क्‍या करें जब आपका बच्‍चा पहली बार बोले झूंठ?

Posted By:
Subscribe to Boldsky

छोटे बच्‍चे जब खुद को मम्‍मी की डांट से बचाना चाहते हैं तो अक्‍सर झूंठ बोलना शुरु कर देते हैं। शुरु-शुरु में तो यह मां-बाप इन बातों को नज़रअंदाज कर देते हैं लेकिन बाद में यही झूंठ बोलना बच्‍चों की आदत बन जाती है।

बेटे के 18 साल पूरे होने से पहले हर मां को उसे सिखानी चाहिये ये बातें

अगर आपने भी अपने 3-5 की उम्र के बच्‍चे को छोटी छोटी बातों के लिये झूंठ बोलते हुए पकड़ा है तो, इसे हल्‍के में ना लें। इससे पहले की झूंठ बोलना बच्‍चे की आदत बन जाए, आइये जानते हैं कि इसको कैसे रोका जा सकता है। 

Why Kids Lie & What to Do about It

अपने व्यवहार को देखिये: 

बिना सोचे समझे हम अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में ढेर सारे झूंठ बोलते हैं। और हम भूल जाते हैं कि कहीं पास में बैठे हमारे बच्‍चे, यही झूंठ सुन रहे होते हैं। जब भी काम पर झूंठ, ट्रैफिक सिगनल तोड़ने के बाद झूंठ या फिर दूसरो से गॉसिप करते समय झूंठ बोलते होंगे तो क्‍या आपका बच्‍चा आपको नहीं देखता होगा। इसलिये बच्‍चे को वही सिखाएं जो आप खुद हैं।

मम्‍मी-पापा के झगड़ों का क्‍या असर होता है बच्‍चे पर?

अपनी प्रतिक्रियाओं को मॉनिटर काीजिये:

कई बार बच्‍चे खुद का मजाक बनने से रोकने के लिए या फिर आपके गुस्‍से से खुद को बचाने के लिये झूंठ बोलते हैं। अगर आप उसकी बातों का खराब से रीएक्‍ट करेंगे या फिर तेजी से उस पर चिल्‍लाएंगे, तो वह दूसरी बार जरुर झूंठ बोलेगा। तो ऐसे में आपको क्‍या करना चाहिये? यह आपको अगले प्‍वाइंट में पता चलेगा।

अपनी बात को प्‍यार से समझाएं:

आप अपनी बात पर अड़े रहिये मगर बच्‍चे से प्‍यार से बात कीजिये। बच्‍चे से प्‍यार से बात कर के उन्‍हें गले लगाइये और उन्‍हें बताइये कि वह आपसे किस तरह से व्‍यवहार करें।

English summary

Why Kids Lie & What to Do about It

If your child starts lying, how do you arrest the behaviour before it becomes a habit? Child psychologist, shares a few tips on what to do when kids start lying.
Story first published: Thursday, February 16, 2017, 14:22 [IST]
Please Wait while comments are loading...