गुरू का तुला राशि में गोचर, जानिए 12 राशियों पर क्या प्रभाव होगा

Posted By: Lekhaka
Subscribe to Boldsky

हमारी चंद्र राशि कई तरीको से प्रभावित हो सकती है, खासकर ग्रहों के गोचर से। जिस तरह गुरू का तुला राशि में गोचर हुआ है, ऐेसे में चंद्र राशियों यानि सभी बारह राशियों पर गोचर का प्रभाव पड़ने वाला है।

ज्योतिष में गुरू को एक सकारात्मक ग्रह माना जाता है जो कि रिश्तों में सकारात्मक और अच्छा प्रभाव ड़ालता है। इसलिए, इस लेख के जरिए हम चंद्र राशि के अनुसार गुरू के गोचर से आपकी जिंदगी में आने वाले बदलावों के बारे में बताने वाले है।

नवरात्रि में हर दिन के हिसाब से चढ़ाए ये अलग-अलग प्रसाद और गलती करने से बचें...

तो इन बदलावों के बारे में जानें, क्यूंकि ये गोचर अगले एक वर्ष तक आपकी जिंदगी पर प्रभाव ड़ालेगा।

मेष

मेष

ज्योतिष के अनुसार, गुरू ग्रह का गोचर आपकी राशि के सातवें भाव में हो रहा है। जिससे कि आपकी जिंदगी में सकारात्मक परिवर्तन होगा, आपको इस बात का आकस्मिक एहसास होगा कि आपके दिमाग में नए विचारों या योजनाओं की बौछार हो रही है। आपको जिंदगी से जो कुछ मिल रहा होगा उससे आप संतुष्ट महसूस करेंगे। इस अवधि में आपकी इनकम में इजाफा होगा , जो कि वेतन बढ़ने या फिर कोई अन्य बिजनेस का अवसर मिलने के कारण हो सकता है।

वृषभ

वृषभ

गुरू गोचर के प्रभाव से आपको जॉब के नए ऑफर मिलेंगे और उन्हें स्वीकार करने का ये उपयुक्त समय है। प्रोफेशनल मोर्चे पर, इस समय हालात आशावादी नजर आ रहे है। वहीं दूसरी ओर, इस अवधि के दौरान वृषभ राशि के जातकों को किसी से भी पैसे उधार लेने से बचने की जरूरत है।

मिथुन

मिथुन

ज्योतिष के अनुसार, गुरू का गोचर आपकी राशि के पांचवें भाव को प्रभावित करेगा। ऐसे में वे जातक जो पैरेंटस है यानि जिनके बच्चे है वे अपने बच्चों के साथ अच्छा समय बिताएंगे। आपको खासकर अपने पिता की सेहत पर ध्यान देने की जरूरत है और उन्हें मेडिकल चैकअप के लिए ले जाने की जरूरत है।

कर्क

कर्क

गुरू का ये गोचर कर्क राशि के जातकों के चौथे भाव को प्रभावित करेगा। ये समय पारिवारिक जिंदगी के लिए बहुत अच्छा है। आपके अपने जीवनसाथी के साथ संबंध बेहतर होंगे और आप अपने रिश्ते में अधिक संतुष्टि या संतोष महसूस करेंगे। कैरियर के मोर्चे पर, आप नौकरी बदलने या नए शहर में ट्रांसफर के रूप में बड़े बदलाव का सामना करेंगे।

सिंह

सिंह

गुरू का ये गोचर आपकी राशि से तीसरे भाव में होगा। ऐसे में वे जातक जो सिंगल यानि अविवाहित है, उनकी मुलाकात किसी खास व्यक्ति से होने की संभावना है। वहीं वे लोग जो किसी गंभीर रिश्ते में है उनके लिए रिश्ते को आगे ले जाने के लिए ये बेस्ट टाइम है। इसके अलावा, कार्यस्थल पर बेहतर प्रदर्शन करने का ये सही समय है, क्यूंकि आप अपनी कड़ी मेहनत के लिए सराहना प्राप्त करेंगे।

कन्या

कन्या

इस अवधि के दौरान आपका पारिवारिक जीवन बढ़िया रहेगा। जिसमें आपके लिए कई फैमिली हॉलीडे और वेकेशन संचित होंगे। ऐसी संभावना है कि इस अवधि में आप आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होंगे। लेकिन साथ ही आपको अत्यधिक जोखिमपूर्ण इनवेस्टमेंट से बचने की जरूरत है।

तुला

तुला

गुरू का ये गोचर आपके पहले भाव में होगा। क्यूंकि ये गोचर आपकी ही राशि में हो रहा है, ऐसे में ये चरण आपकी जिंदगी का सबसे आनंददायक समय बनने जा रहा है। आपके अपने जीवनसाथी के साथ रिश्ते आनंदमय होंगे। आपको दुनियाभर की सैर करने के नए अवसर प्राप्त होंगे। कुल मिलाकर, ये समय आपके और आपके परिवार के लिए बेहतर समय होगा।

वृश्चिक

वृश्चिक

गुरू का गोचर आपकी राशि से बारहवें भाव में होगा। ये वो समय है जब आपका झुकाव आध्यात्मिकता की तरफ होगा। इस अवधि में आपको ये सुनिश्चित करने की जरूरत है कि आप अपने प्रियजनों के साथ पर्याप्त समय बिताएंगे, खासकर अपने पैरेंटस के साथ।

धनु

धनु

गुरू ग्रह का ये गोचर आपकी कुंडली के ग्यारवें भाव को प्रभावित करेगा। तुला राशि के बाद, इस राशि के जातक श्रेष्ठ चरण यानि अच्छे समय का अनुभव करेंगे। वे दुनिया की सैर करेंगे और अत्यधिक ज्ञान प्राप्त करेंगे। निजी मोर्चे पर, बच्चे उन्हें खुशी देंगे और अपने बच्चों को बढ़ता देख उन्हें बेहद खुशी होगी।

मकर

मकर

ये गोचर आपकी राशि से दसवें भाव में होगा। ऐसे में आप प्रोफेशनल लाइफ में तरक्की प्राप्त करेंगे। ऐसी संभावना है कि आप नई नौकरी शुरू कर सकते है और बल्कि शुरूआत में थोड़ी मुश्किलों का सामना कर सकते है। लेकिन समय आने पर, हालात बेहतर हो जाएंगे।

कुंभ

कुंभ

गुरू ग्रह का ये गोचर आपकी राशि से नौवें भाव में होगा। ये गोचर आपको अन्य देश में स्थानांतरित होने का अवसर प्रदान करेगा। लेकिन आपको ये सुनिश्चित करने की जरूरत है कि इस संबंध में कोई भी निर्णय लेने से पहले आप उसके फायदे-नुकसान दिमाग में रखेंगे। अपनी शादी को गतिहीन होने से रोकने के लिए आपको अपने साथी के साथ पर्याप्त समय भी बिताने की जरूरत है।

मीन

मीन

गुरू का ये गोचर आपकी कुंडली के आठवें भाव को प्रभावित करेगा। ये वो समय है जब आप ज्यादातर समय निराशावादी महसूस करेंगे। हालांकि, अगर आप आगे बढ़ने के उत्सुक है तो आपको नकारात्मकता को उखाड़ फेंकना होगा। कैरियर की दृष्टि से ये आपके लिए श्रेष्ठ समय है।

English summary

How Jupiter's Transition Can Affect Your Moon Sign

Check out to know how your moon sign can get affected by Jupiters transition for the next one year!
Story first published: Thursday, September 14, 2017, 10:30 [IST]
Please Wait while comments are loading...