17 सालों बाद बन रहा है रविवार और मकर संक्राति का ऐसा संयोग, राशि अनुसार ये उपाय करना न भूलें

Posted By:
Subscribe to Boldsky
मकर संक्रांति: शुभ तिथि और शुभ योग | Makar Sankranti Correct Date | Boldsky

वैसे तो पूरे साल में 12 बार संक्रांति होती है। दरअसल सूर्य का एक राशि से दूसरी राशि में जाना संक्रांति कहलाता है। लेकिन इन 12 संक्रांतियों में से सबसे महत्वपूर्ण होती है मकर संक्रांति। इस साल की मकर संक्राति थोड़ी खास हो जाएगी क्‍योंकि 17 साल बाद रविवार और मकर संक्राति का संयोग बन रहा है, जी हां इस साल 14 जनवरी को मकर संक्रांति रविवार को मनाई जाएगी। इससे पहले 2001 में रविवार को मंक्रांति आई थी।

रविवार का कारक ग्रह सूर्य है और संक्रांति भी सूर्य देव का ही पर्व है। इस कारण 2018 की मकर संक्रांति का महत्व और अधिक बढ़ गया है। सूर्य जब धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है, तब मकर संक्रांति मनाई जाती है। इस दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होगा। वैसे पूरे दिन सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेगा। वैसे भी इस दिन की महिमा को देखते है हिंदू धर्म में इस दिन खूब दान-पुण्‍य किया जाता है।

 donate these things based on zodiac signs

उतरायण या मकर संक्राति के मौके पर दान-पुण्य के अलावा पवित्र नदी में स्नान करने की परंपरा है। इन दिन किए गए पूजा-पाठ से सभी दुखों से मुक्ति मिल सकती है। ज्योतिष के अनुसार इस संक्रांति पर राशि अनुसार दान करने से कुंडली के दोषों दूर होते हैं और सभी बाधाएं खत्म हो जाती है।

पूजन के बाद दान जरूर करें। कहते हैं कि इस मौके पर किया गया दान सौ गुना होकर वापस फलीभूत होता है। मकर संक्रान्ति के दिन तिल, गुड़, कंबल, खिचड़ी दान का खास महत्व है। जानिए संक्रांति पर राशि अनुसार किन चीजों का दान करना चाहिए...

यह है संयोग

यह है संयोग

ज्योतिषीय गणना के अनुसार इस साल सूर्य का मकर राशि में प्रवेश दोपर दोपहर 1 बजकर 45 मिनट पर होगा। देवी पुराण के अनुसार संक्रांति से 15 घटी पहले और बाद तक का समय पुण्यकाल होता है। संक्रांति 14 तारीख की दोपहर में होने की वजह से साल 2018 में मकर संक्रांति का त्योहर 14 जनवरी को मनाया जाएगा और इसका पुण्यकाल सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक होगा जो बहुत ही शुभ संयोग है क्योंकि इस साल पुण्यकाल का लाभ पूरे दिन लिया जा सकता है।

दान देने के लिए है ये है मूहूर्त

दान देने के लिए है ये है मूहूर्त

15 जनवरी को उदया तिथि के कारण भी मकर संक्रांति कई जगह मनाई जाएगी। इस दिन मकर राशि में सूर्योदय होने के कारण करीब ढ़ाई घंटे तक संक्रांति के पुण्यकाल का दान पुण्य करना भी शुभ रहेगा। इसलिए इस साल मेघ मेले में मकर संक्रांति का स्नान दोनों दिन यानी 14 और 15 जनवरी को होगा।

मेष

मेष

इस राशि के लोग दर्पण, मच्छरदानी, तिल का दान करें।

वृष

वृष

ये लोग ऊनी वस्त्र और अनाज का दान करें।

मिथन

मिथन

इन लोगों को कंबल, तिल के लड्डू का दान करना चाहिए।

कर्क

कर्क

कर्क राशि के लोग साबूदाना, शहद का दान करें।

सिंह

सिंह

जिन लोगों की राशि सिंह है, वे लोग चने की दाल, घी का दान करें।

कन्या

कन्या

चादर और गर्म वस्त्रों का दान गरीबों को करें।

तुला

तुला

ये लोग गुड़ तिल का तेल और चावल का दान करें।

वृश्चिक

वृश्चिक

दूध, दही और तिल से बने व्यंजन का दान करें।

धनु

धनु

इस राशि के लोग गाय को घास खिलाएं और हल्दी का दान करें।

मकर

मकर

मकर राशि के लोग उड़द की दाल, सरसों तेल और राई का दान करें।

कुंभ

कुंभ

इस राशि के लाेगाें के लिए काले तिल और तेल का दान करना बहुत ही शुभ रहेगा।

मीन

मीन

मीन राशि वाले इस दिन गरीबों को गेहूं, गुड़ और कंबल का दान करें।

English summary

makar sankranti 2018 donate these things based on zodiac signs

Makara Sankranti 2018 is one of the most celebrated festivals in India but astrologically, it is the day when Sun begins its movement away from the tropic of Capricorn and towards the northern hemisphere.