते है, कई तरह के नग पहनते है, चूडा पहनते है और न जाने क्‍या - क्‍या। किसी को संतान प्राप्ति नहीं होती, किसी की नौकरी नहीं लगती, किसी का विवाह नहीं होता आदि समस्‍याओं से जूझते लोग अपने भाग्‍य को दोष देते है और उसे जगाने के लिए कई कुप्रथाओं का सहारा लेते है। इनमें से कई लोग तो बच्‍चे की बलि भी देने को तैयार हो जाते है ताकि उनके जीवन में समृद्धि और धन की वर्षा हो जाएं।

2) मोक्ष पाने के लिए नंगा रहना :
यह बहुत अटपटी प्रथा है लेकिन सच है। कई आदिवासी समुदाय या धार्मिक साधु मानते है कि अगर उन्‍हे मोक्ष प्राप्‍त करना है तो उन्‍हे नंगा रहना पड़ेगा, सांसारिक सुख और साधनों को त्‍याग करना होगा। उनका यह भी मानना है महिलाएं नग्‍न नहीं रह सकती है, इसलिए वह मोक्ष प्राप्‍त नहीं कर सकती। महिलाओं को अगर मोक्ष प्राप्‍त करना है तो उन्‍हे मरकर अगले जन्‍म में पुरूष बनना होगा।

3) सभी समस्‍याओं का एक समाधान :
भारत में सदियों से ऐसी कुप्रथा चलती आ रही है कि लोग किसी एक बाबा या ओझा के पास जाते है और अपनी समस्‍या सुनाते है, वह बाबा मल्‍टीपर्पज बाबा होता है, आपको कोई भी समस्‍या होती है, उसके पास सभी समस्‍याओं का निदान होता है। वह बाबा या ओझा थोड़ी झाड़ फूंक करता है और समस्‍या दूर भाग जाती है।

4) बिश्‍नोई विश्‍वास :
बिश्‍नोई समुदाय, राजस्‍थान से ताल्‍लुक रखता है, यह पर्यावरण प्रेमी समुदाय होता है। इन्‍हे पेड़ों और जानवरों से बहुत प्‍यार होता है। इस समुदाय की औरतें अपना स्‍तनपान हिरन के बच्‍चों को करवाती है।

5) भारत के अघोरी :
भारत में कुछ ऐसे लोगों को समूह भी है जा विचित्र काम करते है, अघोरी इनमें से एक है। अघोरियों का कहना है कि वह भगवान शिव के भक्‍त है। लेकिन देखा गया है कि अघोरी समुदाय के लोग, शव खाते है और उनकी खोपड़ी से मदिरापान करते है। ये देखने में काफी डरावने भी होते है।

6) भेड़ को लटकाना :
दक्षिण भारत में काली मंदिरों में यह रिवाज काफी प्रचलित है। इस प्रथा में भेड़ को एक हुक पर लटका दिया जाता है, इस प्रथा में लोग गरूड़ के रूप में लिबास धारण करते है और भेड़ को उसकी पीठ से जमीन पर लटका देते है। ऐसा वह माता काली को प्रसन्‍न करने के लिए करते है।

7) केले के पेड़ से शादी :
भारत में मांगलिक दोष सबसे बड़ा दोष माना जाता है। अगर किसी व्‍यक्ति को यह दोष होता है तो उसकी शादी केले के पेड़ से करवा दी जाती है ताकि उसके ऊपर से मांगलिक दोष दूर हो जाएं। भारत में ऐसा माना जाता है कि अगर मांगलिक दोष वाले की शादी किसी दोषरहित व्‍यक्ति से होती है तो दोनों में से किसी एक की मृत्‍यु पक्‍की है, ऐसे में दोष को दूर करने का यह सबसे अच्‍छा तरीका माना जाता है। केले के साथ शादी कराने के बाद लड़की दोषरहित हो जाती है और फिर उसकी शादी किसी से भी की जा सकती है।

Read more about: life, जिन्‍दगी
English summary

Bizarre practices in India

A country with rich and varied culture where “Unity in diversity” is not just another phrase, it is something you can witness in this great land.
Please Wait while comments are loading...