For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

नाक के अंदर न‍िकल गई फुंसी, जानें वजह और उपाय

|

नाक की त्‍वचा पर मुंहासे तो कई बार हो जाते है। कभी-कभी पेट की गढ़बढ़ी और गर्मी के कारण नाक के अंदर फुंसी हो जाती है। जिससे नाक में सूजन और जलन का अहसास होने लगता है। नाक के अंदर होने वाली फुंसी का असर नाक की उपास्थि और अस्थि पर भी पड़ता है इससे नाक से गाढ़ा मवाद निकलने लगता है। कभी-कभी इसकी वजह काफी दर्द भी होने लगता है। अगर इन कुछ बातों का ध्‍यान रखें जाएं तो इस समस्‍या से बचा जा सकता है।

नाक में फुंसी होने के कारण

नाक में फुंसी होने के कारण

नाक के अंदर फुंसी होना थोड़ा परेशान करने वाली स्थिति होती है। फुंसी तब होती है जब त्‍वचा के छिद्रों में तेल या मृत त्‍वचा एकत्रित होने लगती है। कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली और शुगर से ग्रस्‍त लोगों को फुंसी होने का जोखिम अधिक होता है। कई बार साफ-सफाई के अभाव में भी नाक में फुंसी निकल जाती है।

नाक में फुंसी निकलने के लक्षण

नाक में फुंसी निकलने के लक्षण

नाक के अंदर जब दर्द महसूस लगे।

नाक के अंदर खुजली और सूजन आना भी फुंसी निकलने का लक्षण हो सकता है।

सांस लेते वक्‍त नाक बंद होने का अहसास होना।

सूंघने के शक्ति कम हो जाती है।

नाक में फुंसी निकलने के कारण

नाक में फुंसी निकलने के कारण

हाथों को बिना साफ किए नाक में उंगली डालने की वजह से।

कई बार नाक के अंदर मौजूद बालों के टूटने पर भी फुंसी निकल आती है।

बैक्टीरियल इंफेक्शन भी नाक की फुंसी का कारण हो सकता है।

नाक के अंदर निकले छोटे से दाने को अगर आप नोच दें तो वह फुंसी का रूप ले सकता है।

बर्फ से करें सिंकाई

बर्फ से करें सिंकाई

अगर नाक के अंदर फुंसी निकलने की वजह से दर्द और जलन हो रही है तो आप बर्फ से उसकी सिंकाई करें। बर्फ से इंफ्लेमेशन दूर होती है और दर्द एवं जलन में भी राहत मिलती है। इतना ही नहीं, बर्फ स्किन पोर्स में जमी गंदगी को भी साफ करती है, जो फुंसियों और मुंहासों का कारण बनती है।

 सेंधा नमक से नाक को साफ करें

सेंधा नमक से नाक को साफ करें

सेंधा नमक को एप्‍सम सॉल्‍ट भी कहा जाता है। नाक के अंदर दाना या फुंसी निकल आई है तो आप सेंधा नमक के पानी से नाक को दिन में 2 से 3 बार साफ करें। इसके अलावा आप सेंधा नमक के पानी से नाक की सिंकाई भी कर सकते हैं।

टी- ट्री ऑयल लगाएं

टी- ट्री ऑयल लगाएं

टी-ट्री एसेंशियल ऑयल एंटी-बैक्‍टीरियल होता है। इसे लगाने से काफी हद तक नाक में सूजन और जलन की समस्‍या दूर हो जाती है और फुंसी खत्‍म हो जाती है।

English summary

Pimple Inside Nose: Causes, Treatment, and Home Remedies in Hindi

When an infected furuncle in the nose causes a blood clot to form in this vein, thrombosis is the result.
Story first published: Saturday, July 31, 2021, 13:32 [IST]