For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

न्यूयॉर्क के गटर के पानी में मिला पोलियोवायरस, जानिए कितनी घातक है ये बीमारी

|

पोलियो एक अत्यधिक संक्रामक रोग है, जिसका मुख्य कारण वायरस होता है। यह वायरस व्यक्ति के तंत्रिका तंत्र पर आघात पहुंचाता है। जिससे व्यक्ति को पैरालिसिस होने तक की संभावना कई गुना बढ़ जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन का भी कहना है कि पोलियो से प्रभावित होने वाले हर 200 में से 1 व्यक्ति को पैरालिसिस होता है। यह एक ऐसी समस्या है, जो सिर्फ देश ही नहीं, दुनियाभर में लोगों को प्रभावित कर सकती है। हाल ही में, न्यूयॉर्क शहर में भी न्यूयॉर्क शहर के अपशिष्ट जल में पोलियोवायरस का पता चला है, जिससे इसका बिना टीकाकरण वाले लोगों के बीच फैलने की संभावना कई गुना बढ़ गई है। तो चलिए विस्तारपूर्वक जानते हैं इस बारे में-

अधिकारियों ने की पुष्टि

अधिकारियों ने की पुष्टि

न्यूयॉर्क शहर में पोलियोवायरस के पता चलने के बाद रिस्क काफी बढ़ चुका है। न्यूयॉर्क स्टेट डिपार्टमेंट ऑफ़ हेल्थ और न्यूयॉर्क सिटी डिपार्टमेंट ऑफ़ हेल्थ एंड मेंटल हाइजीन ने रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र को सीवेज के नमूने प्रदान किए, जिसने पोलियोवायरस की उपस्थिति की पहचान की। हालांकि, स्वास्थ्य अधिकारियों ने यह नहीं बताया कि पांच नगरों में वायरस कहां पाया गया। अधिकारियों के अनुसार, पोलियो के सैकड़ों मामले गैर-टीकाकृत न्यूयॉर्क वासियों में फैल सकते हैं। जैसा कि न्यूयॉर्क शहर के अधिकारी मंकीपॉक्स टीकाकरण की मांग को पूरा करने के साथ-साथ पोलियो वायरस के टीकाकरण पर भी जोर देते हैं।

क्या है पोलियो वायरस

क्या है पोलियो वायरस

पोलियो एक ऐसा रोग है, जो वायरस का कारण होता है। यह बहुत अधिक घातक हो सकता है। इसके कारण व्यक्ति को हाथ और पैर में पक्षाघात हो सकता है और इसके परिणामस्वरूप मृत्यु हो सकती है।

टीकाकरण है आवश्यक

टीकाकरण है आवश्यक

पोलियोवायरस लार या मल के माध्यम से फैलता है - लेकिन टीकाकरण से इसे रोका जा सकता है। ऐसे में, न्यूयॉर्क के अधिकारी बच्चों सहित गैर-टीकाकरण वाले व्यक्तियों से जल्द से जल्द पोलियो से प्रोटेक्शन के लिए टीकाकरण करने का आग्रह कर रहे हैं। स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. अश्विन वासन ने एक बयान में कहा, "न्यूयॉर्कवासियों के लिए खतरा वास्तविक है लेकिन बचाव इतना आसान है - पोलियो का टीका लगवाएं।"

"समुदायों में पोलियो के प्रसार के साथ बच्चों को इस वायरस से बचाने के लिए टीकाकरण से अधिक आवश्यक कुछ भी नहीं है। यदि आपने टीकाकरण नहीं करवाया है या फिर टीकाकरण पूरा नहीं हुआ है तो ऐसे में टीकाकरण को अभी चुनें। पोलियो पूरी तरह से रोका जा सकता है और इसके दोबारा नजर आने पर तत्काल कार्रवाई करें। वासन ने नोट किया।

"केवल वे लोग हैं जिन्हें चिंता करने की ज़रूरत है, जिन्होंने अभी तक टीकाकरण नहीं करवाया हैं क्योंकि टीके पोलियो के गंभीर रूपों के खिलाफ बेहद सुरक्षात्मक हैं, जैसे कि कोविड के टीके। बच्चों को लकवाग्रस्त पोलियो का सबसे अधिक खतरा होता है, इसलिए बचपन में बच्चों को सभी आवश्यक टीके लगवाने चाहिए।

क्या पोलियो का प्रकोप हो सकता है?

क्या पोलियो का प्रकोप हो सकता है?

सीडीसी के अनुसार, बच्चों की सर्वोत्तम सुरक्षा के लिए पोलियो टीके की 4 खुराकें लेना आवश्यक है। न्यूयॉर्क टाइम्स रिपोर्ट करता है कि न्यूयॉर्क शहर में 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में पोलियो के लिए कुल टीकाकरण दर 86 प्रतिशत है। लेकिन शहर के अन्य हिस्सों में, 5 वर्ष और उससे कम उम्र के दो-तिहाई से भी कम बच्चों को पोलियो के खिलाफ पूरी तरह से टीकाकरण किया जा चुका है।

इसके अलावा, सीडीसी वयस्कों के लिए भी एक बार इनएक्टिवेटिड पोलियो वैक्सीन बूस्टर शॉट की सिफारिश करता है, जो न्यूयॉर्क जैसे क्षेत्रों में वायरस के संपर्क में आ सकते हैं और जहां यह बीमारी वर्तमान में फैल रही हो सकती है।

आम तौर पर इम्यूनो कॉम्प्रोमाइज्ड रोगियों के लिए बूस्टर की सिफारिश की जाती है। ऐसे लोगों में वायरस फैलने की संभावना अधिक होती है।

English summary

Poliovirus Detected In Nyc Wastewater In Hindi

Recently poliovirus detected in nyc wastewater. Know the risk factor and prevention tips.
Story first published: Tuesday, August 16, 2022, 15:35 [IST]
Desktop Bottom Promotion