अपने मासूम बच्‍चे को इस तरह बताएं यौन शोषण के बारे में

Posted By:
Subscribe to Boldsky

आज भारत की जितनी ज्‍यादा जनसंख्‍या नहीं है, उतनी तो यहां पर बलात्‍कार और छेड़खानी की दर बढ़ती नजर आ रही है। लड़कियां, महिलाएं और मासूम बच्‍चियों के बलात्‍कार की खबरों से पूरा अखबार रोज भरा पड़ा रहता है। ऐसे में मां-बाप के कलेजे का टुकड़ा जब दूर स्‍कूल पढ़ने या बाहर खेलने जाता है, तब उनका दिल धमने का नाम ही नहीं लेता। आज शहरों और गांवों में लोग छेड़खानी को रोकने के लिये सड़कों पर धरना प्रदर्शन करते हुए नजर आ रहे हैं।

अपने बढ़ते बच्‍चे को जरुर सिखाएं ये जरुरी बातें

स्‍कूलों में भी बच्‍चों को सिखाया जाने लगा है कि वह छुट्टी के समय बाहर किसी भी अंजान व्‍यक्‍ति से बात ना करें। अगर आपका भी मासूम बच्‍चा, चाहे वह लड़का हो या फिर लड़की स्‍कूल, ट्यूशन क्‍लास या मोहल्‍ले में किसी के घर पर खेलने जाता है , तो उसे यौन शोषण के बारे में पूरी जानकारी पहले से दे दें। अब समय आ गया है कि पेरेंट्स बढ़ते हुए बच्‍चों के आगे चुप्‍पी न साधें, बल्‍कि अपनी चुप्‍पी को तोड़ कर अपने मासूम बच्‍चे की जान बचाएं।

नीचे दिये गए तरीको से आप अपने मासूम बच्‍चों को यौन शोषण के बारे में ज्ञान दे सकते हैं।

फोटो और वीडियो दिखाएं

फोटो और वीडियो दिखाएं

आज कल यौन शोषण के कई वीडियो आपको यूट्यूब पर मिल जाएंगे। अपने बच्‍चे से पहले इस बारे में बात करें और फिर उन्‍हें वीडियो दिखाएं। उसके बाद उन्‍हें खुद को बचाने के तरीके के बारे में बताएं।

कहानी सुनाएं

कहानी सुनाएं

बच्‍चों को कहानी सुना कर आप अपना काम और आसान कर सकती हैं। उन्‍हें सिंपल तरीके से समझाएं कि उन्‍हें यौन शोषण से कैसे बच कर रहना है।

केस का उदाहरण दें

केस का उदाहरण दें

आज कल तो सोसाइटी में इतने केस नजर आ रहे हैं, कि अब बच्‍चे भी उन्‍हें टीवी पर आंख गड़ाए देखने लगे हैं। उन्‍हें इसे देखने से ना रोकें बल्‍कि इसके बारे में उन्‍हें जानकारी दें।

बैड और गुड टच

बैड और गुड टच

उन्‍हें बैड और गुड टच के अंतर को समझाएं। गुड टच वह होता है, जब मां अपनी बच्‍ची को नहलाते वक्‍त बिना उसे नुकसान पहुंचाए उसके प्राइवेट पार्ट को छूती है। बैड टच वह है, जब कोई अंजान व्‍यक्‍ति या घर का अन्‍य सदस्‍य बच्‍चे के प्राइवेट पार्ट को छूता या उसे नुकसान पहुंचाने की कोशिश करता है।

सीक्रेट टच

सीक्रेट टच

गुप्‍त स्‍पर्श को बच्चों में यौन शोषण से जोड़ा जाता है। अगर बलात्कारी छेड़छाड़ या बच्चे के साथ बलात्कार करने की कोशिश करे और फिर उसे इन सब चीजों के बारे में न बताने की चेतावनी दे , तो उसे सीक्रेट टच कहेगें।

उन्‍हें बोलने के लिये कहें

उन्‍हें बोलने के लिये कहें

बच्‍चे को बोलने के लिये प्रोत्‍साहित करें और आगे आने को कहें। अपने बच्‍चे और खुद के बीच में कोई अंतर ना रखें। ऐसा करने से आप छुपी हुई सच्‍चाई को बाहर निकाल सकती हैं।

उन्‍हें न कहना सिखाएं

उन्‍हें न कहना सिखाएं

बच्‍चों के अंदर किसी अंजान को मना करने की क्षमता पैदा करें। ऐसे बहुत से बच्‍चे होते हैं जो अंजान व्‍यक्‍ति के शिकार बड़ी आसानी से बन जाते हैं।

उन्‍हें उनके प्राइवेट पार्ट की जानकारी दें

उन्‍हें उनके प्राइवेट पार्ट की जानकारी दें

यह आपकी जिम्‍मेदारी बनती है कि आप अपने बच्‍चे को उनके प्राइवेट पार्ट के बारे मे सारी जानकारी दें। उन्‍हें बताएं कि यह अंग प्राइवेट है और इसे छूने का हक किसी का नहीं है। इस तरह बच्‍चे अलर्ट हो जाएंगे।

उन्‍हें अपने शरीर का सम्मान करना सिखाएं

उन्‍हें अपने शरीर का सम्मान करना सिखाएं

शरीर का सम्‍मान करन सिखाने से उन्‍हें इस बात की समझ आती है कि किसी अजनबी का उन्‍हें छूना अनुपयुक्‍त है।

उन्‍हें खुद पर भरोसा दिलाएं

उन्‍हें खुद पर भरोसा दिलाएं

उन्‍हें बताएं कि आप हमेशा हर कदम पर उनके साथ बने रहेंगे। इससे उन्‍हें आप पर पूरा भरोसा रहेगा और वह आपसे कुछ भी नहीं छुपाएंगे।

Read more about: kids, बच्‍चे
English summary

Ways To Tell Kids About Sexual Abuse

It is time parents stood up and educated their little kids on sexual abuse. Here are some of the easy and productive ways to tell children about the mean acts of predators in our society.
Please Wait while comments are loading...