माइग्रेन पड़ने के 7 चौंका देने वाले कारण

By: Aditi Pathak
Subscribe to Boldsky

माइग्रेन का दर्द, किसी को भी बेहाल कर देता है। ऐसा दर्द उठने पर 48 घंटे बाद ही आराम मिलता है और कई समस्‍याएं जैसे मतली आना, चक्‍कर आना आदि भी रहती हैं। माइग्रेन का दर्द उठने से पहले जी उबकाता है, आंखों में हल्‍का सा जाला जैस लगता है और सिर में एक साइड ही दर्द शुरू होता है। शुरू में यह धीमे होगा लेकिन बाद में तेज हो जाता है और थोड़ी देर बाद हाल खराब हो जाता है।

माइग्रेन की समस्‍या होने के कई कारण होते है। लेकिन माइग्रेन कई आश्‍चर्यजनम कारणों से भी होता है, जो कि निम्‍म प्रकार हैं :

1) तनाव

1) तनाव

कई घंटों तक लगातार काम करना और तनाव लेने से माइग्रेन का दर्द सबसे ज्‍यादा होता है। जो लोग दिन - रात काम में लगे रहते है या पढ़ते रहते है, उन्‍हे माइग्रेन की समस्‍या सबसे ज्‍यादा होती है। इसके आप, दिन में थोड़ी - थोड़ी देर में नींबू पानी या चाय पीते रहे, इससे शरीर में स्‍फूर्ति बनी रहेगी। वैसे तनाव होने पर सो जाने से भी माइग्रेन में राहत मिलती है।

2) मौसम

2) मौसम

तेज धूप या ठंडी हवा में भी माइग्रेन का दर्द उठता है। माइग्रेन का दर्द, तापमान बढ़ने, अधिक नमी वाले स्‍थानों पर ज्‍यादा जल्‍दी होता है। सर्दी वाले स्‍थानों में धूप में बैठकर इससे बचा जा सकता है, लेकिन हर मौसम में परहेज रखने की आवश्‍यकता होती है।

3) कैफीन विदड्रा

3) कैफीन विदड्रा

हाल ही में हुए कई अध्‍ययनों में पता चला है कि जो लोग कैफीन की ज्‍यादा मात्रा लेते है उन्‍हे भी माइग्रेन की समस्‍या हो सकती है। हर दिन दो कप से ज्‍यादा चाय या कॉफ पीने वाले लोगों को ऐसी समस्‍या हो सकती है। इसलिए, सलाह दी जाती है कि कम से कम कैफीन को शरीर में जाने दें।

4) तेज म्‍यूजिक

4) तेज म्‍यूजिक

लम्‍बे समय तक तेज म्‍यूजिक सुनने से भी माइग्रेन का अटैक पड़ जाता है जिससे उठने वाला दर्द 72 घंटे तक होता है। इसलिए म्‍यूजिक को धीमी आवाज में और कम सुनें।

5) रिएक्टिव हाइपोग्लाइसीमिया

5) रिएक्टिव हाइपोग्लाइसीमिया

उच्‍च मात्रा में कुछ चीजों को खाना जैसे - सुगर और पाश्‍ता आदि से भी माइग्रेन की समस्‍या हो जाती है। इनके सेवन से बॉडी में इंसुलिन की मात्रा टूटने लगती है और सुगर का स्‍तर गिर जाता है जिससे ब्‍लड़ सुगर कम हो जाता है, जिससे सिर में दर्द होने लगता है।

6) ज्‍यादा सो लेना

6) ज्‍यादा सो लेना

एक दिन में नौ घंटे से ज्‍यादा नींद लेने पर भी माइग्रेन की समस्‍या हो जाती है। जो लोग वीकेंड में फुल मजा उठाने के चक्‍कर सारा दिन सोते रहते है, उनके शरीर में भारीपन लगता है और उनका डेली रूटीन बिगड़ जाता है जिससे उन्‍हे आराम करने के बाद भी थकान लगती है और सिर दुखने लगता है।

7) खाली पेट

7) खाली पेट

घंटो तक खाली पेट रहने के कारण गैस की समस्‍या और सिर में दर्द होने लगता है। इसलिए अगर आपकी आदत नाश्‍ता न करने की है तो उसे छोड़ दें और समय पर नाश्‍ता, लंच और डिनर करें। दिन की शुरूआत फलों को खाकर और पानी पीकर करें, तो अच्‍छा रहेगा।

English summary

7 surprising triggers of migraine

For a patient of migraine, it is very important to identify what triggers the pain to avoid future attacks. Here are some of the surprising triggers.
Story first published: Tuesday, January 21, 2014, 17:32 [IST]
Please Wait while comments are loading...