लहसुन के 15 स्वास्थ्य लाभ

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

इंडियन करी, लहसुन के बिना अधूरी है - यह एक साधारण सी सामग्री है जो कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभों से भरपूर है। यह बहुत तेज और खराब स्‍वाद वाला होता है लेकिन इसके डालने से खाने का स्‍वाद और जायका दोनों ही बदल जाते है। अगर लहसुन के गुणों के बारे में बात की जा रही है तो उसके मेडीकल वैल्‍यू को बताना सबसे जरूरी होता है। इस चमत्‍कारी जड़ी - बूटी का उपयोग पिछले कई सालों से कई रोगों को दूर भगाने के लिए किया जाता है।

लहसुन में सल्‍फर युक्‍त यौगिकों की मात्रा काफी होती है इसी वजह से इसकी गंध तीखी होती है। इसमें पाएं जाने तत्‍वों में एक ऐलीसिन भी है जिसे ग्रेट एंटी - बैक्‍टीरियल, एंटी - फंगल और एंटी - ऑक्‍सीडेंट के रूप में जाना जाता है। अगर लहसुन को महीन काटकर बनाया जाता है तो उसके खाने से अधिक लाभ मिलता है।

लहसुन, सेलेनियम का भी अच्‍छा स्‍त्रोत होता है। ऐलीन के साथ - साथ इसमें अन्‍य तत्‍व भी होते है जैसे - एजोने, एलीनि आदि जिनसे शरीर के संचार, पाचन और प्रतिरक्षा प्रणाली पर विशेष और सकारात्‍मक प्रभाव पड़ता है। इसके सेवन से ब्‍लड़ - प्रेशर, डिटोक्‍सीफिकेशन, सूजन आदि में भी राहत मिलती है।

यहां लहसुन के 15 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बारे में बताया जा र‍हा है :

1) एंटी- बैक्‍टीरियल और एंटीवायरल

1) एंटी- बैक्‍टीरियल और एंटीवायरल

एंटी- बैक्‍टीरियल और एंटीवायरल के लाभ के लिए लहसुन को विशेष रूप से जाना जाता है। इसकी मदद से बैक्‍टीरियल संक्रमण को रोकने में सहायता मिलती है, इसके सेवन से वायरल, फंगल, यीस्‍ट और वॉर्म संक्रमण भी नहीं होता है। ताजे लहसुन के सेवन से फूड पॉयजिनिंग होने का खतरा नहीं रहता है क्‍योंकि यह ई. क्‍वॉयल, सालमोनेला, एंटररिटडिस आदि को मार देता है।

2) स्‍कीन इंफ्केशन को खत्‍म करता है

2) स्‍कीन इंफ्केशन को खत्‍म करता है

लहसुन के नियमित सेवन से स्‍कीन में हुए संक्रमण भी समाप्‍त हो जाते है जैसे - रिंगवॉर्म या एथलीट फुट आदि।

3) खून को पतला करता है

3) खून को पतला करता है

लहसुन में एंटी - क्‍लाटिंग गुण होते है जो खून को पतला करने में सहायक होते है और शरीर में खून के थक्‍के बनने से रोकते है। अत: इससे चोट लगने के बाद, खून बहने का ड़र भी नहीं रहता है।

4 ) ब्‍लड़ - प्रेशर को कम करता है

4 ) ब्‍लड़ - प्रेशर को कम करता है

मंतज एंगीओटेंसीन 2 एक प्रकार का प्रोटीन होता है जो हमारी रक्‍त वाहिकाओं को कंट्रोल करता है, लहसुन में एलीसिन होता है जो एंगीओटेंसीन की हर प्रतिक्रिया को रोक देता है और इससे ब्‍लड़ प्रेशर कंट्रोल में आ जाता है। लहसुन में पॉलीसल्‍फाइड भी होता है जो हाइड्रोजन सल्‍फाइड में बदल जाता है जिसे रेड ब्‍लड़ सेल्‍स बदलती है। हाइड्रोजन सल्‍फाइड, हमारी ब्‍लड़ वेसेल्‍स को फैला देती है और ब्‍लड़ प्रेशर को कंट्रोल में करती है।

5) दिल को सुरक्षित रखता है

5) दिल को सुरक्षित रखता है

लहसुन हमारे दिल को सुरक्षित बनाएं रखने में मदद करता है और हार्ट - अटैक और एथ्रेरोस्‍लेरोसिस से होने वाली दिक्‍कतों से बचाता है। इसमें दिल को सुरक्षित रखने वाले तत्‍व होते है जिनके सेवन से दिल को आसानी से स्‍वस्‍थ बनाया जा सकता है। उम्र के साथ, धमनियां खिंचाव करने की क्षमता खो देती है। लहसुन, इसे कम कर देता है और दिल को ऑक्‍सीजन रेडीकल्‍स के प्रभाव से बचाता है ताकि हार्ट को कोई नुकसान न पहुंचे। इसके सल्‍फर युक्‍त यौगिक हमारी रक्‍त वाहिकाओं को अवरूद्ध होने से बचाता है जिसकी वजह से एथ्रेरोस्‍लेरोसिस की दिक्‍कत खत्‍म हो जाती है। लहसुन की एंटी - क्‍लॉटिंग प्रॉपर्टी, रक्‍त वाहिकाओं में खून के थक्‍के बनाने से रोकती है।

