For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

नमक में कटौती से हाई ब्‍लड प्रेशर की शिकायत नहीं होती है, हाई बीपी की ऐसी 5 बातों पर भरोसा न करें

|

हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन, पिछले एक दशक में तेजी से बढ़ती गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है। इसे साइलेंट क‍िलर भी कहते हैं। हेल्‍दी ब्‍लड प्रेशर उन संकेतों में से एक है जो शरीर के स्वस्थ तरीके से काम करने का संकेत देता हैं। रक्तचाप में परिवर्तन आपकी हेल्‍थ कंडीशन की तरफ से इशारा करता है। हाई ब्लड प्रेशर और लो ब्लड प्रेशर दोनों ही आपकी सेहत के लिए हानिकारक हैं। उच्च रक्तचाप, जिसे उच्च रक्तचाप के रूप में भी जाना जाता है, आपको हृदय रोग के उच्च जोखिम में डाल सकता है जबकि निम्न रक्तचाप या हाइपोटेंशन से चक्कर आ सकते हैं और आपके हृदय स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। बहुत से लोग रक्तचाप में इन प्रमुख उतार-चढ़ाव के सटीक कारणों से अवगत नहीं हैं। रक्तचाप से जुड़ी ऐसी कई मिथक या भ्रांतियां हैं जो व्यक्तियों को सही रोकथाम के कदमों का पालन करने से रोकती हैं। इस लेख में, रक्तचाप के बारे में कुछ सामान्य मिथक हैं जिन्हें आपको जानना चाहिए।

मेडिकल साइंस में इसे 'साइलेंट किलर' डिजीज के तौर पर वर्गीकृत किया गया है, यानी कि यह समस्या शरीर में कई अन्य बीमारियों के जोखिम को बढ़ा सकती है। हाई ब्लड प्रेशर को हृदय रोगों का प्रमुख कारक भी माना जाता है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक आहार और जीवनशैली में गड़बड़ी के कारण उच्च रक्तचाप की समस्या तेजी से बढ़ती हुई देखी गई है। इसके अलावा लोगों में हाइपरटेंशन को लेकर गलत जानकरियों ने समस्या को और भी बढ़ा दिया है। हाइपरटेंशन से जुड़े कई मिथ्स को तो हम में से ज्यादातर लोग वर्षों से सही मानते आ रहे हैं। आइए ऐसे ही कुछ मिथ्स और उनकी वास्तविकता के बारे में जानते हैं।

मिथक: अगर परिवार के क‍िसी सदस्‍य में है, तो आपको जरुर भी होगा

मिथक: अगर परिवार के क‍िसी सदस्‍य में है, तो आपको जरुर भी होगा

फैक्‍ट : कुछ मामलों में उच्च रक्तचाप अनुवांशिक भी हो सकता है। लेकिन यह आवश्‍यक कारणों में से नहीं है, यहां तक ​​कि उन लोगों के लिए भी जो आनुवंशिक रूप से इसके लिए अतिसंवेदनशील हो सकते हैं। इसके अलावा, खराब आहार और शारीरिक निष्क्रियता जैसे जीवनशैली कारकों के कारण यह स्थिति विकसित होती है।

मिथक: यह उम्र के साथ बढ़ता है?

मिथक: यह उम्र के साथ बढ़ता है?

फैक्‍ट : उच्च रक्तचाप अपरिहार्य नहीं है और यह उम्र बढ़ने का सामान्य हिस्सा नहीं है। हालांकि वृद्ध वयस्कों में यह स्थिति आम है, मध्यम आयु वर्ग और युवा लोगों में भी उच्च रक्तचाप के मामले देखने को मिलते हैं।

मिथक: यदि आपको उच्च रक्तचाप है, तो लक्षण जरुर दिखेंगे

मिथक: यदि आपको उच्च रक्तचाप है, तो लक्षण जरुर दिखेंगे

फैक्‍ट : उच्च रक्तचाप का पता लगाने का एकमात्र तरीका रक्तचाप को मापना है। आमतौर पर कोई संकेत और लक्षण नहीं होते हैं जो आपको संकेत देते हैं कि किसी को उच्च रक्तचाप है। बहुत से लोगों को पता ही नहीं होता कि वे उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं।

