For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

यून‍िसेफ ने वायु प्रदूषण पर जाह‍िर की चिंता, कहा बच्‍चों के ल‍िए मस्तिष्‍क पर पड़ रहा है असर

|

दिल्‍ली में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए यूनीसेफ ने भी चिंता जाहिर की है। यूनीसेफ (UNICEF) की कार्यकारी निदेशक हेनरिटा फोरे ने आगाह किया है कि वायु प्रदूषण की विषाक्तता बच्चों के मस्तिष्क विकास को प्रभावित कर सकती है और भारत व दक्षिण एशिया में गहराते इस संकट से निपटने के लिए उन्होंने तत्काल कदम उठाने का आह्वान किया।

हाल ही में भारत का दौरा कर चुकीं फोरे ने बुधवार को कहा, "मैंने अपनी आंखों से देखा है कि बच्चे वायु प्रदूषण के भयानक परिणामों से किस तरह लगातार पीड़ित हो रहे हैं।" उन्होंने कहा, "वायु गुणवत्ता एक संकट के स्तर पर थी। आप वायु शोधक मास्क लगाने के बाद भी विषाक्त धुंध की गंध का अहसास कर सकते हैं।"

Air Pollution Affects Childrens Brain Development, Says Unicef

फोरे ने कहा कि यूनीसेफ दक्षिण एशिया में 62 करोड़ बच्चों को प्रभावित कर रहे इस वायु गुणवत्ता संकट से निपटने के लिए तत्काल कदम उठाने का आह्वान करता है। उल्लेखनीय है कि पड़ोसी राज्यों में पराली जलाए जाने के कारण पैदा हुए गंभीर पर्यावरण हालात के मद्देनजर दिल्ली के स्कूलों को मंगलवार तक के लिए बंद कर दिया गया था। दिल्ली में रविवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 625 पर पहुंच गया था, जिसे अत्यंत गंभीर स्तर का माना जाता है।

English summary

Air Pollution Affects Children's Brain Development, Says Unicef

Air pollution affects children most severely and its effects continue all their lives because they have smaller lungs, breathe twice as fast as adults and lack immunities.
Story first published: Saturday, November 9, 2019, 15:57 [IST]
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Boldsky sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Boldsky website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more