अपने बच्चे को खाने की ज़बरदस्ती न करें

Posted By: Super
Subscribe to Boldsky

क्या आप उन माता पिता में से हैं जो अपने बच्चों को खाना पूरी तरह खत्म करने के लिए कहते हैं ताकि वे स्वस्थ रहें? यदि आपका उत्तर हाँ है तो अब वह समय आ गया है जब आपको समझना चाहिए कि आप गलत रास्ते पर जा रहे हैं।

परंतु क्या आप जानते हैं कि बच्चों पर खाने की जबरदस्ती करने के कई दुष्परिणाम होते हैं? इसके कई दुष्परिणाम हैं क्योंकि ये खाने के साथ नकारात्मकता जोड़ते हैं।

बच्चों के कब्ज़ के इलाज के घरेलु नुस्खे

माता पिता होने के नाते आपको यह जानना आवश्यक है कि बच्चों पर खाने की जबरदस्ती करने के क्या दुष्परिणाम होते हैं।

Don't Force Your Kid To Eat

व्यावहारिक बनें और बच्चों की आहार संबंधी स्वस्थ आदतों के बारे में जानें। मोटा होने के लिए खाना और स्वस्थ रहने के लिए खाना दोनों बातें पूरी तरह भिन्न हैं। यदि आपका बच्चा खाने में नखरे दिखाता है तो भी चिंता न करें। उसे स्वस्थ आहार खिलाएं।

यह उनके स्वस्थ भविष्य के निर्माण के लिए बहुत अच्छा होगा। यहाँ हम बच्चों पर खाने की जबरदस्ती करने से होने वाले दुष्परिणामों के बारे में चर्चा करेंगे।

Don't Force Your Kid To Eat

खाने की आदतों पर प्रभाव
ऐसे खाद्य पदार्थ जो बच्चों को पसंद नहीं हैं उन्हें खिलाने की जबरदस्ती करना गलत बात है। इससे वे ऐसा सोचते हैं कि उन्हें अपनी आहार संबंधी आदतों के बारे में निर्णय लेने का कोई अधिकार नहीं है। यह बच्चों पर खाने की जबरदस्ती करने का एक प्रमुख दुष्परिणाम है।

Don't Force Your Kid To Eat

भोजन संबंधी विकार
बच्चों पर खाने की जबरदस्ती करने से बच्चों पर न केवल मानसिक तनाव आता है बल्कि इसका शारीरिक प्रभाव भी पड़ता है। बच्चों पर खाने की जबरदस्ती करने से बीमारियाँ जैसे एनेरेक्सिया (खाने में अरुचि) या ब्युलिमिया (खाना उगलने की आदत) होने की संभावना होती है। इसका प्रभाव थोड़े समय के लिए नहीं रहता बल्कि बच्चों पर इसका प्रभाव काफी समय तक रहता है।

Don't Force Your Kid To Eat

बचपन का मोटापा
आप बच्चों को क्या और कैसे सिखाते हैं, इस पर बच्चों की आदतों का निर्माण होता है। मोटे बच्चे प्यारे लगते हैं परन्तु आवश्यक नहीं कि वे हमेशा स्वस्थ रहें। यदि अब्छों को वे चीज़े खिलाई जाएँ जो उन्हें पसंद नहीं हैं तो इसके कारण बच्चों में मोटापे की समस्या हो सकती है।

प्राकृतिक भूख को प्रभावित करना
हमारा शरीर एक लय पर काम करता है तथा यही बात हमारी भूख पर भी लागू होती है। बिना समय का ध्यान रखे बच्चों पर खाने के लिए जबरदस्ती करने से उनकी प्राकृतिक भूख पर प्रभाव पड़ता है। इससे उनका झुकाव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक विकल्पों की ओर होता है क्योंकि वे अपनी आहार संबंधी आदतों में उचित समय का पालन नहीं करते।

Don't Force Your Kid To Eat

दृष्टिकोण में परिवर्तन
यदि किसी चीज़ में बच्चों की रूचि खो जाती है तो बच्चों से उसे करवाना बहुत कठिन होता है। बच्चों को खाने की जबरदस्ती करने का एक प्रमुख दुष्परिणाम यह होता है कि इससे खाने के प्रति नकारात्मकता का विकास होता है। इससे खाने के प्रति उनका दृष्टिकोण प्रभावित होता है।

पाचन संबंधी गड़बड़ी
बच्चों पर खाने की जबरदस्ती करने का एक प्रमुख दुष्परिणाम यह होता है कि उनमें पाचन संबंधी समस्याएं आ सकती हैं। अस्वस्थ आहार और अनुचित आहार की आदतें इसका प्रमुख कारण है।

Read more about: kids, बच्‍चे
English summary

Don't Force Your Kid To Eat

Did you know that by forcing your kid to eat more might effect his behaviour? We tell you the harmful effects and side effects of forcing kids to eat.
Please Wait while comments are loading...