India
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

डिलीवरी के बाद परेशान है टेलबोन के दर्द से, तो ये ट्रिक्स दिलाएंगी आपको आराम

|

प्रेगनेंसी और डिलीवरी किसी भी महिला के लिए मानसिक और शारीरिक बदलाव लाता है। कुछ महिलाओं को कमर दर्द तो, कुछ को पोस्टपार्टम डिप्रेशन से गुजारना पड़ता है। कई गर्भवती महिलाएं बैक या पेल्विक रीजन में दर्द की शिकायत करती है। यह सभी पेन कोक्सीक्स पेन के अलग-अलग प्रकार है इन्हीं में से एक है टेल बोन में दर्द। प्रेगनेंसी के दौरान टेलबोन में होने वाले दर्द का अनुभव करना पूरी तरह से नॉर्मल है, क्योंकि जाहिर सी बात है जैसे-जैसे आप की प्रेगनेंसी बढ़ेगी और गर्भ में शिशु का आकार बढ़ेगा तो आपकी रीढ़ के अंत में मौजूद टेलबोन पर दबाव पड़ेगा जो यूट्रस के ठीक पीछे होती है। यह दर्द डिलीवरी के महीने तक तो बना रह सकता है, लेकिन कुछ मामलों में डिलीवरी के बाद भी यह दर्द जारी रहता है जिसकी वजह हो सकती है प्रसव का लंबा दर्द या अन्य कारण। यहां हम आपको बताएंगे कुछ तरीके जिनकी मदद से आप टेलबोन के दर्द से राहत पा सकती हैं।

क्या होता है टेलबोन पेन

क्या होता है टेलबोन पेन

टेलबोन आपकी रीढ़ के अंत में मौजूद बोन होती है। प्रेगनेंसी के दौरान जैसे-जैसे बच्चा गर्भ में बड़ा होने लगता है इससे आपके शरीर के निचले हिस्से में दबाव बढ़ने लगता है और इसी वजह से आपके टेल बोन में दर्द का एहसास होता है।

टेलबोन पेन के कारण-

टेलबोन पेन के कारण-

डिलीवरी के बाद लंबे समय तक बैठने, कॉन्स्टिपेशन और आंतों को खाली करने की वजह से टेलबोन में दर्द हो सकता है! डिलीवरी के बाद टेलबोन में दर्द कॉमन प्रॉब्लम है, खासतौर पर उन महिलाओं के लिए जिनका पेल्विक फ्लोर कमजोर होता है।

यह होते हैं टेलबोन पेन के लक्षण-

यह होते हैं टेलबोन पेन के लक्षण-

1. रीढ़ के अंत वाले हिस्से में धीरे-धीरे दर्द बढ़ना।

2. कूल्हे में कभी तेज व कभी हल्का दर्द होना।

3. लोवर बैक में लगातार दर्द।

4. पोस्चर चेंज करने के दौरान दर्द का बढ़ना या घटना।

5. इस दर्द में आगे की ओर या बगल की ओर झुकते समय सुधार होता है।

6. कॉन्स्टिपेशन के दौरान यह दर्द और भी बढ़ जाता है।

7. फिजिकल एक्टिविटी के बाद दर्द का कम हो जाना

यह टिप्स करेंगे मदद-

यह टिप्स करेंगे मदद-

1. बैठते समय अपने कूल्हों के नीचे एक कुशन रखें।

2. चेयर पर बैठते समय पीछे की ओर कुशन रखे।

3. अपनी कोर मसल्स को इंगेज करने के लिए पेट से सांस ले।

लेकिन अगर आप लंबे समय से इस दर्द परेशान है तो ऐसे में ये स्टेप्स अपनाएं-

1. लेट कर 20 मिनट तक इस हिस्से पर बर्फ लगाएं एक घंटे के बाद फिर से इसे दोहराएं।

2. सिंपल स्ट्रेच की मदद से कोक्सीक्स मसल्स के तनाव और ऐठन को दूर करके टेलबोन पेन दूर कर सकते हैं।

3. वाइड लेग पोजीशन में डीप स्क्वाट करने से भी मदद मिलती है, बस अपनी कोर को सक्रिय करें और सही ढंग से बैठे।।

कैसे करें टेलबॉन पेन के जोखिम को कम-

1. इन एक्टिविटीज को करें अवॉइड- टेलबोन पेन के जोखिम को कम करने के लिए साइकिलिंग करने से बचे। साथ ही लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठने से बचे।

2. गिरने से बचे- अपने आसपास फर्श पर ऐसी कोई चीज ना रहने दें जिससे उलझ कर आप गिर सकती हैं, साथ ही सावधानी से सीढ़ियां चढ़े।

English summary

tricks that can help to manage tailbone pain after delivery

here we are going to tell you some tricks to manage tailbone pain and also some steps to reduce the risk.
Desktop Bottom Promotion