कहीं आप नकली मावा तो नहीं खा रहे हैं, इन ट्रिक्‍स से असली और नकली में करें फर्क

Subscribe to Boldsky

फेस्टिव सीजन में मिठाईयों की मिठास के बगैर त्‍योहार फीका सा लगता है। फेस्टिवल की रौनक बढ़ाने के ल‍िए घर में कई तरह की मिठाईयां लाई जाती है, खासतौर पर मावा। लेकिन मार्केट में बढ़ती डिमांड की वजह से नकली मावे की सप्‍लाई भी बढ़ जाती है। फेस्टिवल सीजन में बाजार से लाया गया मावा नकली न‍िकलने की बहुत कैसेज सामने आते है। ऐसे में आप इस जांच से मालूम कर सकते है कि आपके द्वारा बाजार से लाया गया मावा कहीं नकली तो नहीं है?

नकली मावा खाने से सेहत को बहुत नुकसान पहुंचता है। घर पर ही आसानी से मिलावटी मावे की पहचान की जा सकती है। आइए जानते है कैसे असली और नकली मावे में फर्क किया जाएं।

 ऐसे बनाया जाता है

ऐसे बनाया जाता है

नकली मावा बनाने में स्टार्च, आयोडीन और आलू का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा नकली को असली दिखाने के लिए केमिकल मिलाते हैं, वहीं मिल्क पाउडर में वनस्पति घी मिलाकर भी मावा तैयार किया जाता है जिसमें शकरकंदी, सिंघाड़े का आटा, आलू और मैदे का प्रयोग किया जाता है।

 नकली मावा खाने के साइड इफेक्‍ट्स

नकली मावा खाने के साइड इफेक्‍ट्स

मिलावटी मावे से पेट दर्द, डायरिया, मरोड़, पेट में भारीपन, एसिडिटी और इनडाइजेशन जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इस मावे ज्यादा मात्रा में सेवन कर लिया जाए तो इंटरनल ऑर्गन्स पर भी बुरा असर पड़ सकता है। इसकी वजह इसमें लिटमस पेपर का मिलाया जाना है जो पानी को सोखने की क्षमता रखता है। मावे में घटिया किस्म का सॉलिड मिल्क मिलाया जाता है। इसमें टेलकम पाउडर, चूना, चॉक और सफेद केमिकल्स जैसी चीजों की मिलावट भी होती है। ऐसे मावे से बनी मिठाइयों से किडनी और लिवर पर बहुत बुरा असर पड़ सकता है। इतना ही नहीं, इससे कैंसर, फूड प्वाइजनिंग, वॉमिटिंग और डायरिया जैसी बीमारियां भी हो सकती हैं।

Most Read :अलर्ट! कहीं आप मिलावटी दूध तो नहीं पी रहे हैं, ऐसे पहचाने नकली दूध को

चखकर देखे

चखकर देखे

असली खोया को पहचानने का सबसे आसान तरीका यह भी है कि असली मावा चिपचिपा नहीं होता है। मावे को चखकर भी मालूम किया जा सकता है कि वो असली है या नकली। चखने पर अगर मावे का स्वाद कसैला आता है तो मावा नकली हो सकता है।

अंगूठे से रगड़े

अंगूठे से रगड़े

मावा या खोया को अपने अंगूठे के नाखून पर रगड़ें, अलग यह असली है तो इसमें से घी की महक आएगी और खुशबू देर तक रहेगी, हथेली पर खोया की गोली बनाएं। अगर यह फटने लग जाए तो समझिए मावा नकली है या इसमें मिलावट की गई है।

Most Read :दूध को बार-बार उबालकर पीना होता है सेहत के ल‍िए हानिकारक, जानें कैसे?

पानी में डाले

पानी में डाले

2 ग्राम मावा का 5 मिलीलीटर गरम पानी में घोल लें और इसे ठंडा होने दें। ठंडा होने के बाद इसमें आयोडीन सोलूशन डालें। अगर खोया नकली होगा तो इसका रंग नीला हो जाएगा। इसके अलावा

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary

    Simple home tests to check adulterated Mava or Khoya

    here are a number of ways to check if the mava you are buying is fit for consumption or not.
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more