1 महीने के अंदर घर पर ऐसे करें प्राकृतिक गर्भपात

Posted By:
Subscribe to Boldsky

हर महिला के लिये मां बनना एक बड़ी ही खुशी की बात होती है। मगर तब क्‍या करें जब आप बिना प्‍लानिंग किये ही गर्भधारण कर लें? कई कपल्‍स बच्‍चे के लिये पूरी तरह से तैयार नहीं हो पाते और फिर उन्‍हें पता चलता है कि घर पर एक नया महमान आने वाला है।

READ: ऐसे आहार जिनसे होता है प्राकृतिक गर्भपात

ऐसे में इस बात को सोंच कर बुरा तो बहुत लगता है कि अभी मां पूरी तरह से तैयार भी नहीं हुई और उसे गर्भपात के लिये जाना होगा। यदि आप दोनों को अभी बच्‍चा नहीं चाहिये और आप कुछ दिनों तक का इंतजार करना चाहते हैं तो प्राकृतिक गर्भपात की सहायता भी ले सकते हैं।

अगर प्राकृतिक गर्भपात 1 महीने के अंदर ही करवाया जाए तो यह ज्‍यादा असरदार होगा नहीं तो ज्‍यादा चांस नहीं है। मेडिकल टर्मिनल ऑफ प्रेग्नेसी एक्ट की तो इसके तहत 20 हफ्ते के बाद एबार्शन नहीं हो सकता है। बेहतर है कि आप घर पर ही प्राकृतिक गर्भपात कर लें। अगर किसी वजह से गर्भ 9 सप्ताह से अधिक समय का हो गया है तो इस से छुटकारा पाने के लिए सर्जिकल गर्भपात सुरक्षित होगा।

READ: 10 चीजें जो महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियों के बारे में जाननी चाहिए

अगर महिला को हाई ब्‍लड प्रेशर, अस्‍थमा, मिरगी, किडनी रोग या मधुमेह नहीं है तो उसके लिये नीचे दिये गए प्राकृतिक गर्भपात के तरीके सही रहेंगे, लेकिन हम पूरी गारंटी के साथ कुछ नहीं कह सकते। पर हां इसके कोई साइड इफेक्‍ट नहीं होगें। तो आइये जानते हैं गर्भपात करने के असरदार घरेलू तरीके...

 विटामिन C

विटामिन C

विटामिन सी एक प्राकृतिक कंट्रासेप्‍टिव मानी जाती है। इसमें शुद्ध एस्‍कॉर्बिक एसिड होता है जो कि प्रोजेस्‍ट्रॉन के प्रोडक्‍शनर को रोक कर इस्‍ट्रोजेन के प्रोडक्‍शन को उत्‍तेजित कर देता है जिससे अंडा अपनी जगह नहीं बना पाता। विटामिन सी इन हार्मोन्‍स को कंट्रोल कर के शरीर में हार्मोन इंबैलेंस पैदा करता है जिससे मिसकैरेज हो जाता है। आपको जैसे ही पता चले की आप प्रेगनेंट हो गई हैं, वैसे ही रोजाना 10 से 12 एम जी विटामिन सी लेना शुरु कर दें।

पपीता

पपीता


पपीते में विटामिन सी होता है जिससे पीरियड्स टाइम पर होते हैं। एक्‍सपर्ट के अनुसार पपीते में पेपाइन नामक एसिड होता है जो कि प्राकृतिक रूप से मिसकैरेज करवाता है।

पाइनएप्‍पल

पाइनएप्‍पल

इसमें bromelain नामक एंजाइम होता है जो कि पपीते के ही तरह असरदार होता है। यह सर्विक्‍स को मुलायम बना कर गर्भपात करवा देता है। यह महिलाओं के स्‍वास्‍थ्‍य पर भी कोई बुरा असर नहीं डालता। आप चाहें तो पाइनएप्‍पल का जूस या फिर ऐसे ही खा सकती हैं।

तिल

तिल

मुठ्ठीभर तिल को पानी में रातभर के लिये भिगो दें और फिर सुबह खा लें। आप चाहें तो एक बड़ा चम्‍मच तिल का भून लें और उसमें शहद मिला कर खाएं। यह काफी सेफ ऑपशन है।

गरम पानी से शॉवर लें

गरम पानी से शॉवर लें

नियमित गरम पानी में नहाने से गर्भपात होता है। लेकिन इसके साथ साथ आपको हमारी बताई हुई चीज़ें भी खानी होंगी जिससे तुरंत असर पड़े।

एस्पिरिन

एस्पिरिन

अपने पास एस्‍पिरिन की ढेर सारी टैबलेट्स रखें और इसकी हर रोज़ 4 से 10 गोलियां खाएं। इस इलाज को और अधिक प्रभावकारी बनाने के लिये गोली के साथ साथ लौंग, कॉफी, पार्सले, अदरक और अंजीर भी खाएं। इसे खाने से आपका मासिक धर्म शुरु हो जाएगा।

ग्रीन टी

ग्रीन टी

ग्रीन टी के अत्‍यधिक सेवन से फर्टिलिटी समस्‍या पैदा हो जाती है। इससे गर्भपात भी हो जाता है।

चीज़

चीज़

मुलायम चीज़ जैसे फेटा, ब्री, कैमेम्बर्ट, रोकफोर्ट और गोर्गोजोला आदि खाने से अनचाहा गर्भ नहीं ठहरता। यह चीज़ बिना उबले दूध से बनाई जाती हैं।

अनार

अनार

अगर आप अनार को उसके बीज के साथ ही खाएं तो आपके मिसकैरेज होने के चांस काफी ज्‍यादा बढ़ जाते हैं। पुराने जमाने से ही अनार के दानों को प्राकृतिक गर्भपात के लिये प्रयोग किया जाता था।

Story first published: Wednesday, December 16, 2015, 13:22 [IST]
English summary

जानें प्राकृतिक गर्भपात करने के घरेलू तरीके

Here is the list of some natural remedies for abortion that are safe and do not cause any side effects.
Please Wait while comments are loading...