हर महिला को पता होनी चाहिये फीमेल कंडोम के बारे में ये 10 बातें

Posted By: Staff
Subscribe to Boldsky

प्रतिवर्ष महिला कंडोम का उपयोग करने वाली 100 महिलाओं में से लगभग 20 महिलायें गर्भवती हो जाती है परन्तु इसका मुख्य उद्देश्य यौन संबंधों से होने वाले संक्रमणों जैसे आएचआईवी/एड्स से बचाव करना है।

जानिए , कंडोम एलर्जी के ये खतरनाक संकेत

फीमेल कंडोम एक लुब्रिकेटेड पाउच होता है जिसे योनि के अंदर डाला जाता है ताकि आपकी सेक्स लाइफ, संबंध और स्वास्थ्य नियंत्रित रहे। आइये फीमेल कंडोम के बारे में 10 तथ्यों के बारे में जानें ताकि आपके सेक्स लाइफ आनंददायक बनी रहे:

रहें सावधान क्‍योंकि इन 8 तरीको से भी हो सकती हैं आप प्रेगनेंट

 तथ्य 1

तथ्य 1

फीमेल कंडोम स्पर्म को कंडोम के अन्दर और योनि के बाहर रखता है। कंडोम के प्रत्येक सिरे पर एक नरम रिंग होता है (ताकि कंडोम अपनी जगह पर बना रहे), जो योनि या गुदा के अन्दर के भाग को ढँक कर रखता है ताकि स्पर्म या प्री-कम बाहर ही रहे। यह जानने के लिए कि फीमेल कंडोम को किस तरह अंदर डाला जाता है, यहाँ देखें।

तथ्य 2

तथ्य 2

साधारणत: फीमेल कंडोम 75-82% सुरक्षा प्रदान करते हैं और यदि हमेशा इसका सही उपयोग किया जाए तो फीमेल कंडोम 95% तक प्रभावी होते हैं।

तथ्य 3

तथ्य 3

कंडोम को सेक्स करने के आठ घंटे पहले योनि में डाला जा सकता है और हर बार सेक्स करने से पहले नया कंडोम डालना चाहिए। फीमेल कंडोम को मासिक धर्म या गर्भावस्था के समय (या बच्चे के जन्म के बाद) भी उपयोग में लाया जा सकता है।

तथ्य 4

तथ्य 4

कुछ महिलाओं में फीमेल कंडोम के उपयोग के कारण योनि, वुल्वा, पेनिस या गुदा में जलन हो सकती है। इससे संभोग का आनंद भी कम हो सकता है या सेक्स करते समय कंडोम योनि में या गुदा में अंदर जा सकता है।

तथ्य 5

तथ्य 5

फीमेल कंडोम निट्रील (एक कृत्रिम रबर जो बीमारियों से रक्षा करता है और उन लोगों के लिए अच्छा विकल्प है जिन्हें लेटेक्स की एलर्जी होती है) से बना होता है और यह स्थानीय मेडिकल दुकानों, सुपरमार्केट या परिवार नियोजन केन्द्रों में उपलब्ध होता है।

तथ्य 6

तथ्य 6

फीमेल कंडोम का उपयोग करने के लिए किसी प्रिस्क्रिप्शन (डॉक्टर का पर्चा) की आवश्यकता नहीं होती।

तथ्य 7

तथ्य 7

फीमेल कंडोम का उपयोग ऑइल बेस या वॉटर बेस लुब्रिकेंट्स दोनों के साथ किया जा सकता है। यदि सेक्स के दौरान कंडोम टूट/लीक/बाहर आ जाता है तो पांच दिनों तक इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्शन पिल्स लें। आपको यह सलाह भी दी जाती है कि आप यौन संबंधों से होने वाले संक्रमण की जांच भी करवा लें।

तथ्य 8

तथ्य 8

सेक्स के दौरान फीमेल कंडोम का उपयोग करना आसान और सुरक्षित होता है।

तथ्य 9

तथ्य 9

जन्म नियंत्रण करने वाली गोलियों की तरह फीमेल कंडोम का भी महिलाओं के प्राकृतिक हार्मोन्स पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। कृपया ध्यान दें: अधिक सावधानी के लिए जन्म नियंत्रण की गोलियों के साथ भी कंडोम का उपयोग किया जा सकता है।

तथ्य 10

तथ्य 10

आवश्यक नहीं है कि आप मेल और फीमेल कंडोम एक समय में ही उपयोग करें क्योंकि ऐसा करने से दोनों कंडोम्स के फट जाने या टूटने का खतरा रहता है।

English summary

10 Facts You Should Know About the Female Condom

Take a look below for 10 facts about using the female condom and how you can maintain a pleasurable and happy intimate life.
Please Wait while comments are loading...