For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

इन 10 सामानों को बदलकर घर को बनाएं प्लास्टिक-फ्री

|

अगर हम चाहते हैं कि हमारा खुद का आने वाला कल और नयी पीढ़ी को भविष्य में स्वस्थ पर्यावरण मिले तो इसकी शुरुआत आज से ही करनी होगी। मौजूदा समय में लोगों ने इस तरफ कदम बढ़ाते हुए कम से कम प्लास्टिक-फ्री होने का फैसला किया है ताकि स्थिति थोड़ी बेहतर हो सके। अगर आप ये सोच रहे हैं कि पर्यावरण को बेहतर बनाने के लिए आप क्या योगदान कर सकते हैं तो इस तरह शुरुआत कर सकते हैं।

फ्रिज से हटा दें प्लास्टिक की बोतलें

फ्रिज से हटा दें प्लास्टिक की बोतलें

कांच और स्टेनलेस स्टील की बोतलें आजकल फैशन में हैं और ये काफी अच्छी बात है। आप घर की सभी प्लास्टिक की बोतलों को बदलकर कांच या फिर स्टील की बोतलें ले आएं। इस तरह आप पर्यावरण की बेहतरी के लिए छोटा सा योगदान दे सकते हैं।

Most Read: सिर्फ कपड़े ही नहीं, वॉशिंग मशीन में आप धो सकते हैं ये चीजें भी

कूड़ा डालने के लिए प्लास्टिक थैलों का न करें इस्तेमाल

कूड़ा डालने के लिए प्लास्टिक थैलों का न करें इस्तेमाल

ये सबसे बड़ी समस्या है कि घर का कूड़ा कर्कट इकट्ठा करके फेंकने के लिए भी प्लास्टिक की ही थैलियों का इस्तेमाल किया जाता है। लोगों को इसके विकल्प के बारे में जानकारी नहीं है। मगर अब इन प्लास्टिक थैलों की जगह पर बायोडिग्रेडेबल गार्बेज बैग आ गए हैं जो बाजार में आसानी से उपलब्ध हैं। इनकी कीमत भी ज्यादा नहीं है।

क्लिंग और फॉइल रैप का इस्तेमाल रोकें

क्लिंग और फॉइल रैप का इस्तेमाल रोकें

किचन में मौजूद क्लिंग शीट और फॉइल रैप रोजाना इस्तेमाल में आते हैं। मगर इससे भी बेहतर ऑप्शन beeswax wraps मार्केट में उपलब्ध है। बीज़ वैक्स और जोजोब ऑयल में मौजूद प्राकृतिक एंटीबैक्टीरियल गुण भोजन को प्लास्टिक की तुलना में बेहतर तरीके से सुरक्षित और फ्रेश रखते हैं।

अपना प्लास्टिक टूथब्रश बदलें

अपना प्लास्टिक टूथब्रश बदलें

क्या आप जानते हैं कि कूड़े में फेंके गए आपके प्लास्टिक टूथब्रश को डीकम्पोज होने में चार सौ साल लग जाते हैं। आप बैम्बू से तैयार टूथब्रश का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये प्लास्टिक टूथब्रश जितना ही चलता है और आसानी से डीकम्पोज भी जाता है।

Most Read: कपड़ों से लेकर फोन में हुई सीलन को दूर करता है सिलिका जेल, इसके और भी हैं फायदे

पिएं फ्रेश ड्रिंक्स

पिएं फ्रेश ड्रिंक्स

कार्बोनेटेड और सेहत के लिए हानिकारक ड्रिंक्स से दूरी बनाएं जो खतरनाक प्लास्टिक की बोतलों में आती हैं। इसके स्थान पर आप फ्रेश जूस, नींबू पानी या नारियल पानी पी सकते हैं।

एनवायरनमेंट फ्रेंडली सैनिटरी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल

एनवायरनमेंट फ्रेंडली सैनिटरी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल

दुनियाभर की महिलाएं खतरनाक सैनिटरी पैड्स और प्लास्टिक टेम्पोंस की जगह अब कॉटन या कपड़े के पैड्स और मेंस्ट्रुअल कप्स का इस्तेमाल करने पर जोर दे रही हैं जो कि एक बढ़िया कदम है।

एयर प्यूरीफायर की जगह अगरबत्ती का प्रयोग

एयर प्यूरीफायर की जगह अगरबत्ती का प्रयोग

एयर प्यूरीफायर प्लास्टिक के बोतलों में आता है। ऐसे में जब हमारे पास अगरबत्ती का सस्ता और एनवायरनमेंट फ्रेंडली ऑप्शन मौजूद है तो एयर प्यूरीफायर की क्या जरूरत है।

Most Read: सिर्फ किचन ही नहीं, और भी कई काम आसान कर देती है एल्युमिनियम फॉयल

कपड़े धोने के लिए रीठा का उपयोग

कपड़े धोने के लिए रीठा का उपयोग

रीठा एक बेहतरीन कंडीशनर की तरह काम करता है और कई लोग बाल धोने के लिए भी इसका इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि रीठा कपड़े साफ़ करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। ये एक प्राकृतिक कीटनाशक है इसलिए ये फैब्रिक को कीड़ों से खराब होने से बचाता है। इससे ज्यादा झाग नहीं निकलता है इसलिए पानी की खपत भी कम होती है।

शॉपिंग बैग लेकर निकलें

शॉपिंग बैग लेकर निकलें

प्लास्टिक के थैले बैन होने के बावजूद कई दुकानदार अब भी आपका सामान पैक करने के लिए इनका इस्तेमाल कर रहे हैं। आप इसे बढ़ावा देने से बचें। आप खरीदारी के लिए जाते समय घर से कैनवस, जूट या कपड़े का थैला लेकर जाएं।

Most Read: इस रक्षाबंधन पर बहन को देना चाहते हैं कुछ खास तो देखें ये लिस्ट

इंक पेन से लिखना शुरू करें

इंक पेन से लिखना शुरू करें

प्लास्टिक पेन का इस्तेमाल बंद करने से ना सिर्फ आप पर्यावरण के लिए बेहतर कदम उठाएंगे बल्कि इंक पेन से लिखने का सुखद एहसास भी आपको मिलेगा। ऐसे इंक पेन की मदद से आप अपनी लिखाई में भी सुधार ला सकते हैं।

English summary

10 Items You Must Replace At Home To Go Plastic-Free

Going plastic-free is one of the biggest steps that our generation has taken towards a better future.
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more