For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

हाई प्रोटीन डाइट पर थे सिद्धार्थ शुक्ला, जानें ज्यादा प्रोटीन का सेवन करने से नुकसान

|

टीवी एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला का 40 साल की उम्र में निधन हो गया। उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई है। सिद्धार्थ शुक्ला की लाइफस्टाइल एकदम फिट है ऐसे में अचानक उनकी मौत से फिल्म और टीवी इंडस्ट्री हैरान है। सिद्धार्थ के फैंस काफी सदमे में है। वहीं अब उनके हेल्थ और लाइफस्टाइल को लेकर कई बाते सामने आई है।

सिद्धार्थ के एक दोस्त ने खुलासा किया है सिद्धार्थ की आदतें हेल्दी लाइफस्टाइल के अनुसार एकदम गलत थी। वह अक्सर हाई प्रोटीन डाइट पर रहते थे। हाई प्रोटीन का सेवन करने से शरीर पर कई साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं। चलिए जानते हैं हाई प्रोटीन डाइट के नुकसान।

 दिल की बीमारी और हार्ट अटैक

दिल की बीमारी और हार्ट अटैक

प्रोटीन सेहत के लिए काफी अच्छा माना जाता है, लेकिन प्रोटीन का अधिक सेवन करना सेहत के लिए बहुत ही खतरनाक है। जानवरों से मिलने वाले प्रोटीन से हार्ट डिसीज का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन फिश, लो फैट डायट्री प्रोडक्ट का सेवन करने से हार्ट डिसीज की संभावना कम रहती है। हाई प्रोटीन का सेवन करने से मांसपेशियों में ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित होता है जिसकी वजह से हार्ट अटैक का खतरा काफी बढ़ जाता है।

बिग बॉस 13 विनर सिद्धार्थ शुक्ला का हार्ट अटैक से निधन, इन लक्षणों को भूलकर भी ना करें नजरअंदाजबिग बॉस 13 विनर सिद्धार्थ शुक्ला का हार्ट अटैक से निधन, इन लक्षणों को भूलकर भी ना करें नजरअंदाज

बोन डिसॉर्डर

बोन डिसॉर्डर

हाई प्रोटीन का सेवन करना हड्डियों के लिए बहुत ही खतरनाक साबित हो सकता है। खासकर जो लोग अपनी डाइट में मांस और न्यूट्रिशनल सप्लीमेंट प्रोटीन का सेवन करते है। ज्यादा प्रोटीन लेने से शरीर में लॉस ऑफ कैल्शियम की परेशानी हो जाती है जो कि हड्डियों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। प्रोटीन में रेड मीट के बदले हरी सब्जियों का इस्तेमाल करें। सब्जियों से मिलने वाले प्रोटीन से हड्डियों के कमजोर होने की समस्या कम रहती है।

इन कारणों को जानने के बाद आप भी करेंगे ब्लैक बीन्स को डाइट में शामिलइन कारणों को जानने के बाद आप भी करेंगे ब्लैक बीन्स को डाइट में शामिल

सांसों से बदबू

सांसों से बदबू

ज्यादा प्रोटीन का सेवन करने से सांसों से बदबू आने लगती है। ज्यादा प्रोटीन खाने से कार्ब्स की कमी हो जाती है जिससे शरीर का मेटाबॉलिक स्टेट केटोसिस में चला जाता है। जिसकी वजह से रसायन अधिक बनने लग जाते है, इसी वजह से सांसों से बदबू आती है।

क‍िडनी स्‍टोन, क‍िडनी स्‍टोन के वजह, क‍िडनी स्‍टोन के लक्षण, क‍िडनी स्‍टोन का बचाव, क‍िडनी स्‍टोन का कारणक‍िडनी स्‍टोन, क‍िडनी स्‍टोन के वजह, क‍िडनी स्‍टोन के लक्षण, क‍िडनी स्‍टोन का बचाव, क‍िडनी स्‍टोन का कारण

कैंसर

कैंसर

रेड मीट में हाई प्रोटीन पाया जाता है। रेड मीट खाने से कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा काफी बढ़ जाता है। पुरुषों में कोलोरेक्टल कैंसर की समस्या ज्यादा देखी जाती है। हाई प्रोटीन डाइट केवल कम समय के लिए मांसपेशियों फायदा देती है, लेकिन लंबे समय के लिए यह काफी नुकसान दायक है। हाई प्रोटीन डाइट में रेड मीट का कम से कम सेवन करें।

क‍िडनी स्‍टोन, क‍िडनी स्‍टोन के वजह, क‍िडनी स्‍टोन के लक्षण, क‍िडनी स्‍टोन का बचाव, क‍िडनी स्‍टोन का कारणक‍िडनी स्‍टोन, क‍िडनी स्‍टोन के वजह, क‍िडनी स्‍टोन के लक्षण, क‍िडनी स्‍टोन का बचाव, क‍िडनी स्‍टोन का कारण

English summary

Sidharth Shukla Was on a High Protein Diet; Know Disadvantages of High Protein Diet In Hindi

Bigg Boss Fame Sidharth Shukla Was on a High Protein Diet Know Disadvantages High Protein In Hindi. Read On.