क्‍यूं बंक करते हैं स्‍टूडेंट्स अपनी क्‍लास?

Subscribe to Boldsky

इससे पहले की हम आपको बताएं कि बच्‍चे स्‍कूल या कॉलेज में अपनी क्‍लास क्‍यूं बंक करना पसंद करते हैं, बोल्‍डस्‍काई आपको सलाह देना चाहेगा कि आप बच्‍चों को अपनी कॉलेज लाइफ खुद कर इंज्‍वाय कर लेनी चाहिये। कॉलेज एक ऐसी जगह है जहां पर हमारी कई सारी यादें हमेशा के लिये रह जाती हैं और बाद में जब हम उन्‍हें याद करते हैं, तो आंखों से आंसू जरुर छलक जाते हैं।

बच्‍चों में कॉलेज बंक करने का बड़ा ही क्रेज रहता है और वे इसे पूरी तरह से कूल समझते हैं। वो परेंट्स जिन्‍हें आज तक पता नहीं चला कि आखिर उनके बच्‍चे की कॉलेज बंक करने की वजह क्‍या है, तो आइये हम आपको बताते हैं कि कॉलेज जाने वाले टीनेजर्स आखिर अपनी क्‍लास क्‍यूं बंक करना पसंद करते हैं।

Why Students Bunk Classes?

क्‍यूं बंक करते हैं स्‍टूडेंट्स अपनी क्‍लास?


1. प्‍यार के लिये- ऐसे कई स्‍टूडेंट्स हैं जिनकी कॉलेज में गर्लफ्रेंड होती है और वे उसके साथ कुछ स्‍पेशल टाइम बिताना चाहते हैं। कॉलेज एक ऐसी जगह होती है जहा आपको दुनिया भर के तमाम हैंडसम लड़के और खूबसूरत लड़कियां प्‍यार में पड़ने के लिये मिल सकती हैं।

2. दोस्‍तों का प्रेशर- दोस्‍तों का प्रेशर एक ऐसी चीज होती है जिसकी वजह से आप क्‍लास बंक कर देते हैं। जब आप उनके प्रेशर के नीचे होते हैं तो, आपको वही करना पसंद होता है जो वे करते हैं।

3. अपने सब्‍जेक्‍ट को पसंद ना करना- कई स्‍टूडेंट्स को मैथ्‍स या हिस्‍ट्री पसंद नहीं होती, तो ऐसे में वे कोशिश करने हैं कि वो क्‍लास से बंक मारे और खुद को कहीं बाहर जा कर फ्रेश करें।

4. अपनी टीचर से नफरत- अगर आप अपनी टीचर से बहुत ज्‍यादा नफरत करते हैं तो, आप ना चाह कर भी अपनी क्‍लास छोड़ देगें। क्‍लास बंक कर के टीचर से दूरी बनाना एक गलत तरीका है।

5. अपनी हॉबी के लिये- कई बच्‍चों को नाचना-गाना और ना जाने कौन कौन सी हॉबी का शौक रहता है। ऐसे मे वो उसे स्‍कूल या कॉलेज में पूरा करने के लिये अपनी क्‍लास से बंक मार देते हैं।

Read more about: life, जिन्‍दगी
Story first published: Saturday, January 18, 2014, 15:28 [IST]
English summary

Why Students Bunk Classes?

Parents who are wondering why their teens want to bunk classes, here are some of the reasons why they love to bunk and stay out of class.
Please Wait while comments are loading...