For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

क्‍या ज्‍यादा आम खाने से मुंहासे न‍िकल आते हैं, न्‍यूट्रिशियन ने ऐसे ही मिथक का बताया सच

|

गर्मियां आ गई हैं, और ये सीजन होता है कुछ रसीले आमों का आनंद लेने का। आम अपने स्वाद के अलावा एक बेहद सेहतमंद फल है। यह विटामिन ए और सी में उच्च है, साथ ही साथ एंटीऑक्सिडेंट जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं। हालांकि, इस फल के बारे में कुछ मिथक भी जुड़े हैं, इसके बावजूद उनमें से कई लोकप्रिय भ्रांतियों के कारण लोग इसे ज्‍यादा खाने से कतराते हैं। पोषण विशेषज्ञ नमामी अग्रवाल ने एक इंस्टाग्राम वीडियो में आम से जुड़े मिथकों का खंडन क‍िया है। आइए जानते हैं-

मिथक नंबर 1: आम आपका वजन बढ़ाता है

कई लोगों का मानना है कि आम खाने से उनका वजन बढ़ जाता है। इसलिए, यदि आप भी इस बारे में सोच रहे हैं कि इस ग्रीष्मकालीन उपचार को आजमाएं या नहीं, तो नमामी का कहना है कि यह स्वस्थ है और आप इसका पूरा आनंद ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि आम में कोलेस्ट्रॉल कम और वसा कम होती है। इसलिए इसे खाना सुरक्षित है। आम से आपका वजन नहीं बढ़ता है।

मिथक नंबर 2: आम से मुंहासे होते हैं

नमामी के अनुसार आम में फाइटिक एसिड होता है, जिससे शरीर में गर्मी पैदा होती है। तो, इससे निपटने के लिए आपके पास क्या विकल्प हैं? उन्होंने सुझाव दिया कि आमों को खाने से पहले दो से तीन घंटे के लिए पानी में भिगो दें।

मिथक 3: मधुमेह रोगियों के लिए आम खाना सही नहीं है।

मधुमेह वाले लोग अक्सर मानते हैं कि वे आम का आनंद नहीं ले पाते हैं। हालांकि, ऐसा नहीं है। सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, पोषण विशेषज्ञ ने कहा कि आम का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है। हालांकि, ध्‍यान दें कि आपको मिठाई के विकल्‍प में इसका सेवन करने से बचना चाह‍िए। और बल्कि इसे स्‍नैक्‍स के तौर पर ही सेवन करें। इससे आपका ब्लड शुगर नहीं बढ़ेगा।

नमामी अग्रवाल ने अपने प्रशंसकों को ऑर्गेनिक और ग्लूटेन-मुक्त उत्पादों के बारे में कई बार उचित जानकारी शेयर करती रहती है जो हमारे खान-पान की आदतों से जुड़े होतेहैं।

Read more about: mango
English summary

Most common Mango myths and facts in Hindi

Most Common myths about eating mangoes that you need to stop believing in Hindi. Read on.
Story first published: Thursday, May 12, 2022, 18:10 [IST]