For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

सिर्फ एक क्लिक पर होंगे वैष्‍णो देवी और कालका जी के घर बैठे लाइव दर्शन, ये रहे वेबसाइट्स लिंक

|

नवरात्रियां आते ही पूरा देश देवीमय हो जाता है, 9 दिन तक देवी के उपासक श्रद्धा और समपर्ण के साथ देवी मां के उपवास और पूजा करते हैं। जो भक्‍त देवी के अलग-अलग रुप को अपनी आराध्‍या देवी के रुप में मानते हैं ऐसे में हर नवरात्रि उनकी एक ही कामना होती है कि वो देवी मां के दरबार में उपस्थित होकर अपनी हाजिरी लगा, देवी मां के साक्षात दर्शन जरुर कर लें। लेकिन कई बार होता है कि कई कारणों से मंदिर जाना संभव नहीं हो पाता है और नवरात्रियों के दौरान देशभर में प्रसिद्ध देवी मां के तीर्थस्‍थलों में भर रही भीड़ की वजह से भी मां के दर्शन कर पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। लेकिन भक्‍तों को जरा भी न‍िराश होने की जरुरत नहीं हैं।

टेक्‍नोलॉजी के बदलते दौर में अब सब कुछ मुमकिन हैं अगर आपको इस बार माता ने बुलावा नहीं भेजा तो कोई बात नहीं, ऑनलाइन ही माता के लाइव दर्शन कर लीज‍िए। जी हां, देशभर के कई प्रसिद्ध देवी के मान्‍यता प्राप्‍त शक्तिपीठ और मंदिरों में ऑनलाइन आरती और पूजा की व्‍यवस्‍था है, जिसके माध्‍यम से सिर्फ एक क्लिक पर घर बैठे भक्‍तजन माता के जयकारे लगा सकते हैं।

देवी कालका का दर्शन

देवी कालका का दर्शन

दक्षिण दिल्ली स्थित देवी कालका जी के मंदिर में हमेशा ही भक्‍तों की भीड़ जुटी रहती है। नवरात्रियों में यहां शृद्धालुओं की भीड़ दोगुनी हो जाती है। देवी शक्ति का ये स्वरूप मां जयंती पीठ या मनोकामना सिद्ध पीठ के रूप में माना जाता है। कालका देवी काल‍िका का दूसरा नाम है, माना जाता है कि रक्‍तबीज नामक दानव का संहार करने के ल‍िए देवी पार्वती ने महाकाली को अपनी भृकुटी से प्रकट किया था।

Most Read : ह‍िगलांज मंदिर: पाकिस्तान में है ये चमत्‍कारी शक्तिपीठ, मान्यता है यहीं गिरा था देवी सती का सिर

अरावली पर्वत श्रृखंला के सूर्यकूट पर्वत पर विराजमान कालका जी मंदिर स्थित है। इसी वजह से कालका देवी को 'सूर्यकुट्टा निवास' के रूप में भी बुलाते हैं। अगर आप मां के दर्शन करने को मंदिर नहीं आ पा रहे तो आप इस लिंक पर लॉग इन कर मां के दर्शन कर सकते हैं। यहां करें क्‍लिक

चिन्तपूर्णी माता के ऑनलाइन दर्शन

चिन्तपूर्णी माता के ऑनलाइन दर्शन

चिन्तपूर्णी माता यानी चिंता को पूर्ण करने वाली माता। ये स्थान 51 शक्तिपीठों में से एक है। चिंता को पूर्ण करनेवाली देवी चिंतापूर्णी देवी का मंदिर हिमाचल प्रदेश के जिला ऊना में स्थित हैं। यहां माता के पिंडी रूप की पूजा होती है । यहाँ पर माता सती के चरण गिरे थे। इसलिए यहां आने वाले भक्तों के लिए माता के चरण स्पर्श का खास महत्व है। मान्यता है की चिंतपूर्णी देवी का एक बार दर्शन मात्र करने से समस्त चिन्ताओ से मुक्ति मिलती है। नवरात्रि में माता के दर्शन करना बहुत ही शुभ माना जाता है। माता के दर्शन आप ऑनलाइन इस लिंक पर लॉगइन कर कर सकते हैं। माता की आरती देखना ही आपने आप में एक सौभाग्य होता है।

यहां करें क्लिक

कामाख्या का शक्तिपीठ के लाइव दर्शन और आरती

कामाख्या का शक्तिपीठ के लाइव दर्शन और आरती

51 शक्तिपीठ में से एक मां कामाख्या का शक्तिपीठ सबसे पुराना एवं विश्वप्रसिद्ध है। माँ कामाख्या मंदिर शक्ति साधना का सबसे बड़ा केंद्र है। यहां वर्षपर्यंत श्रद्धालुओं का भीड़ देखी जाती है। नवरात्रियों के दिनों में तो इस शक्तिपीठ का महत्‍व और बढ़ जाता है।

Most Read : महिषासुर-वध के बाद मिला था मां को 'दुर्गा' नाम, आइए जानते है देवी से जुड़े ऐसे 10 रोचक तथ्‍य को

कहा जाता है यहां देवी का योनि भाग होने की वजह से यहां माता रजस्वला होती हैं। इस मंदिर माता की कोई मूर्ति नहीं है यहां मां की योन‍ि की पूजा की जाती है। नवरात्रि में माता के दर्शन के ल‍िए यहां क्लिक करें

वैष्णो देवी माता की ऑनलाइन आरती

वैष्णो देवी माता की ऑनलाइन आरती

नवरात्र में मां वैष्णो देवी का दर्शन करना किसी सौभाग्य से कम नहीं, लेकिन कई बार माता का बुलावा नहीं होता तो वहां तक भक्त नहीं पहुंच पाते। लेकिन माता अब अपने भक्तों को ऑनलाइन भी दर्शन देने लगी हैं। माता का गुफा में वास करना और उनका आर्शीवाद अब ऑनलाइन ही पा सकते हैं। इस नवरात्रियां माता के दर्शन के लिए आप इस लिंक पर लॉगइन कर सकते हैं। यहां करें क्‍लिक

English summary

Navratri 2019 Special : Online Darshan and aarti of Vaishno Devi, kalka Ji and Maa Chintpurni Devi, Checkout The Link

Navratri 2019 Special : Online Darshan and aarti of famous Hindu Godess like Vaishno Devi, kalka Ji and Maa Chintpurni Devi, check out the link the official sites.
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more