For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

जानिये कुछ लोंगो को नमक खाने की तलब क्‍यों लगती है?

By Aditi Pathak
|

नमक, भोजन में सबसे महत्‍वपूर्ण तत्‍व होता है। किसी भी पाककला का भोजन आप खाएं, उसमें नमक अवश्‍य पड़ा होता है। वैसे तो नमक का काम, भोजन के मसालों के स्‍वाद को बांधना होता है।

लेकिन अगर इसका सेवन सही तरीके से न किया जाएं तो शरीर में कई दिक्‍कतें भी हो सकती हैं। किडनी में समस्‍या, हार्ट की समस्‍या और उच्‍च रक्‍तचाप की दिक्‍कत हो जाती है।

कुछ लोग, काफी ज्‍यादा नमक का सेवन करते हैं जितना कि उनके शरीर को आवश्‍यकता नहीं होती है। लेकिन ऐसा क्‍यँ होता है और क्‍या इसके पीछे भी कोई वजह हो सकती है जिसे अभी तक साइंस ने प्रुफ किया हो। आइए जानते हैं इस बारे में कुछ प्रमुख बातें:

 थोड़ा भी ज्‍यादा रखता है मायने -

थोड़ा भी ज्‍यादा रखता है मायने -

अगर आप कहीं भी कभी भी कुछ भी खाते हैं और आपको ऐसा लगता है कि खाने में नमक कम है तो आप समझ लें कि आपको नमक की लत लग चुकी है। शरीर में 250 मिलीग्राम सोडियम की मात्रा आवश्‍यक होती है जो कि रक्‍त, मूत्र और पसीने के रूप में शरीर में घुली रहती है। इसलिए आपको दिन में सिर्फ 200 मिलीग्राम नमक लेने की ही आवश्‍यक होती है

 क्‍यूँ करता है नमक को खाने या चाटने का मन?

क्‍यूँ करता है नमक को खाने या चाटने का मन?

कई लोगों को ज्‍यादा मात्रा में नमक का सेवन करने की आदत होती है। यहां इस बारे में कुछ प्रमुख कारण दिए गए हैं:

निर्जलीकरण भी है एक कारण

निर्जलीकरण भी है एक कारण

अगर किसी को अधिक डायरिया हो जाता है, बहुत ज्‍यादा पसीना निकलता है या उल्‍टियां होती है तो ऐसे में नमक को खाने का मन करता है। शरीर में पानी की कमी होने पर अक्‍सर ऐसा होता है। चूँकि पसीने, मूत्र, उल्‍टी या दस्‍त के दौरान शरीर से पानी की अधिक मात्रा निकल जाती है और रोगी का शरीर सोडियम की अधिक मात्रा की मांग करता है।

 व्‍यायाम के बाद नमक की तलब लगने का कारण -

व्‍यायाम के बाद नमक की तलब लगने का कारण -

कई लोगों को वर्कआउट करने के बाद नमक की ज्‍यादा तलब लगती है। क्‍योंकि उनके शरीर में बड़ी मात्रा में पसीना और थूक निकल जाता है जिसकी वजह से शरीर में सोडियम की कमी हो जाती है। एक अध्‍ययन में कहा गया है कि शरीर को सोडियम के निकल जाने पर कमजोरी आ सकती है ऐसे में टमाटर का सूप बहुत फायदा करता है। युवावस्‍था में इस बात को अवश्‍य ध्‍यान में रखना चाहिए।

 मिनरल्‍स की कमी -

मिनरल्‍स की कमी -

अगर शरीर में मिनरल्‍स की कमी होती है तो नमक का सेवन करने का मन होता है। ऐसे में व्‍यक्ति को ध्‍यान देना चाहिए कि वो कुछ पौष्टिक आहार का सेवन करें। शरीर में पौटेशियम, कैल्शियम और आयरन की मात्रा को संतुलित रखने के लिए आवश्‍यक खाद्य सामग्री का सेवन करें।

 एडिसन बीमारी -

एडिसन बीमारी -

इस बीमारी में एड्रिनल हारमोन्‍स सम्‍बंधी विकार होते हैं जो शरीर के पानी और नमक के स्‍तर पर प्रभाव डालते हैं। इस बीमारी से पीडित लोगों को थकान, भूख की कमी, वजन का गिरना, कम रक्‍तचाप, चक्‍कर आना आदि समस्‍याएं होती हैं। साथ ही अवसाद और चिड़चिड़ापन भी होता है। ऐसे में व्‍यक्ति को नमक आने से अच्‍छा महसूस होता है।

नमक की लत

नमक की लत

शोधकर्ताओं ने हाल ही में एक शोध में यह निष्‍कर्ष भी निकाला है कि नमक खाने की आदत भी कुछ लोगों को हो जाती है क्‍योंकि उन्‍हें उसका नमकीन टेस्‍ट अच्‍छा लगता है। इसे लत को ''सॉल्‍टी फूड एडिक्‍शन'' कहा जाता है। यह लत, डोपामाइन को स्टिीम्‍युलेट करती है और ब्रेन को सुख का अहसास देती है।

English summary

Why Do I Crave Salty Foods?

For some people, salt cravings can mean they’re eating much more salt than their body needs. But what brings on these cravings? And are they a sign of some underlying problem or deficiency?
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more