For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

संक्रमण के बाद क्या बढ़ जाता है टाइफाइड का खतरा, जानिए

|

कोरोनावायरस अपने चरम पर है और रोजाना हजारों ताजा मामले सामने आ रहे हैं। देश के कई राज्यों में लॉकडाउन लागू है और जहां पर लॉकडाउन नहीं है, वहां पर भी सख्त नियम बनाए गए हैं। हालांकि, जटिलताएं कम होती नजर नहीं आ रहीं, क्योंकि हमें हर दिन कोविड-19 के कुछ नए लक्षणों के बारे में पता चलता है जो स्थिति को अधिक जटिल बना रहे ते हैं। इसी संदर्भ में, बहुत से लोगों को कोविड होने पर या कोविड से उबरने के के साथ टाइफाइड हो रहा है। इसके अलावा, एक ही लक्षण होने के कारण, लोग अक्सर टाइफाइड बुखार और कोरोनावायरस के बीच भ्रमित हो रहे हैं। तो चलिए आज हम इस लेख में वह सब महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं, जो आपको पता होनी चाहिए।

टाइफाइड और कोविड-19

टाइफाइड और कोविड-19

यदि आपको बुखार, कमजोरी, सूखी खांसी, मांसपेशियों में दर्द, कब्ज या दस्त है, तो आपको क्या लगता है कि आप पीड़ित हो सकते हैं? वर्तमान परिदृश्य में, ये कोरोनोवायरस के प्रमुख लक्षण हैं और हर किसी को लगता है कि वह इस घातक वायरल संक्रमण से ग्रस्त हो गया है। हम में से कोई भी अन्य स्वास्थ्य मुद्दों के बारे में नहीं सोचेगा जैसे कि टाइफाइड जो समान संकेत और लक्षण भी प्रदर्शित करता है। दोनों के बीच अंतर करना मुश्किल हो जाता है। इसके अलावा, यह देखा गया है कि कोरोनावायरस वाले लोगों को टाइफाइड हो जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि संक्रमण विभिन्न कारणों से बढ़ता है और टाइफाइड के खतरे को बढ़ाता है। यह व्यक्ति की प्रतिरक्षा को कमजोर कर सकता है और आगे परेशानी पैदा कर सकता है। इस प्रकार, कोरोनावायरस और टाइफाइड के बीच लिंक के बारे में सीखना आवश्यक है। इसके अलावा, कोरोनावायरस संक्रमण के साथ टाइफाइड को कैसे रोका जाए, यह भी जानना चाहिए।

टाइफाइड कैसे होता है?

टाइफाइड कैसे होता है?

हम सभी जानते हैं कि जब शरीर में वायरस प्रवेश करता है तो कोरोनावायरस होता है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली पर हमला करता है और व्यक्ति बुखार, सर्दी, खांसी, फ्लू, गंध और स्वाद का बिगड़ना जैसे लक्षण नजर आते हैं। दूसरी ओर टाइफाइड, तब होता है जब साल्मोनेला टाइफी बैक्टीरिया शरीर में प्रवेश करता है। जैसे ही बैक्टीरिया शरीर में प्रवेश करता है, लक्षणों को दिखाने में लगभग एक से दो सप्ताह लगते हैं, लक्षण जल्द ही प्रमुख नहीं हो जाते हैं। टाइफाइड रक्तप्रवाह में प्रवेश करता है और आंतों के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। अस्वास्थ्यकर भोजन, दूषित पानी पीने और बैड हाइजीन हैबिट्स के कारण टाइफाइड हो सकता है। आपके गंदे हाथ कीटाणुओं को आपके शरीर में प्रवेश करने का माध्यम बनते हैं जब आप अपने हाथों को धोए बिना कुछ भी खाते या पीते हैं। इससे टाइफाइड, फूड पॉइजनिंग और पेट के अन्य संक्रमण हो जाते हैं।

कोरोनावायरस के साथ टाइफाइड

कोरोनावायरस के साथ टाइफाइड

यह संभव है कि जिस व्यक्ति को कोरोनावायरस है, उसे टाइफाइड भी हो सकता है। बहुत सारे मामलों की पहचान की गई है जहां एक व्यक्ति को कोविड-19 और टाइफाइड दोनों हैं। चूंकि ये दोनों संक्रमण वायरस और बैक्टीरिया से जुड़े हैं जो रक्तप्रवाह में प्रवेश करते हैं और सिस्टम को ख़राब करते हैं। कोरोनावायरस प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करता है और इस प्रकार, शरीर टाइफाइड सहित अन्य संक्रमणों के लिए अतिसंवेदनशील हो जाता है। हालांकि, यह भी सच है कि टाइफाइड और कोरोनावायरस के बीच कोई सीधा संबंध नहीं है। कोरोनावायरस अन्य स्वास्थ्य स्थितियों को भी ट्रिगर कर सकता है क्योंकि यह रक्त वाहिकाओं और श्वसन अंगों को प्रभावित करता है।

रोकथाम के उपाय

रोकथाम के उपाय

अब सवाल यह उठता है कि आप स्वयं को सुरक्षित कैसे रख सकते हैं। यदि आप इन बीमारियों से पीड़ित नहीं होना चाहते हैं, तो आपको सुरक्षित रहने के लिए निवारक उपाय करने चाहिए। उनमें से कुछ हैं-

• अपने हाथों को बार-बार साबुन और पानी से धोएं। वैकल्पिक रूप से, यदि आप हैंडवाश नहीं कर सकते, तो नियमित अंतराल पर अपने हाथों को साफ करें। आप इसके लिए हैंड सैनिटाइजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

• बाहर के खाद्य और पेय पदार्थों से बचें जो खुले में बेचे जाते हैं। वे रोगाणु, बैक्टीरिया और वायरस के संभावित वाहक हैं। इससे विभिन्न तरह के संक्रमण होने की संभावना कहीं अधिक होती है।

• अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

• व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखें और अपने आस-पास को साफ रखें।

English summary

Can Get Typhoid When Infected With Covid-19

Here we are talking about that can anyone get typhoid when infected with coronavirus. Read on.
Story first published: Sunday, May 2, 2021, 10:00 [IST]