घर की सफाई के दौरान ना भूलें इन चीज़ों को साफ़ करना, बन सकता है बिमारियों की वजह

Subscribe to Boldsky

घर वो जगह होती है जहां हम सबसे ज़्यादा सहज महसूस करते हैं। पूरा दिन काम करने के बाद घर पर ही आराम और शांति मिलती है। यही वजह है कि कुछ लोग अपने घर को लेकर बहुत पोजेसिव होते हैं। वो अपने घर का बहुत ख्‍याल रखते हैं और हर चीज़ को उसकी सही जगह पर रखने की कोशिश करते हैं।

उन्‍हें हर वक्‍त अपना घर साफ और सुंदर चाहिए होता है। हालांकि, कई बार बहुत प्रयास करने के बावजूद भी घर हमेशा साफ नहीं रह पाता है। इसकी वजह ये भी हो सकती है कि घर के कुछ हिस्‍सों की सफाई को हम नज़रअंदाज़ कर देते हैं।

Things You Need To Clean Daily

आज इस पोस्‍ट के ज़रिए हम आपको घर के उन कोनों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन पर आपको ध्‍यान देने की ज़रूरत है। तो चलिए जानते हैं कि घर को पूरी तरह से साफ रखने के लिए किन चीज़ों की सफाई पर ध्‍यान देना ज़्यादा ज़रूरी है।

इलेक्‍ट्रॉनिक चीज़ें

आज के समय में हमारे घर में एक या दो नहीं बल्कि कई सारे इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरण होते हैं जिन पर हम कई बार हाथ लगाते हैं जैसे कि फोन और कीबोर्ड। इन चीज़ों पर परिवार के कई लोग हाथ लगाते होंगे।

ऐसे में आपको इन चीज़ों को हर हफ्ते डिस्‍इंफेक्‍टेंट वेट वाइप से साफ करना चाहिए। इससे घर के एक सदस्‍य से दूसरों तक कीटाणु नहीं पहुंच पाते हैं।

दरवाज़े के हैंडल

घर के इस हिस्‍से पर लोगों के सबसे ज़्यादा हाथ लगते हैं और इस पर कीटाणुओं का बहुत जमावड़ा रहता है। डॉक्‍टरों का कहना है कि कई बैक्‍टीरियल बीमारियां दरवाज़ों के हैंडल पर जमा कीटाणुओं से ही फैलती है।

इसलिए हर दो-चार दिन में डिस्‍इंफेक्‍टेंट क्‍लीनर से घर के दरवाज़ों के हैंडल को साफ करें। रेफ्रिजरेटर के हैंडल पर भी यही बात लागू होती है। अगर परिवार में कोई व्‍यक्‍ति बीमार है तो घर के इन हिस्‍सों की सफाई रोज़ करें। इससे घर में कीटाणु कम फैलते हैं।

टीवी का रिमोट

घर की इस चीज़ पर भी कई लोगों के हाथ लगते हैं। कुछ लोग टीवी देखते समय खाते भी हैं और इस वजह से रिमोट पर कीटाणुओं का जमावड़ा लग जाता है। रिमोट को साफ रखने के लिए महीने में एक बार उसकी सफाई ज़रूर करें।

रिमोट को साफ करने से पहले उसमें से बैटरी निकाल लें। एक मुलायम कपड़ा लें और उस पर कुछ क्लीनिंग सॉल्‍यूशन की बूंदें डालकर रिमोट को साफ करें। पूरे रिमोट पर कपड़ा मारें। अब एक ईयरबड लें और उस पर भी कुछ बूंदे क्‍लीनिंग सॉल्‍यूशन की डालें। इससे रिमोट के क्‍यूटिक्‍ल्‍स भी साफ हो जाएंगे।

अगर आपको रिमोट के कोनों में धूल दिख रही है तो टूथपिक से उसे साफ करें। जब रिमोट पूरी तरह से सूख जाए तो उसके कुछ मिनट बाद उसमें बैटरी लगा दें।

डिशवॉशर

हर इलेक्‍ट्रॉनिक गैजेट की तरह डिशवॉशर को भी साफ करना ज़रूरी है। इसकी सफाई के बाद बॉटम रैक खींचे और उसमें थोड़ा बेकिंग सोडा छिड़क दें। अब एक कप डिस्टिल्‍ड विनेगर को रैक के टॉप पर डालें।

पूरा डिशवॉशर खाली होना चाहिए। इस सफाई से पूरा डिशवॉशर चमक जाएगा और उससे अच्छी महक भी आएगी। हर तीन सप्‍ताह में इसकी सफाई करना ज़रूरी है।

एयर फिल्‍टर

जिन घरों में एयर फिल्‍टर इस्‍तेमाल होते हैं वहां पर 30 से 60 दिनों के भीतर एयर फिल्‍टर की सफाई करना ज़रूरी होता है। आपके घर और वहां रहने वाले लोगों की संख्‍या के हिसाब से एयर फिल्‍टर की सफाई करते रहें। अगर आप एयर फिल्‍टर की सफाई नहीं करते हैं तो उसमें माइक्रोब्‍स जमा हो जाएंगे जो कि आपके परिवार को कई तरह की बीमारियां दे सकते हैं।

