For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

साइनस संक्रमण और सामान्य सर्दी के बीच अंतर क्या है, जानें कैसे मालूम करें

|

अगर आपकी नाक बह रही हैं और आपको खांसी हैं जिसकी वजह से गले में खराश पैदा हो रही है, तो आपको लगता है क‍ि आपको मामूली सा जुकाम या सर्दी है जो कुछ दवाओं की सहायता से जल्‍द ही ठीक हो जाएगा। ये कभी-कभी सर्दी और जुकाम की जगह साइनस इंफेक्‍शन भी हो सकता है, जो दिखता हल्‍के जुकाम की तरह ही है।

अगर इन दोनों स्थितियों में कुछ समानताएं होती है और कुछ अंतर, आइए जानते हैं कैसे साइनस और जुकाम के आधार पर पहचान करें और उनका इलाज करें।

जुकाम Vs साइनस इंफेक्‍शन

जुकाम Vs साइनस इंफेक्‍शन

जुकाम या सर्दी एक वायरस के कारण होने वाला संक्रमण है जो आपकी नाक और गले सहित आपके ऊपरी श्वसन तंत्र में घर बना लेता है। 200 से अधिक विभिन्न वायरस सर्दी पैदा करने में सक्षम होते हैं, हालांकि ज्यादातर जुकाम और सर्दी होने के पीछे एक खास क‍िस्‍म का वायरस कसूरवार होता है जिसे राइनोवायरस कहा जाता है।

सर्दी या जुकाम बहुत हल्की हो सकती है कि आपको केवल कुछ दिनों के लिए लक्षण हो सकते हैं, या ज्‍यादा से ज्‍यादा हफ्तों तक ये समस्‍या हो सकती है।

चूंकि एक सामान्य सर्दी एक वायरस के कारण होती है, इसलिए इसका एंटीबायोटिक दवाओं से प्रभावी ढंग से इलाज नहीं किया जा सकता है। कुछ दवाएं लक्षणों को कम करने में मदद कर सकती हैं, लेकिन आमतौर पर आराम ही सर्दी के वायरस को मात देने का मुख्य तरीका है।

वहीं बात करें साइनस संक्रमण की, जो साइनस की सूजन का कारण बनता है, जिसे साइनसिसिटिस भी कहा जाता है, आमतौर पर ये बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन के वजह से होता है, हालांकि यह क‍िसी वायरस या कवक की वजह से होता है। कुछ मामलों में, आम सर्दी के बाद साइनस इंफेक्‍शन की समस्‍या भी हो सकती है।

सर्दी आपके साइनस की परत में सूजन का कारण बन सकती है, जिससे उनके लिए ठीक से बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है। इससे बलगम साइनस केविटी में फंस सकता है, जो बदले में, बैक्टीरिया के बढ़ने और फैलने के लिए एक आमंत्रित वातावरण बना सकता है।

आपको तीव्र साइनस संक्रमण या क्रोनिक साइनसिसिस हो सकता है। एक तीव्र साइनस संक्रमण एक महीने से भी कम समय तक रहता है। क्रोनिक साइनसिसिस तीन महीने से अधिक समय तक रहता है, और लक्षण नियमित रूप से आ और जा सकते हैं।

लक्षण क्या हैं?

लक्षण क्या हैं?

सर्दी और साइनस इंफेक्‍शन समान लक्षण:

जकड़न

बहती या भरी हुई नाक

सिरदर्द

पोस्ट नेज़ल ड्रिप

खांसी

बुखार, हालांकि सर्दी के साथ, यह एक निम्न श्रेणी का बुखार होता है

थकान, या ऊर्जा की कमी

संक्रमण शुरू होने के कुछ दिनों के भीतर ठंड के लक्षण आमतौर पर सबसे खराब होते हैं, और फिर वे आमतौर पर 7 से 10 दिनों के भीतर कम होने लगते हैं। साइनस संक्रमण के लक्षण दो बार लंबे या अधिक लंबे समय तक रह सकते हैं, खासकर उपचार के बिना।

साइनस इंफेक्‍शन के लक्षण

साइनस इंफेक्‍शन के लक्षण

साइनस इंफेक्‍शन

के लक्षण एक सामान्य सर्दी के समान होते हैं, हालांकि कुछ सूक्ष्म अंतर होते हैं। एक साइनस संक्रमण साइनस दर्द और दबाव का कारण बनता है। आपके साइनस आपके चीकबोन्स के पीछे और आंखों और माथे के आसपास स्थित हवा से भरी कैविटी हैं। जब उनमें सूजन हो जाती है, तो इससे चेहरे में दर्द हो सकता है। साइनस इंफेक्‍शन की वजह से दांतों में दर्द हो सकता है, हालांकि आपके दांतों का स्वास्थ्य आमतौर पर साइनस इंफेक्‍शन से प्रभावित नहीं होता है। साइनस इंफेक्‍शन की वजह से मुंह में खट्टापन और खराब सांस का कारण बन सकता है, खासकर यदि आप पोस्टनैजल ड्रिप का अनुभव कर रहे हैं।

ठंड के लक्षण

ठंड के लक्षण

ठंड लगने पर छींके आने लगती है, जबक‍ि साइनस में ऐसा कुछ नहीं होता है। इसी तरह, साइनस संक्रमण के बजाय गले में खराश सर्दी का अधिक सामान्य लक्षण है।

हालांकि, यदि आपका साइनसाइटिस बहुत अधिक पोस्टनासल ड्रिप का उत्पादन कर रहा है, तो आपको गले में खराश और असहज महसूस हो सकता है।

खतरें क्‍या हैं?

खतरें क्‍या हैं?

जोखिम कारक क्या हैं?

सर्दी बहुत संक्रामक होती है। छोटे बच्‍चें जल्‍द ही सर्दी और बैक्टीरिया के संक्रमण के चपेट में आ जाते है, लेकिन साइनस क‍िसी भी उम्र के लोगों को हो सकता है।

आपके साइनस कैविटी में नेज़ल पॉलीप्स (साइनस में छोटी वृद्धि) या अन्य अवरोध होने से साइनस संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इन अवरोधों से सूजन और खराब जल निकासी हो सकती है जो बैक्टीरिया को बढ़ावा दे सकता है।

यदि आपकी कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली है तो आपको सर्दी या जीवाणु संक्रमण के लिए भी जोखिम बढ़ सकता है।

डॉक्टर को कब दिखाना है

यदि सर्दी के लक्षण आते हैं और चले जाते हैं, या कम से कम एक सप्ताह के भीतर काफी सुधार हो रहा है, तो शायद आपको डॉक्टर को देखने की आवश्यकता नहीं है।

यदि आपको जकड़न, साइनस का दबाव और अन्य लक्षण बने रहते हैं, तो अपने चिकित्सक से मिलें या तत्काल देखभाल क्लिनिक में जाएँ। संक्रमण के इलाज के लिए आपको दवा की आवश्यकता हो सकती है।

3 महीने से कम उम्र के शिशुओं के लिए, 100.4 ° F (38 ° C) से अधिक बुखार जो एक दिन से अधिक समय तक बना रहता है, उन्‍हें तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

English summary

Difference Between Sinus Infection and Cold: Know Symptoms, Risks and Treatment in Hindi

Sinus Infection vs Cold: The two conditions share many symptoms, but there are some signs for each. Learn more about the similarities and differences, and how to identify and treat each condition.
Story first published: Friday, September 24, 2021, 12:44 [IST]