पानी में क्यूं किया जाता है गणेश विसर्जन, जानिए...

By Salman Khan
Subscribe to Boldsky

गणेश उत्सव 25 अगस्त से शुरु हुआ था। पूरे देश में इस समय गणेश महोत्सव की धू्म है। गणपति महोत्सव के पहले दिन ही सभी श्रद्धालु अपने घर में गणपति की स्थापना करते है। 10वें दिन उसका विसर्जन बड़ी घूमधाम से किया जाता है, पर क्या आप जानते हैं कि आखिर गणपति विसर्जन क्यूं किया जाता है। दरअसल इसके पीछे भी एक कहानी हैं। जानने के लिए आगे पढिए....

पुराणों में दर्ज है कहानी

पुराणों में दर्ज है कहानी

गणेश उत्सव के बाद उनकी प्रतिमा का विसर्जन करने के पीछे की कहानी पुराणों में दर्ज है। कहा जाता है कि जब कवि व्यास ने गणपति को महाभारत की कहानी सुनानी शुरु की तो बिना रुके वो दस दिनों तक कहानी सुनाते रहे, और भगवान गणेश लगातार बिना रुके हुए उसको लिखते रहे थे।

कथा पूरी होने के बाद क्या हुआ

कथा पूरी होने के बाद क्या हुआ

लगातार दस दिन तक बिना रुके महाभारत लिखने के कारण गणेश जी का शरीर पूरी तरह से गर्म होकर जलने लगा था। महार्षि व्यास ने जब आंखे खोली तो गणेश जी के शरीर का तापमान कम करने के लिए पास के कुंड में ले गए और स्नान करवाया। यही कारण है कि आज हम 10 दिन के बाद गणेश विसर्जन करते हैं।

घर में कैसे करें गणेश विसर्जन

घर में कैसे करें गणेश विसर्जन

यदि आप घर में ही गणपति का विसर्जन करना चाहते है तो आप गणपति को एक गमले में पानी डालकर विसर्जित कर सकते है। उसके बाद उस गमले में पौधा भी लगा दें। लेकिन ध्यान रहे आपको उस गमले में तुलसी नहीं लगानी है क्यूंकि गणेश जी पर तुलसी नहीं चढ़ाई जाती है।

किस विधि से करें गणेश का विसर्जन

किस विधि से करें गणेश का विसर्जन

गणेश जी को विसर्जित करने से पहले उनकी पूजा करें और विधिवत आरती करें। अपनी मनोकामना पूरी करने की प्रार्थना करें उसके बाद आप उनको किसी नदी या तालाब में विसर्जित करें।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    do you know why is Ganesha immersion in water

    Due to writing the Mahabharata without waiting for 10 consecutive days, the body of Ganesh was completely hot and started burning. When Maharshi Vyas opened the eyes, Ganesha body was taken to the nearby pool to reduce the temperature and to take bath, that is why we immerse Ganesha after 10 days.
    Story first published: Sunday, September 3, 2017, 10:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more