स्‍पॉन्‍ज की सफाई

बर्तनों को साफ करने के लिए आपको स्पॉन्ज को भी साफ रखने की ज़रूरत है। इसे साफ पानी में डुबो दें और फिर सीधा माइक्रोवेव में रख दें। दो मिनट के लिए माइक्रोवेव को फुल पॉवर पर चलाएं। इससे स्‍पॉन्‍ज के 99 प्रतिशत कीटाणु मर जाएंगे। माइक्रोवेव से इसे निकालने से पहले अच्‍छी तरह से ठंडा होने दें।

टॉयलेट का बाहरी हिस्‍सा

कुछ लोग रोज़ अपने टॉयलेट की सफाई करते हैं जबकि कुछ हफ्ते में एक बार बाथरूम साफ करते हैं। हालांकि, सभी टॉयलेट के बाहरी हिस्‍से को साफ नहीं करते हैं।

बाकी हिस्‍सों की तरह टॉयलेट का बाहरी हिस्‍सा भी गंदा होता है। ऐसे में ज़रूरी है कि टॉयलेट की सफाई के दौरान सीट को नीचे करके लिड, टैंक, स्‍टैंड के बॉटम और बाकी बाहरी हिस्‍सों की भी सफाई करें।

इसके अलावा डिस्‍इंफेक्‍टेंट वाइप से फ्लश हैंडल भी साफ करें। आप नहीं जानते कि इस पर कितने लोगों के गंदे हाथ लगे होंगे। अपने टॉयलेट को कीटाणुओं से बचाने के लिए फ्लश करने से पहले लिड को डाउन कर दें।

इससे माइक्रोब्‍स को एयरबोर्न नहीं मिल पाता है। अगर ऐसा होता है तो एयरबोर्न माइक्रोब्‍स वॉशरूम की अलग-अलग जगहों में जमकर बीमारियां फैलाते हैं।

स्विचबोर्ड

दरवाजों के हैंडल की तरह घर के इस हिस्‍से पर भी कई लोगों का हाथ लगता है। इस जगह को भी कीटाणुओं से सुरक्षित रखना ज़रूरी है। घर के हर स्विचबोर्ड को डिस्‍इं‍फेक्टिंग वाइप से साफ करें। हफ्ते में एक बार इनकी सफाई ज़रूर करें।

ड्रेन

हर दिन सिंक में ना जाने कितना खाना गिरता है। इसकी वजह से सिंक में माइक्रोब्‍स पैदा हो सकते हैं जिससे सिंक चिपचिपा हो जाता है। इससे बचने के लिए हर रात को ड्रेन क्‍लीनिंग ड्रिल से सफाई करना ज़रूरी है।

नल को तेज़ धार में खुला छोड़ लें और इसके बाद बर्फ के कुछ टुकड़ें सिंक में डालें। इससे ड्रेन साफ होने में मदद मिलती है। इसके अलावा आप इसमें नीबू के छोटे-छोटे टुकड़े भी डाल सकती हैं। ऊपर से माइक्रोब्‍स को हटाने के लिए नींबू के रस की कुछ बूंदें डाल दें। इससे सिंक में खुशबू रहेगी।

नमक और मिर्च होल्‍डर

इस पर जमे कीटाणुओं की वजह से घर के सदस्‍यों को सबसे ज़्यादा सर्दी और फ्लू की समस्या होती है। हालांकि, इन्‍हें साफ करना बहुत आसान है। इसके लिए आपको बस नमक और मिर्च के शेकर को रात को डाइनिंग टेबल को साफ करते समय इनकी टॉप लिड पर कपड़ा मारना है।

इससे ये होल्‍डर्स साफ रहते हैं और घर में बीमारियां भी नहीं फैलती हैं। हर महीने में इन्‍हें खाली करके भी सफाई करते रहें। होल्‍डर्स को खाली करके उसे गर्म पानी में डुबो दें और इसमें कुछ बूंछें डिस्‍इंफेक्‍टेंट की डालकर 15 मिनट के लिए छोड़ दें। बाद में इसे तौलिए से साफ कर लें।

जब ये पूरी तरह से सूख जाएं तो इनमें दोबारा से नमक और मिर्च भर दें।

अब तो आप जान गए ना कि अपने घर को पूरी तरह से साफ और परिवार को स्‍वस्‍थ रखने के लिए आपको किन चीज़ों की सफाई पर ध्‍यान देना चाहिए।

घर साफ रहेगा तो आपके मन को भी शांति मिलेगी और आप राहत महसूस करेंगे। आपकी थोड़ी सी मेहनत से आपका घर और आपका परिवार स्‍वस्‍थ रह सकता है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    List of Household Things You Need To Clean Daily

    This article talks about 10 households items you need to clean every day. It also states some easy hacks about cleaning the same. Read on to know.
    Story first published: Monday, August 13, 2018, 14:00 [IST]
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more