प्रसव पश्‍चात् होने वाले अवसाद को दूर करने के घरेलू उपाय

Subscribe to Boldsky

अगर आपने हाल ही में एक बच्‍चे का जन्‍म दिया है और आपको मानसिक रूप से अच्‍छा महसूस नहीं होता है तो उम्‍मीद है कि आप, प्रसव पश्‍चात् अवसाद से ग्रसित हैं जिसे पोस्‍टपार्टम ब्‍लूज़ भी कहा जाता है।

प्रसव के बाद होने वाला अवसाद, एक ऐसी स्थिति है जिसमें नई माता में अवसाद के लक्षण प्रकट होने लगते हैं जिसका प्रभाव स्‍वयं उसके स्‍वास्‍थ्‍य और उसकी संतान के स्‍वास्‍थ्‍य पर भी पड़ता है। बच्‍चे को जन्‍म देना और अभिभावक बनना बहुत ही तनावपूर्ण होता है क्‍योंकि अचानक से आप पर एक बहुत बड़ी जिम्‍मेदारी आ जाती है।

अध्‍ययनों से पता चला है कि प्रसव के बाद लगभग 60 प्रतिशत महिलाएं, इस प्रकार के अवसाद से ग्रसित हो जाती है। हालांकि, इस प्रकार के अवसाद के कारणों के बारे में कुछ भी स्‍पष्‍ट नहीं है, विशेषज्ञ मानते हैं कि ऐसा हारमोन में आने वाले परिवर्तनों के कारण होता है, या फिर उनमें एक बच्‍चे की जिम्‍मेदारी आ जाने का डर अंदर समां जाता है।

cover

प्रसव पश्‍चात् होने वाले अवसाद के प्रमुख लक्षण, थकान, दुखी होना, कम आत्‍मसम्‍मान, सेक्‍स में रूचि न होना, तनाव, चिंता, सामाजिक रूप से कट जाना आदि होते हैं। हर महिला में इसका अलग स्‍तर होता है। कई बार ये इतना गंभीर हो जाता है कि महिला खुद को या बच्‍चे तक को नुकसान पहुँचा सकती है।

इस अवसाद को कभी भी हल्‍के में न लें। मरीज को चिकित्‍सक को तुंरत दिखलाएं, उसे परिवार और मित्रों का पूरा समर्थन दें । साथ ही उसे शारीरिक और मानसिक रूप से सहारा दें। इससे कुछ ही दिनों में उसे आराम मिल जाएगा। लेकिन कुछ घरेलू उपाय ऐसे हैं जिनकी मदद से इस अवसाद से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है। जानिए इस बारे में:

blueberry

आवश्‍यक सामग्री-

  • ब्‍लूबेरी - 3 या 4
  • गाजर का जूस - 1/2 कप

बनाने की विधि -

  1. सबसे पहले बताई गई सामग्री को एक ब्‍लेंडर में डालें।
  2. इस मिश्रण को अच्‍छे से पीस लें।
  3. अब इस मिश्रण का सेवन, दिन में दो बार (नाश्‍ते और दोपहर के भोजन के बाद) करें। इसे मरीज को दो महीनों तक पीना होगा।
carrot

इस प्राकृतिक उपाय से प्रसव बाद होने वाला अवसाद कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है और अगर आप इसे पूरे दो महीने पी लें तो आपको कभी भी ऐसी समस्‍या नहीं होगी।

साथ ही शरीर में भरपूर ऊर्जा का एहसास होगा। इसके अलावा, महिला को प्रतिदिन मेडीटेशन करना चाहिए। अगर उसे बहुत ज्‍यादा दिक्‍कत महसूस हो रही हो तो बिना देर किए तुंरत डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करें।

आपको बता दें कि ऊपर बताएं गए उपचार में प्रमुख सामग्री ब्‍लूबेरी है जिसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो ब्रेन में सेरोटोनिन नामक हारमोन के स्‍त्रावन में मदद करता है जिससे रक्‍त का संचार अच्‍छा हो जाता है और व्‍यक्ति को खुश महसूस होने लगता है।

English summary

Best Home Remedy To Treat Postpartum Depression

Here is a home remedy that can help treat postpartum depression.
Please Wait while comments are loading...