For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

पुरूषों में भी बढ़ा ब्रेस्ट कैंसर का खतरा,ये लक्षण नजर तो हो जाएं सतर्क

|

भारत में मेल ब्रेस्ट कैंसर के मामले तेजी से बढ़े हैं, इसलिए इसके बारे में जागरूकता पैदा करना जरूरी हो गया है। ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं में देखे जाने वाले कैंसर के सबसे आक्रामक रूपों में से एक है। ब्रेस्ट कैंसर के सभी मामलों में मेल ब्रेस्ट कैंसर की घटनाओं का अनुमान लगभग 0.5 से 1 फीसदी है। हाल की कई रिसर्च के अनुसार, रेयर केंसर मिलिगेंसी की घटनाएं बढ़ रही हैं, इसलिए मेल ब्रेस्ट कैंसर के बारे में जागरूकता फैलाने की जरूरत है।

चूंकि पुरूष अपने ब्रेस्ट में किसी भी गांठ या सूजन की घटना को नजरअंदाज कर देते हैं। स्तन कैंसर का आमतौर पर बाद के स्टेज में निदान किया जाता है और ये फेटाल हो सकता है। स्तन कैंसर का निदान मैमोग्राम, अल्ट्रासाउंड और बायोप्सी के माध्यम से किया जा सकता है।

मेल ब्रेस्ट कैंसर

मेल ब्रेस्ट कैंसर

गोयल एट अल द्वारा किए गए 2020 के एक सर्वेक्षण के अनुसार, सर्वे में शामिल लगभग 81 फीसदी मेल ब्रेस्ट कैंसर के संकेतों से अनजान थे और समय पर पता लगाने के लिए क्या उपाय किए जा सकते थे। अगर ब्रेस्ट कैंसर का पता शुरूआती स्टेज में चल जाए तो इसका इलाज तुरंत संभव है।

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफॉर्मेशन के अनुसरा, मेल ब्रेस्ट को बुजुर्ग पुरुषों की बीमारी माना जाता है क्योंकि ये आमतौर पर जोखिम 60 साल की उम्र से शुरू होता है और उम्र बढ़ने के साथ बढ़ता जाता है।

पॉजिटिव फैमिली हिस्ट्री

पॉजिटिव फैमिली हिस्ट्री

शुरुआती इनटफेयरेंस और सही दवा के वक्त में रह रहे हैं तो ब्रेस्ट कैंसर के रिस्क फैक्टर इनिशियल मेनेजमेंट को समझना बहुत जरूरी है।

उन्होंने ये भी उल्लेख किया कि ज्यादातर मामलों में, पुरुष स्तन कैंसर को कैंसर, ज्यादा उम्र, एस्ट्रोजन के हाई लेवल और कुछ क्रोमोसोमल असामान्यताओं के पॉजिटिव फैमिली हिस्ट्री के साथ देखा जाता है।

ब्रेस्ट कैंसर की जांच

ब्रेस्ट कैंसर की जांच

नेमचेक एल मेल ब्रेस्ट कैंसर सेंटर, कैंसर की जांच कराने की सलाह दी और इस बात पर जोर दिया कि पॉजिटिव फैमिली हिस्ट्री वाले लोगों को ब्रेस्ट कैंसर की जांच करानी चाहिए। उन्होंने कहा कि ब्रेस्ट कैंसर की जांच से बीमारी विकसित होने से पहले ही निदान के लिए जरूरी है,जिससे मदद मिल सके। जो बदले में कैंसर की प्रगति को कम करने और उचित उपचार प्राप्त करने में मदद कर सकता है।

लक्षण

लक्षण

पुरुष स्तन कैंसर के लक्षण और लक्षण शामिल हो सकते हैं:

  • आपके ब्रेस्ट टिश्यू में दर्द रहित गांठ या मोटा होना
  • आपके ब्रेस्ट को ढकने वाली त्वचा में बदलाव, जैसे कि डिंपल, सिकुड़न, लालिमा या पपड़ी बनना
  • निप्पल में परिवर्तन, जैसे लाली या स्केलिंग, या एक निप्पल जो अंदर की ओर मुड़ने लगता है
  • आपके निप्पल से डिस्चार्ज होना
  • डॉक्टर को कब दिखाना है
  • यदि आपके पास लगातार कोई संकेत या लक्षण हैं जो आपको चिंतित करते हैं तो अपने डॉक्टर के साथ अपॉइंटमेंट लें।
  • https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK526036/

English summary

Increased risk of breast cancer in men, cases increase in India

Male breast cancer cases have increased rapidly in India, so it has become necessary to create awareness about it. The incidence of male breast cancer is estimated to be approximately 0.5 to 1 percent of all cases of breast cancer.
Desktop Bottom Promotion