मिथक: उच्च रक्तचाप गंभीर नहीं है

मिथक: उच्च रक्तचाप गंभीर नहीं है

फैक्‍ट : उच्च रक्तचाप को साइलेंट किलर कहा जाता है। उपचार के बिना, यह दिल का दौरा, स्ट्रोक, गुर्दे की बीमारियों, दिल की विफलता, दृष्टि हानि, यौन रोग और परिधीय धमनी रोगों जैसे स्वास्थ्य संबंधी मुद्दों के जोखिम को बढ़ा सकता है।

यह कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है, उदाहरण के लिए, समय के साथ यह धमनी के दबाव को बढ़ा सकता है जिससे वाहिकाओं का लचीलापन कम हो सकता है, जिससे हृदय तक पहुंचने वाले रक्त और ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है और इससे अंगों को नुकसान पहुंचता है।

मिथक : नमक में कटौती करने से हाई बीपी से बचा जा सकता है?

मिथक : नमक में कटौती करने से हाई बीपी से बचा जा सकता है?

फैक्‍ट : डब्ल्यूएचओ स्वस्थ रक्तचाप को बनाए रखने के लिए प्रत्येक दिन 5 ग्राम नमक का सेवन करने की सलाह देता है।

हालांकि, केवल नमक का सेवन सीमित करते समय टेबल नमक से परहेज करना पर्याप्त नहीं है। पैकेज्‍ड फूड लेने से पहले फूड लेबल को पढ़ना महत्वपूर्ण है, कई पैकेज्‍ड फूड्स में नमक की मात्रा बहुत अधिक होता है।

सीडीसी के अनुसार, इन 10 फूड्स में नमक की मात्रा बहुत अधिक होती है-

सीडीसी के अनुसार, इन 10 फूड्स में नमक की मात्रा बहुत अधिक होती है-

ब्रेड

पिज्जा

सैंडविच

ठंड में कटौती और ठीक मांस

सूप

बरिटोस और टैकोस

नमकीन स्नैक्स, जैसे चिप्स, पॉपकॉर्न, प्रेट्ज़ेल और क्रैकर्स

मुर्गा

पनीर

अंडे

विशेष रूप से, अल्ट्राप्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों में नमक की मात्रा उच्च होती हैं। इन खाद्य पदार्थों की खपत - जिसमें शीतल पेय, चॉकलेट, चिप्स, कैंडी, मीठा नाश्ता अनाज और पैकेज्ड सूप शामिल हैं - इनमें सोडियम की मात्रा खूब होती है। सिर्फ नमक में कटौती करना ही काफी नहीं है।

मिथक: उच्च रक्तचाप का इलाज संभव है

मिथक: उच्च रक्तचाप का इलाज संभव है

फैक्‍ट : उच्च रक्तचाप का कोई इलाज नहीं है, हालांकि, स्थिति को प्रबंधित करने और स्वास्थ्य पर इसके प्रभाव को कम करने के तरीके हैं। आप शराब का सेवन कम करके, स्वस्थ आहार खाकर, व्यायाम कर सकते हैं, तनाव को नियंत्रित कर सकते हैं, धूम्रपान छोड़ सकते हैं, स्वस्थ वजन बनाए रख सकते हैं और दवा ले कर अपने रक्तचाप को नियंत्रित कर सकते हैं।

इन तरीकों से उच्‍च रक्‍तचाप की समस्‍या से बचें

- अपना वजन स्वस्थ स्तर पर रखें। आप इसे स्वस्थ भोजन और नियमित व्यायाम के संयोजन से पूरा कर सकते हैं।

- स्वस्थ आहार लें। इसमें केवल उतना ही खाना शामिल है जितना आपके शरीर को चाहिए।

- नमक के सेवन को सीमित करें। इसके अलावा पैकेज्‍ड फूड को खाने से बचें।

- शराब पीने की आदत को सीमित करें।

- तंबाकू का सेवन न करें, और सेकेंड हैंड धुएं के संपर्क में आने से बचें।

- नियमित व्यायाम करें। हर दिन कम से कम 30 मिनट की गतिविधि करने की कोशिश करें, सप्ताह में कम से कम पांच दिन। व्यायाम तनाव से राहत देता है और आपको अपने वजन को नियंत्रित करने में मदद करता है।

English summary

World Hypertension Day 2022 : Misconceptions About High Blood Pressure in Hindi

World Hypertension Day 2022: This article will tackle few Misconceptions About High Blood Pressure in Hindi. Read on.
Desktop Bottom Promotion