6) कोलेस्‍ट्रॉल को कम करता है

6) कोलेस्‍ट्रॉल को कम करता है

लहसुन में कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने का गुण होता है। यह हमारे शरीर में खून में ट्राइग्लिसराइड्स की मात्रा को मेंटेन करता है, इससे कोलेस्‍ट्रॉल अपने आप कम हो जाता है।

7) एलर्जी को दूर भगाता है

7) एलर्जी को दूर भगाता है

लहसुन में एंटी - इंफ्लामेटरी प्रॉपर्टी होती है जिसकी मदद से एलर्जी को दूर भगाया जा सकता है। लहसुन की एंटी - आर्थीटिक प्रॉपर्टी की सहायता से डायली सल्‍फाइड और थियासेरेमोनोने भी मेंटेन रहते है। इसमें एलर्जी से लड़ने वाले कई तत्‍व होते है। अगर लहसुन के जूस को पिया जाएं तो रैसज या चकत्‍ते पड़ने की समस्‍या भी दूर हो जाती है।

8) सांस की समस्‍या का निदान

8) सांस की समस्‍या का निदान

लहसुन के नियमित सेवन से सांस की समस्‍या में आराम मिलता है, इससे सर्दी - जुकाम में राहत मिलती है। इसके एंटी - बैक्‍टीरियल तत्‍व, गले में होने वाले संक्रमण को भी दूर भगाता है। श्‍वास सम्‍बंधी कई समस्‍याएं जैसे - अस्‍थमा, सांस लेने में तकलीफ आदि के लिए लहसुन रामबाण दवा है। इसके सेवन से कई गंभीर समस्‍याओं का समाधान भी हो जाता है।

9) डायबटीज

9) डायबटीज

लहसुन, शरीर में इन्‍सुलिन की मात्रा को बढ़ा देती है जिससे डायबटीज की बीमारी में राहत मिलती है क्‍योंकि इससे ब्‍लड़ सुगर लेवल सही बना रहता है।

10) वॉर्ट्स और कॉर्न्स के खिलाफ प्रभावी

10) वॉर्ट्स और कॉर्न्स के खिलाफ प्रभावी

लहसुन से अंगो पर होने वाली बीमारी वॉर्ट्स और कॉर्न्स को कंट्रोल किया जा सकता है।

11) कैंसर की रोकथाम

11) कैंसर की रोकथाम

लहसुन का नियमित सेवन करने से कैंसर होने का खतरा काफी कम रहता है। लहसुन में एंटी - कैंसर प्रॉपर्टी पाई जाती है जिसे एली - सल्‍फाइड होती है। इसमें एक तत्‍व होता है पिल्‍प, जो एक प्रकार का हेट्रोसाइक्लिक एमीन होता है जिसकी सहायता से कोशिकाओं में असामान्‍य वृद्धि कम होती है। महिलाओं में लहसुन के सेवन से ब्रेस्‍ट कैंसर होने के चांस काफी कम हो जाते है।

12) आयरन मेटाबोलिज्‍म में सुधार

12) आयरन मेटाबोलिज्‍म में सुधार

फेरोपोरटिन, एक प्रोटीन होता है जो बॉडी में आयरन की खपत को बढाता है और उसे पचाने में मदद करता है। लहसुन में डायली - सल्‍फाइड होता है जो फेरोपोरटिन की मात्रा को बढा देता है और आयरन मेटाबोलिज्‍म में सुधार कर देता है।

13) पैशन को बनाएं रखता है

13) पैशन को बनाएं रखता है

लहसुन के सेवन से हमेशा कामोत्‍तेजना बनी रहती है क्‍योकि यह बॉडी में अच्‍छी तरह से परिसंचरण को बढाता है।

14) दांतों के दर्द में आराम दिलाता है

14) दांतों के दर्द में आराम दिलाता है

लहसुन के सेवन से दांतों के दर्द में आराम मिलता है। दांतों में दर्द होने पर लहसुन को कच्‍चा पीसकर दांतों पर रख लें, इससे तुंरत आराम मिलेगी क्‍योंकि लहसुन में एंटी - बैक्‍टीरियल तत्‍व होते है जो दांत पर सीधा प्रभाव डालते है।

15) वजन को घटाता है

15) वजन को घटाता है

कई शोधकर्ताओं ने अपने शोध में यह निष्‍कर्ष निकाला है कि लहसुन के सेवन से वजन को घटाया जा सकता है, क्‍योंकि इसमें हमारे शरीर में बनने वाली वसा कोशिकाओं को विनियमित करने की क्षमता है जिससे वजन आसानी से घट जाता है। इसमें प्री - एडीपोसाइट्स होते है जो वसा कोशिकाओं को घटा देते है। लहसुन में 1,2 - डीटी ( 1,2 विनयालिडीन ) भी पाया जाता है जो वजन को कम करता है।

English summary

15 Health Benefits Of Garlic

Indian curries are incomplete without garlic – a simple ingredient with packed health benefits. It is very strong and bitter but adds an unbelievable flavour to the cuisine.
Please Wait while comments are loading...