For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Dev Diwali 2021: जानें इस साल पावन पर्व देव दीपावली की तिथि, शुभ मुहूर्त, मंत्र और पूजन विधि

|

हिंदू धर्म में कार्तिक महीने की विशेष महत्ता बताई गयी है। कार्तिक के शुभ और धार्मिक माह की पूर्णिमा को ही देव दीपावली का पर्व मनाया जाता है। इस दिन देवताओं के लिए विशेष पूजा की जाती है एवं उनकी आराधना करते हुए दिए जलाए जाते हैं। इस दिन दान करके पुण्य कमाया जाता है। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी काशी में गंगा के दोनों किनारों पर लाखों दीपों को जगमगाने की तैयारियां हैं। जानते है इस विशेष दिन का महत्व, इस वर्ष की देव दीपावली का मुहूर्त एवं पूजा विधि-

देव दीपावली का महत्व:

देव दीपावली का महत्व:

हिंदू मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान शिव ने देवताओं की प्रार्थना सुनकर त्रिपुरासुर का वध किया था और देवताओं ने दीप जलाकर उत्सव मनाया था। देव दीपावली के दिन देवताओं द्वारा गंगा स्नान के लिए धरती आगमन का भी विश्वास रहा है। इसलिए इस पर्व के मौके पर गंगा के आस पास दीप जलाने की परंपरा रही है। यह दिन और भी विशेष हो जाता है क्योंकि इस दिन गुरु नानक देव जी की भी जयंती होती है।

देव दीपावली 2021 की तिथि एवं मुहूर्त:

देव दीपावली 2021 की तिथि एवं मुहूर्त:

इस वर्ष कार्तिक पूर्णिमा तिथि 18 नवंबर, दोपहर 12 बजे से शुरू होगी और 19 नवंबर, दोपहर 02:29 बजे तक चलेगी।

प्रदोष काल मुहूर्त 18 नवंबर को शाम 05:09 बजे से 07:47 तक रहेगा। अर्थात् पूजन की समयावधि 2 घंटे 38 मिनट तक की रहने वाली है।

पूजन विधि:

पूजन विधि:

देव दीपावली के अवसर पर गंगा स्नान करना विशेष महत्व रखता है। यदि गंगा स्नान संभव ना हो तो किसी कुंड या अपने स्नान जल में ही गंगाजल मिलाकर स्नान करना चाहिए। इस दिन गंगा स्नान के साथ साथ यज्ञ, हवन एवं दीपदान करने का भी विशेष मूल्य होता है। इस दिन अन्न, धन, वस्त्र एवं बछड़े के दान को काफी शुभ माना गया है।

इस दिन भगवान शिव एवं विष्णु की विशेष पूजा की परंपरा है। भगवान विष्णु को पीले वस्त्र, पीली मिठाई, पीले फूल एवं नैवेद्य अर्पित करना चाहिए। पूजा के दौरान ॐ नम: शिवाय', ॐ हौं जूं सः, ॐ भूर्भुवः स्वः, ॐ त्र्यम्बेकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्धूनान् मृत्योवर्मुक्षीय मामृतात्, ॐ स्वः भुवः भूः, ॐ सः जूं हौं ॐ - इन मन्त्रों का मंत्रोच्चारण भी करें।

इसके साथ ही घर के मंदिर, चौखट, तुलसी चौरा, शिव मंदिर एवं गंगा जल में दिए जलाने चाहिए।

देव दीपावली का यह पर्व आपके लिए शुभ हो और पूजा एवं दान के पुण्य से आपकी मनोकामनाएं पूरी हो।

Read more about: puja hindu festival fast
English summary

Dev Deepawali 2021: Date, Time, Mantra, Puja Vidhi and Significance in Hindi

Dev Diwali 2021 Festival - Deepawali of Gods is celebrated with deep devotion in Varanasi on Kartik Purnima at the bank of River Ganges.