बच्चों के जीवन में खेल से होने वाले 15 लाभ

Posted By: Super
Subscribe to Boldsky

क्या बच्चों के जीवन में खेल से कोई लाभ है? जी हाँ, बहुत सारे। वास्तव में यदि आप चाहते हैं कि आपके बच्चे का विकास स्वस्थ तरीके से हो तो उसके लिए खेलना बहुत आवश्यक है। यह एक सच्चाई है कि आजकल के बच्चों में मोटापे की समस्या बहुत बढ़ रही है।

इस प्रकार की समस्याओं से निपटने के लिए आवश्यक है कि बच्चे को किसी खेल में लगाया जाए। एक पालक होने के नाते आपको यह जानना आवश्यक है कि बच्चों के जीवन में खेल के क्या फायदे हैं। यदि आप बच्चों को उनके बचपन में खेलने से रोक रहे हैं तो वास्तव में आप उनका बचपन उनसे छीन रहे हैं।

बच्‍चों के लिये 5 एडवेंचर स्‍पोर्ट्स

आजकल चीज़ें बदल गयी हैं और बहुत सी स्कूलों में तो प्लेग्राउंड (खेलने का मैदान) तक नहीं हैं। यह बहुत दुखद है परन्तु यदि आप अपनी आँखें खोल कर देखें तो यदि आप अपने बच्चे को स्कूल के बाद खेलने भेजते हैं तो आप अधिक अच्छे पालक बन सकते हैं।

आइए खेलों से होने वाले फायदों के बारे में चर्चा करें। बच्चों के जीवन में खेल से होने वाले 15 फायदे:

मस्तिष्क का विकास होता है

मस्तिष्क का विकास होता है

एक ताज़ा सर्वेक्षण से पता चला है कि एक्टिव बच्चों में संज्ञानात्मक कौशल का विकास तीव्रता से होता है। निष्क्रिय बच्चों की तुलना में वे अच्छी तरह ध्यान केन्द्रित कर पाते हैं और अपने मस्तिष्क का उपयोग भी अधिक अच्छी तरह कर पाते हैं। यह आपके बच्चे को खेलों में भाग लेने के लिए एक बहुत अच्छा कारण है।

2. सामाजिक कौशल का विकास होता है

2. सामाजिक कौशल का विकास होता है

सामाजिक कौशल बहुत महत्वपूर्ण है। यदि आपका बच्चा खेलों में भाग लेता है तो उनमें सामाजिक कौशल का बहुत अच्छा विकास होता है। खेलों के दौरान आपका बच्चा अन्य बच्चों से मिलता है और उनसे बातचीत करता है। यह उसके समाजिक कौशल के विकास में सहायक होता है।

3. आपका बच्चा टीम वर्क सीखता है

3. आपका बच्चा टीम वर्क सीखता है

जी हाँ, खेलों से हम टीम वर्क का कौशल सीखते हैं। आपका बच्चा सीखता है कि किस प्रकार टीम की विजय में योगदान दिया जा सकता है। यह एक मूल्यवान गुण है। यह उन्हें तब सहयता देता है जब वे बड़े हो जाते हैं और नौकरी करते हैं।

4. मस्तिष्क का विकास भी होता है

4. मस्तिष्क का विकास भी होता है

जब कोई शारीरिक गतिविधि होती है तो हमारे मस्तिष्क या हमारे सिर के अंदर जो अंग है उसका विकास होता है। एक सक्रिय और पूर्ण रूप से विकसित मस्तिष्क आपके बच्चे को जल्दी सीखने और बढ़ने में सहायक होता है। स्वस्थ मस्तिस्क कुशल तरीके से जानकारी संग्रहित और पुन:प्राप्त कर सकता है।

5. खेलों से शारीरिक विकास भी होता है

5. खेलों से शारीरिक विकास भी होता है

यह बताना आवश्यक नहीं है कि खेल या अन्य शारीरिक गतिविधियों से मांसपेशियों का विकास होता है। स्वस्थ हड्डियों और मांसपेशियों के अच्छे विकास के लिए आपको बच्चे को किसी खेल या व्यायाम के प्रति उत्साहित करना चाहिए।

6. अच्छे अंग विन्यास (मुद्रा) के विकास में सहायक

6. अच्छे अंग विन्यास (मुद्रा) के विकास में सहायक

हम सभी यह बात जानते हैं कि खेलों से मज़बूत और अच्छे शरीर का विकास होता है। उचित अंग विन्यास के लिए आपके बच्चे के शरीर की मांसपेशियों का गठबंधन सही तरीके से होना आवश्यक है तथा खेल आपके बच्चे के शरीर के सही विकास में सहायक होता है।

