पुराने तकिये हो सकते है सेहत के लिए खतरनाक साबित

Subscribe to Boldsky

हम में से कई लोग है जो बिना ताकिए के सो ही नहीं पाते है। ताकिया जितना मुलायम होता है उतनी ही अच्‍छी नींद आती है। लेकिन कई बार होता है कि अगर हम ताकियों की ठीक से रख रखाव न करें तो ताकियें की वजह से भी हम भी   धीरे-धीरे बीमार हो सकते है।

जानिये आपके बच्‍चे को क्‍यूं जरुरत नहीं है तकिये की

पूरे दिन की भागदौड़ के बाद आपको सुकून की नींद की जरुरत होती है। ऐसे में आरामदायक और मुलायम तकिया आपके लिए सोने में सोने पर सुहागे से कम नहीं होता।

तकिये के रखरखाव पर ध्‍यान देना उतना जरुरी है। जितना कि हम हमारी दिनचर्या से जुड़ी दूसरी चीजों का भी करते है। तकिये का उचित ध्‍यान नहीं देने की स्थिति में इंफेक्‍शन, दर्द और नींद न आने जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं।

तकिए साफ करने के साधारण तरीके

 बैक्‍टीरियल संक्रमण का खतरा

बैक्‍टीरियल संक्रमण का खतरा

आपको भले ही आपके पुराने तकिये से लगाव हो और इसके बिना आपको नींद नहीं आती हो पर क्‍या आप ये बात जानते हैं कि आपको चैन और सुकून की नींद देने वाला ये तकिया बैक्‍टीरिया का घर भी बन जाता है। आपके पुराने तकिये में काफी बैक्टीरिया और धूल हो जाती है. घर के अंदर आने वाली धूल-मिट्टी तकिये पर जम जाती है।

अगर आपके घर में कोई पालतू जानवर है तो उनके जरिए भी आपके तकिये पर बैक्‍टीरिया आ जाते हैं। ये बैक्‍टीरियाज आपकी सांस के जरिये आपके शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और अस्‍थमा जैसी श्‍वसन संबंधी बीमारी का कारण बनते हैं। इसके अलावा इनके कारण आपको एलर्जी भी हो सकती है।

 तकिये की जांच कैसे करें

तकिये की जांच कैसे करें

अगर आपका तकिया पुराना हो चुका है और उसका प्रयोग अब नहीं हो सकता है तो पहले उसकी जांच कर लें. यह देख लें कि तकिये में कितनी गंदगी जमी हुई है. इसके अलावा आपको सोते वक्त इससे परेशानी तो नहीं होती, यानि आपकी रात करवट बदलते हुए तो नहीं बीत जाती और सुबह उठने पर अगर आपको गर्दन में अकड़न, पीठ, टखनों या घुटनों में दर्द महसूस हो तो समझ जाइये कि अब तकिये को बदल देने की जरूरत है।

तकिया कैसा होना चाहिए

तकिया कैसा होना चाहिए

बाजार में कई तरह के तकिये मिलते हैं, उनमें से आपके लिए सबसे बेहतर तकिये का चुनाव करना आपके लिए मुश्किल तो हो सकता है, तो ऐसे में एक बेहतर और आरामदेह तकिये की खरीद में हम आपकी मदद कर सकते हैं।

1. पॉलिस्‍टर सबसे मशहूर और सस्‍ता होता है, क्‍लस्‍टर युक्‍त इन तकियों को आप वॉशिंग मशीन में धो सकते हैं।इनको दो साल में बदल दीजिए।

2. लैटैक्स तकिये बहुत आरामदायक होते हैं, इनको तो आप 10-15 साल तक प्रयोग कर सकते हैं।

3. मेमोरी फोम तकिये भी बहुत ही आरामदेह होते हैं, क्‍योंकि ये लेटने पर सिर और गर्दन की शेप खुद ही बना लेते हैं. गर्भवती महिलाओं को इन तकियों का ही प्रयोग करने की सलाह दी जाती है।

4. पानी वाले तकिये में पानी के पाउच जैसा सपोर्ट होता है, ये तकिये नर्म होते हैं और हाइपो-ऐलर्जिक भी होते हैं, हां पर ये थोड़ा आरामदेह नहीं होते हैं।

इन बातों का रखें विशेष ध्‍यान :

इन बातों का रखें विशेष ध्‍यान :

अगर आप तकिया को लंबे समय तक इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको कुछ बातों को ध्‍यान में रखना चाहिए..

1. अगर आपके बाल गीले हों तो तकिये पर न लेटें, क्‍योंकि गीली और गंदी जगह पर बैक्टीरिया जल्‍दी और ज्‍यादा पनपते हैं।

2. तकिये के साथ-साथ इसके कवर का भी ध्‍यान रखें। तकिये का कवर ऐसा हो जिससे धूल-मिट्टी अंदर तक न पहुंचे। अगर मुमकिन हो सके तो अपने बेडरूम में डी-ह्यूमिडफायर लाकर रख लें।

3. इन सुझावों और उपायों को ध्‍यान में रखेंगे तो आपकी नींद के बीच में आपका तकिया नहीं आयेगा। आपको चैन की नींद भी आएगी और आप हमेशा स्वस्थ्य रहेंगे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    old pillows are dangerous for health

    did you ever stop to think that your pillow could actually be harming your health? We know; it's sooo soft and cosy, how could it be harmful? Well, we're here to give you the lowdown.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more