इन 7 गलतियों की वजह से महिलाओं को नहीं मिल पाता है प्‍लेजर

Posted By:
Subscribe to Boldsky

अधिकतर महिलाओं को ऑर्गेज्‍म का प्लेज़र पाना मुश्किल होता है क्योंकि अनजाने में वे ऐसी गलतियां कर बैठती हैं जिसके कारण जो प्लेज़र लेने में बाधा डालते हैं।

आखिर महिलाओं में क्‍यूं होने लगती है सेक्‍स की इच्‍छा में कमी?

आइए जानते है कुछ ऐसे ही गलतियों के बारे में बताया है जो ऑर्गैज़्म पाने में बाधा डालते हैं। जानने के लिए अगले स्लाइडों पर जाएं।

सेक्‍स के दौरान ये 6 गलतियां कर देती है बिस्‍तर में मूड खराब

क्लिटोरिस को उत्तेजित न करना-

क्लिटोरिस को उत्तेजित न करना-

शायद आपको पता नहीं कि क्लिटोरिस को उत्तेजित करने से पेनिट्रेटिव सेक्स करते वक्त कितनी उत्तेजना बढ़ती है। इसलिए अगर ऑर्गैज़्म का सुख पाना चाहते हैं तो क्लिटरिस के साथ फोरप्ले ज़रूर करें।

पेशाब को दबा कर रखना-

पेशाब को दबा कर रखना-

अगर आप पेशाब को दबाकर सेक्स का प्लेजर लेना चाहती हैं तो ऐसा नहीं होगा ये समझ लें।

लुब्रिकेशन का इस्तेमाल न करना-

लुब्रिकेशन का इस्तेमाल न करना-

लुब्रिकेशन नहीं होने पर पेनिट्रेटिव सेक्स का प्लेज़र नहीं मिल पाता है इसलिए इसका इस्तेमाल करें और ऑर्गैज़्म का सुख लें।

चुप रहना-

चुप रहना-

जब तक आप खुलकर बात करके अपना अनुभव शेयर नहीं करेंगी तब तक ऑर्गैज़्म का सुख कैसे मिलेगा।

मास्टरबेट न करना-

मास्टरबेट न करना-

आपको पता नहीं कि मास्टरबेट करने से फैंटसी के बारे में ज्यादा ख्याल आता है जिससे सेक्स के दौरान रोमांचकता बढ़ती हैं जो ऑर्गैज़्म तक पहुँचने में मदद करता है

अपने शरीर को लेकर ज्यादा सचेत होना-

अपने शरीर को लेकर ज्यादा सचेत होना-

अक्सर क्लाइमेक्स तक महिलाएं इसलिए नहीं पहुँच पाती क्योंकि वे खुद को लेकर ज्यादा सचेत हो जाती हैं। सेक्स के दौरान उनके दिमाग में यही चलता है कि अच्छी दिख रही है न, दुर्गंध तो नहीं निकल रहा है आदि।

बार-बार सेक्स पोजिशन बदलना-

बार-बार सेक्स पोजिशन बदलना-

बार-बार सेक्स पोजिशन बदलने से क्लाइमेक्स तक पहुँचना मुश्किल होता है इसलिए एक पोजिशन में ही फोरप्ले के द्वारा सेक्स का प्लेज़र लें।

Story first published: Monday, March 6, 2017, 16:18 [IST]
English summary

7 reasons why you are not having vaginal orgasms

Let's be honest — climaxing can be tricky at times. But learning to correct simple bedroom boo-boos can ensure you reach your peak potential a lot more often. Read on.
Please Wait while comments are loading...