For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

इन तरीको से करेंगे तुलसी का सेवन तो दूर रहेंगे मौसमी फ्लू और वायरस से, इम्‍यूनिटी भी होगी बूस्‍ट

|

तुलसी की पत्तियां प्राकृतिक तौर पर सबसे बढ़िया एंटीबॉयोटिक होती हैं। ये हर तरह के वायरस और फ्लू के ल‍िए घरेलू इलाज है। तकरीबन हर भारतीयों के घर में इसका इस्‍तेमाल सर्दी-जुकाम और बुखार आने पर काढ़ा बनाकर क‍िया जाता है। आयुर्वेद में रोजाना इसके सेवन के बारे में कई फायदों के बारे में बताया गया है।

तुलसी को खाली पेट खाना भी कई मायने में लाभदायक माना गया है। इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे 7 तरीके बता रहे हैं जिसे तुलसी की पत्तियों का सेवन कर आप सीजनल फ्लू और वायरस से बचने के साथ अपनी इम्‍यून‍िटी बूस्‍ट कर सकते हैं।

1. तुलसी चबाकर खाएं

1. तुलसी चबाकर खाएं

ताजा तुलसी के पत्तों में 'एडाप्टोजेन' या एंटी-स्ट्रेस एजेंट होता है। जिससे साबित होता है कि रोजाना 10-12 तुलसी के पत्तों को चबाने से रक्तचाप नियंत्रण में रहता है और तनाव को रोकता है। यह रक्त को शुद्ध करता है और कई सामान्य तत्वों को रोकने में मदद करता है।

2. तुलसी और अजवाइन

2. तुलसी और अजवाइन

इस हर्बल रस में तुलसी के ताजे पत्तों, अजवाइन, जीरा, आम पाउडर, नमक और पुदीने की पत्तियों का मिश्रण मिलाया जाता है, जिन्हें 10-15 मिनट के लिए पानी में एक साथ उबाला जाता है। यह गर्म या कमरे के तापमान पर सेवन किया जा सकता है और निर्जलीकरण को ठीक करने में मददगार है।

 3. तुलसी का पानी

3. तुलसी का पानी

तुलसी के पत्तों, अदरक, काली मिर्च, दालचीनी और इलायची के मिश्रण को उबाल लें। विशेषज्ञों के अनुसार, इस पानी को प्रतिद‍िन एक कप पीने से डेंगू और मलेरिया जैसे बुखार से ठीक होने में मदद मिलती हैं।

4. तुलसी, शहद और हल्‍दी

4. तुलसी, शहद और हल्‍दी

ये काम्बिनेशन ब्‍लड फ्लो को उतेजित करके पाचन को मजबूत करता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-फंगल गुण भी होते हैं जो आपको खांसी और सर्दी से बचाने में मदद करता हैं।

5. तुलसी की चाय

5. तुलसी की चाय

तुलसी की पत्तियों, गुड़, नींबू और पानी से मिलकर बनी तुलसी की चाय सेहत के ल‍िए काफी फायदेमंद होती है। इस कैफीन रहित चाय का स्‍वाद मीठा होता है और यह पाचन के लिए अच्छा होता है और इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो आपको मौसमी बुखार और फ्लू से सुरक्षित रखते हैं।

तुलसी और चंदन

तुलसी और चंदन

चंदन पाउडर के साथ मिश्रित तुलसी के पत्तों का ताजा पेस्ट बनाकर माथे पर लगाएं। ये पेस्‍ट गर्मी, सिरदर्द से तुरंत राहत देता है और इससे ठंडक मिलती है।

तुलसी का फ्रेश जूस

तुलसी का फ्रेश जूस

ताजा तुलसी का रस आंखों की बीमारियों के लिए एक जादुई उपाय है, खासकर जिन लोगों को आंखों में जलन और नाइट ब्‍लाइंडनेस की समस्‍या हैं, जो आमतौर पर विटामिन ए की कमी से होता है। इन समस्‍याओं के निजात के लिए रोजाना रात को सोते समय एक तुलसी का रस आंखों में डालने का सुझाव दिया गया है। ।

English summary

Immunity boosting ways to use Tulsi to stay safe from viruses and flu

talks about the 7 easy ways in which you can use Tulsi leaves to stay safe from seasonal flu and viruses and boost immunity.
Story first published: Thursday, March 12, 2020, 13:30 [IST]