7. स्वस्थ हृदय और स्वस्थ श्वसन

7. स्वस्थ हृदय और स्वस्थ श्वसन

खेलों से संबंधित गतिविधियाँ थोड़ी बहुत कार्डियो वर्क आउट (हृदय से संबंधित व्यायाम) के समान है। आपके बच्चे के फेफड़े अधिक क्षमता से कार्य करते हैं तथा इस प्रकार की गतिविधियों से रक्त परिसंचरण में भी सुधार आता है। बच्चों को खेल में कैसे सहभागी बनायें? खैर उन्हें सिर्फ बेसिक बातें (आधारभूत बातें) बताएं और आगे वह स्वयं ही रूचि दिखाएगा/दिखाएगी।

8. इम्यूनिटी के लिए स्पोर्ट्स फायदेमंद हैं

8. इम्यूनिटी के लिए स्पोर्ट्स फायदेमंद हैं

जब आपका बच्चा खेलों में भाग लेता है तो आपके बच्चे की इम्यूनिटी बढ़ती है। इसके अलावा बच्चे को खुली हवा में छोड़ना अच्छा होता है ताकि उसे अपने आसपास के विश्व का ज्ञान हो सके। वास्तव में जब आपका बच्चा बाहर के विश्व में आता है तभी उसके शरीर में विशेष प्रकार के बैक्टीरिया के प्रति प्रतिरोध विकसित होता है।

9. बच्चा प्रतियोगी भावना सीखता है

9. बच्चा प्रतियोगी भावना सीखता है

आपका बच्चा प्रतियोगिता के विश्व में उतरे उससे पहले उसे यह सिखाना आवश्यक है कि प्रतियोगिता किस प्रकार की जाती है तथा खेल की गतिविधियों के माध्यम से उच्च स्थान पर कैसे पहुंचा जा सकता है।

10. बच्चे में खिलाड़ी भावना आती है

10. बच्चे में खिलाड़ी भावना आती है

जीतना और हारना जीवन का हिस्सा है तथा आपका बच्चा इसे खेल की उन गतिविधियों के माध्यम से सीखता है जिसमें वह हिस्सा लेता है। कभी कभी वह हार भी सकता/सकती है तथा तभी वह बातों को खिलाड़ी भावना से लेना सीखता है।

11. प्रवाह के साथ बहना

11. प्रवाह के साथ बहना

खेल आपके बच्चे को किसी पल में पूर्ण ध्यान केन्द्रित करने में सहायता करता है। जब वह बड़ा होता है तो यह गुण बहुत आवश्यक होता है। यदि आपका बच्चा खेल में हिस्सा नहीं लेना चाहता तो उसे इसके सारे फायदे बतायें।

12. धैर्य

12. धैर्य

खेल की गतिविधियों से शारीरिक सहनशीलता बढ़ती है। क्योंकि प्रत्येक गेम आख़िरी तक खेला जाता है जिससे आपका बच्चा सीखता है कि अधिक समय तक गर्मी में कैसे रहा जाता है। अपने बच्चे को खेलने के लिए कैसे प्रोत्साहित करें? तो अपने बच्चे को प्लेग्राउंड ले जाएँ।

13. सहनशीलता (ताकत)

13. सहनशीलता (ताकत)

प्रत्येक गेम प्रत्येक खिलाड़ी की सहनशीलता के लिए चुनौती के समान होता है। सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा इस प्रकार के खेलों में सहभागी हो ताकि उसकी सहनशीलता बढ़ सके। शारीरिक गतिविधियों में ताकत ही सब कुछ होती है।

14. आपका बच्चा जीत का मूल्य समझता है

14. आपका बच्चा जीत का मूल्य समझता है

जब भी आपका बच्चा कोई गेम जीतता है तो उसे यह बात समझ में आती है कि जीत प्राप्त करना कितना कठिन है। कई सही चालों से ही जीत मिलती है और आपका बच्चा खेल की गतिविधियों के माध्यम से ही इन सब चीज़ों को सीखता है।

15. वह आपको गौरवान्वित कर सकता है

15. वह आपको गौरवान्वित कर सकता है

हर बार जब आपका बच्चा एक ट्रॉफी जीतता है तो आप गर्व महसूस करेंगे। केवल जीतने वाले बच्चों के माता पिता ही बच्चों का यह गर्व महसूस कर सकते हैं। तो आपको भी ऐसे मौके को चखने का अवसर मिल सकता है।

Read more about: kids, बच्‍चे
English summary

बच्चों के जीवन में खेल से होने वाले 15 लाभ

Things have changed nowadays and most of the schools don't even have playgrounds. This is a sad trend but if you open your eyes, you can be a better parent if you help your kid to play sports after school. Now, let us discuss about the benefits of sports.
Please Wait while comments are loading...