UC ब्राउजर से इस दीवाली भारतीयों ने की ये कामना

Subscribe to Boldsky

UC ब्राउज़र नामक भारत के नंबर 1 मोबाइल ब्राउज़र को अपने दीवाली शुभकामना अभियान के लिए बहुत अच्छा समर्थन मिला। यह अभियान उनके ब्राउज़र व सोशल मीडिया चैनलों पर चलाया गया था। #WishWithUC के तहत लगभग 1.5 मिलियन लोगों ने विश मांगी। इस तरह इस अभियान ने राष्ट्रीय भावनाओं की एक झलक प्रदना की।

UC ब्राउजर ने युवराज सिंह के साथ काम कर के "#HarGharUCDiwali" नामक कैंपेन चलाया जिसमें लोगों ने फेसबुक, ट्विटर और यूसी ब्राउज़र भर रचनात्‍मक विश मांगी। फिर उन्‍होंने इन भाग्यशाली उपयोगकर्ताओं को पुरस्कृत भी किया।

What Indians Wished For This Diwali: A UC web Analysis

आइये जानते हैं यूजर्स ने कौन कौन सी बेहतरीन विश मांगी, जिसे UC ब्राउजर ने पूरी भी की: कई लोगों ने इस दीवाली पर खुद के लिये iPhone 6s मांगा तो किसी ने अपने परिवार के लिये खुशियां और अमीर होने की कामना की।

युवराज सिंह का अकाउंट बढ़ा 30% विश से
युवराज को यूज़र्स से विश कलेक्‍ट करने के लिये नियुक्त किया गया था। इसलिये ज्‍यादातर लोगों ने इस दीवाली पर अपने फेवरेट स्‍टार युवराज से मिलने की विा मांगी।

सभी धर्मों के लोगों के बीच भाईचारा
कुछ प्रतिभागियों ने दीवाली में एकजुटता के बारे में विचार फैलाया। फेसबुक फैन पेज पर दो लोगों की बात चीत आपके सामने है:

शाह उमर शाह: हम अपने धर्म के अनुसार यह जश्न नहीं मना सकते लेकिन हम अपने हिंदू भाइयों को दीवाली की ढेर सारी मुबारकबाद देते हैं और कामना करते हैं कि मैं जरुर कुछ जीतूगां और UC BROWSER मेरा फेवरेट ब्राउजर है।⦁ सुदिप्‍ता सरकार: धर्म कोई दीवार नहीं है दीवा (अली) पे अली है और (राम) जान पे राम है।

What Indians Wished For This Diwali

ग्रीन दीवाली के अधिवक्ता
कई लोगों ने अपनी इच्‍छाओं के जरिये दीवाली पर पटाखें की वजह से हो रहे पर्यावरण को नुकसान पहुंचने के मुद्दे पर चिंता भी जताई। कई लोगों ने लोगों से अपील की, कि पटाखों की जगह पर गरीबों को पटाखों से बचाए हुए पैसों से मदद करें।

क्‍या है UCWeb
UCWeb Inc. (UCWeb) मोबाइल इंटरनेट सॉफ्टवेयर और सर्विस का प्रमुख प्रदाता है। 2004 से स्‍थापित यूसी वेब का मिशन है पूरे विश्‍व में सभी को अच्‍छा मोबाइल इंटरनेट का एक्‍सपीरियंस दे। UC ब्राउजर 3,000 से ज्‍यादा अलग अलग मोबाइल डिवाइस मॉडल्‍स में उपलब्‍ध है। यह फिलहाल 11 भाषाओं में उलब्‍ध है जिसमें अंग्रेजी, रशियन, इंडोनेशियन, और वियतनामी भाषा शामिल है।

Story first published: Friday, November 27, 2015, 18:17 [IST]
Please Wait while comments are loading...